होम 75 साल के प्रोफेसर ने 12 लड़कियों का किया यौन शोषण

अपराध

75 साल के प्रोफेसर ने 12 लड़कियों का किया यौन शोषण

ग्वालियर के शिवपुरी इलाके में एक 75 साल के रिटायर्ड प्रोफेसर पर गर्ल्स हॉस्टल की 12 लड़कियों से रेप और उनका यौन शोषण का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने प्रोफेसर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। और फिलहाल प्रोफेसर साहब फरार है उनकी बेटी को गिरफ्तार किया गया है।

75 साल के प्रोफेसर ने 12 लड़कियों का किया यौन शोषण

शिवपुरी. ग्वालियर के शिवपुरी इलाके में एक 75 साल के रिटायर्ड प्रोफेसर पर गर्ल्स हॉस्टल की 12 लड़कियों से रेप और उनका यौन शोषण का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने प्रोफेसर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। और फिलहाल प्रोफेसर साहब फरार है उनकी बेटी को गिरफ्तार किया गया है।

ग्वालियर से 100 किलोमीटर दूर शिवपुरी में रिटायर्ड प्रोफेसर के.एन. अग्रवाल की बेटी शैला अग्रवाल पुश्तैनी दोमंजिला मकान में गर्ल्स हॉस्टल चलाती थी। यहां रह रही लड़कियों को बुजुर्ग प्रोफेसर ने अपनी हवस का शिकार बनाया। राज्य महिला और बाल विकास विभाग के अधिकारियों ने शिकायत मिलने पर इस केस की जांच की तो मामले का खुलासा हुआ। अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि पिछले कुछ महीनों के दौरान के. एन. अग्रवाल ने 4 लड़कियों के साथ बलात्कार किया और 8 लड़कियों का किसी न किसी तरीके से यौन शोषण किया।

अधिकारियों ने केस की जांच के दौरान हॉस्टल में पीड़ित लड़कियों के बयान भी दर्ज कर लिए है। जांच रिपोर्ट के आधार पर अधिकारियों ने इस केस में तुरंत एक्शन लेने की सिफारिश की है। बाल कल्याण अधिकारी सरिता शुक्ला ने इस मामले में FIR दर्ज कराई और हॉस्टल को सील करवा दिया है। डीएम और महिला एवं बाल विकास विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को जांच रिपोर्ट सौंप दी गई है।

12-18 साल की हैं लड़कियां
रेप और यौन शोषण की शिकार लड़कियां 12 से 18 साल तक की हैं। जिन लड़कियों ने अपने साथ रेप होने की बात बताई है उनको मेडिकल जांच के लिए सरकारी अस्पताल में भेजा जा चुका है। हॉस्टल को सील कर सभी लड़कियों को फिलहाल ट्राइबल गर्ल्स हॉस्टल में शिफ्ट करा दिया गया है।

मामले के खुलासे के बाद प्रोफेसर के. एन. अग्रवाल फरार हो चुके है। गर्ल्स हॉस्टल चला रही उनकी बेटी शैला अग्रवाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। प्रोफेसर की तलाश में पुलिस जुटी हुई है। कोतवाली थाने में प्रोफेसर और उनकी बेटी के खिलाफ इंडियन पीनल कोड और बच्चों को यौन शोषण से बचाने के लिए बने कानूनों के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Facebook, Twitter, व Google News पर हमें फॉलो करें और लेटेस्ट वीडियोज के लिए हमारे YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

Most Popular

(Last 14 days)

Facebook

To Top