होम हिंदू धर्म के लोगों ने नदी में बहाई भगवान की मूर्तियां, जाने क्यों?

उत्तर प्रदेश

हिंदू धर्म के लोगों ने नदी में बहाई भगवान की मूर्तियां, जाने क्यों?

हिंदू धर्म के लोगों ने नदी में बहाई भगवान की मूर्तियां, जाने क्यों?

 हिंदू धर्म के लोगों ने नदी में बहाई भगवान की मूर्तियां, जाने क्यों?

मुरादाबाद : मुरादाबाद जनपद में आज भारतीय बाल्मीकि धर्म समाज के लोगों ने भाजपा सरकार पर दलित विरोधी होने का आरोप लगाते हुए हिन्दू धर्म त्याग दिया और घरों में रखी भगवान की मूर्तियों को रामगंगा नदी में प्रवाहित किया। सहारनपुर से लेकर सम्भल तक दलितों पर हुए हमले के लिए भाजपा नेताओ को जिम्मेदार ठहराते हुए बाल्मीकि समाज के लोगों ने वर्तमान योगी सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया। उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद कानून व्यवस्था सही होने का दावा कर रही सरकार को लगातार मुश्किलों का सामना करना पड़ रहां है।

आपको बता दे कि बाल्मीकि धर्म समाज के पचास से ज्यादा लोगो ने आज हिन्दू धर्म को त्यागने का फैसला किया और मूर्तियो को नदी में प्रवाहित किया। साथ ही लोगो ने भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। बाल्मीकि समाज के लोगो को हिन्दू धर्म छोड़ने से रोकने के किये बजरंग दल के कार्यकर्ता भी पहुंचे थे लेकिन बाल्मीकि समाज के लोग लगातार सरकार पर उपेक्षा और उत्पीड़न का आरोप लगाते रहे। इस दौरान भारतीय बाल्मीकि धर्म समाज के राष्ट्रिय मुख्य संचालक लल्ला बाबू द्रविड़ ने सरकार की नीतियों पर जमकर निशाना साधा और वर्तमान सरकार को बाल्मीकि समाज के लोगो पर फायरिंग और हमला करने का आरोप भी लगाया। लल्ला बाबू ने अभी कोई धर्म अपनाने का फैसला तो नही लिया लेकिन उन्होंने जल्द ही नमाज पढ़ने की बात कहकर सरकार को अपना इशारा दे दिया है। इस मामले में बाल्मीकि धर्म समाज के नेता लल्ला बाबु दरविद ने मीडिया को बताया कि, भाजपा सरकार से हमने जो सपने देखे थे वो बिल्कुल विपरीत है। आज की भाजपा सरकार एक बाल्मिक समाज के भाई के कंधे पर बैठकर दूसरे बाल्मिकि भाई को निशाना बना रही है। सहारनपुर से लाए पूरे प्रदेश में दलितों पर हुए घटनाओं में भाजपा का अप्रत्यक्ष रुप से हाथ है, इसलिए आज हम भाजपा और हिंदू धर्म दोनों का त्याग कर रहे हैं |


नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top