होम वाटर मिनिस्टर कपिल मिश्रा ने कहा, ‘श्री श्री रविशंकर का प्रोग्राम यमुना किनारे होना चाहिए’

दिल्ली

वाटर मिनिस्टर कपिल मिश्रा ने कहा, ‘श्री श्री रविशंकर का प्रोग्राम यमुना किनारे होना चाहिए’

नई दिल्ली : दिल्ली के वाटर मिनिस्टर कपिल मिश्रा ने एक्सपर्ट पैनल के उन फाइंडिंग्स का मजाक उड़ाया है जिसमें कहा गया है कि यमुना किनारे आयोजित वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवल ने यमुना के फ्लडप्लेन्स(floodplains) इलाके में तबाही मचाई है।

वाटर मिनिस्टर कपिल मिश्रा ने कहा, ‘श्री श्री रविशंकर का प्रोग्राम  यमुना किनारे होना चाहिए’

वाटर मिनिस्टर ने आर्ट ऑफ लिविंग के फाउंडर श्री श्री रविशंकर को इस प्रोग्राम को दोबारा आयोजित करने के लिए इनविटेशन दिया। आपको बता दें पिछले साल भी रविशंकर ने ही यह प्रोग्राम किया था।
मिश्रा ने कहा कि प्रोग्राम को यमुना के किनारे पर बार-बार आयोजित किया जाना चाहिए। यह बिल्कुल वैसा ही है जैसा वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवल के पहले यमुना में डॉल्फिन तैरती थीं। दुनिया भर से टूरिस्ट यहां हैरानी के तौर पर आते थे।उन्होंने कहा ‘इतिहास गवाह है कि जब कभी भी लोग और समाज नदियों से जुडे हैं त्योहार आयोजित किए हैं तब नदियां साफ और मौलिक रही हैं।‘मिनिस्टर ने कहामेरा मानना है कि वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवल का आयोजन यमुना के किनारे ही किया जाना चाहिए। मैं श्री श्री को प्रोग्राम दोबारा आयोजित करने के लिए इनवाइट करता हूं।


एक्सपर्ट पैनल ने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल को बताया है कि यमुना के फ्लडप्लेन्स (floodplains) को बहाल करने के लिए 42.02 करोड़ रुपए का खर्च आएगा।रिपोर्ट में कहा गया है कि फ्लडप्लेन को दोबारा डेवलप करने में 10 साल का समय लग सकता है।दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी ने पिछले साल की एक स्टडी में पाया था कि जलीय जीवन को मदद देने वाला यमुना का डिजोल्वड ऑक्सीजन (डीओ) लेवल दिल्ली में नदी की यात्राकाल के दौरान अनेक प्वाइंट्स पर जीरो पर पहुंच चुका है।



दिल्ली में आर्ट ऑफ लिविंग ने यमुना नदी के किनारे 11 से 13 मार्च तक ‘वर्ल्ड कल्चरल फ़ेस्टिवल’ कराया था। इसमें कई देशों से हज़ारों लोगों शामिल हुए थे। इस फेस्टिवल में पीएम नरेंद्र मोदी सहित सभी केंद्रीय मंत्री और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सहित कई राज्यों के सीएम भी शामिल हुए थे।इस फेस्टिवल का विरोध कई संगठनों और पर्यावरण एक्टविस्ट्स ने किया था।
विरोध करने वालों का कहना था कि इस आयोजन से यमुना और पर्यावरण को नुकसान पहुंचेगा। श्रीश्री ने फेस्टिवल का बचाव करते हुए कहा था कि जितने भी प्रोटेस्ट हो रहे हैं उनके खिलाफ वे राजनीति से प्रेरित हैं और गढ़े गए हैं।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top