शिक्षा

अन्तर्राष्ट्रीय युवा गणितज्ञ सम्मेलन सी.एम.एस. में 2 दिसम्बर से

अन्तर्राष्ट्रीय युवा गणितज्ञ सम्मेलन सी.एम.एस. में 2 दिसम्बर से

अन्तर्राष्ट्रीय युवा गणितज्ञ सम्मेलन सी.एम.एस. में 2 दिसम्बर से

Photo

लखनऊ, 22 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के तत्वावधान में चार दिवसीय इण्टरनेशनल यंग मैथमेटिशियन कन्वेन्शन (आई.वाई.एम.सी.-2018) का आयोजन 2 से 5 दिसम्बर तक सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में किया जा रहा है, जिसमें विश्व के 16 देशों बांग्लादेश, ब्राजील, इण्डोनेशिया, ईरान, नेपाल, अमेरिका, 
यू.ए.ई., फिलीपीन्स, भूटान, रूस, दक्षिण अफ्रीका, ताइवान, थाईलैण्ड, श्रीलंका, वियतनाम एवं भारत के विभिन्न प्रान्तों के लगभग 700 बाल गणितज्ञ गणित की विभिन्न विधाओं के रहस्य उजागर करने लखनऊ  पधार रहे हैं। उक्त जानकारी आज यहाँ आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में आई.वाई.एम.सी.-2018 की संयोजिका व सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती आभा अनन्त ने पत्रकारों को दी। पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्रीमती अनन्त ने बताया कि इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन में देश-विदेश के प्रख्यात गणितज्ञ भी पधार रहे हैं जो गणित प्रतियोगिताओं में निर्णायक की भूमिका निभाने के अलावा देश-विदेश के बाल गणितज्ञों का मार्गदर्शन भी करेंगे। इन प्रख्यात गणितज्ञों में डा. सिमोन एल चुआ, लेखक एवं शिक्षाविद्, फिलीपीन्स, प्रो. वेन सीन सन, प्रेसीडेन्ट, चिव चैंग मैथमेटिक्स एजूकेशन फाउण्डेशन, ताईवान एवं श्री मार्क सॉल, एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर, जूलिया रॉबिन्सन मैथमेटिक्स फेस्टिवल प्रमुख हैं।
    प्रेस कान्फ्रेन्स में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए श्रीमती अनन्त ने कहा कि इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन के माध्यम से हमारा प्रयास है कि सबसे कठिन समझे जाने वाले गणित विषय के प्रति प्रारम्भ से ही छात्रों के मन-मस्तिष्क में रुझान उत्पन्न किया जाए जिससे वे आगे चलकर एक कुशल गणितज्ञ ही नहीं अपितु अच्छे बुरे की पहचान करने वाले एक संवेदनशील इंसान बन सके। 
    आई.वाई.एम.सी.-2018 की प्रतियोगिताओं की जानकारी देते हुए श्री अनन्त ने बताया कि देश-विदेश से पधारने वाले बाल गणितज्ञों की जूनियर तथा सीनियर टीमें गणित की विभिन्न रोचक प्रतिस्पर्धाओं जैसे साल्व-ए-थॉन (रिले राउण्ड), बिंगो (मैथमेटिकल क्विज), मैथ विज (इण्डिविजुअल कान्टेस्ट), मैथमॉनिया (टीम एक्टिविटी कान्टेस्ट), मॉडस ओपेरा (मैथमेटिकल ड्रामा) आदि में अपनी योग्यता का प्रदर्शन करेंगी। इसके अलावा देश-विदेश के बाल गणितज्ञ गणित मेले में देश-विदेश के प्रख्यात गणितज्ञों से छात्र गणित के गुर सीखेंगे व मार्गदर्शन प्राप्त करेंगे। 
    प्रेस कान्फ्रेन्स में उपस्थित प्रख्यात शिक्षाविद् व सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि मानव समाज ने आज जितनी भी प्रगति की है उसमें गणित का अत्यन्त महत्वपूर्ण योगदान रहा है। देश-विदेश के इन बाल गणितज्ञों एक स्थान पर एकत्रित होने से गणित के ज्ञान का अभूतपूर्व आदान-प्रदान होगा, साथ ही उनमें एकता, शान्ति, सौहार्द, सद्भावना आदि जीवन मूल्यों का विकास भी होगा। यही भावना आगे चलकर विश्व एकता एवं विश्व शान्ति की नींव बनेगी। 
डा. गाँधी ने जोर देते हुए कहा कि आज जरूरत इस बात की है कि गणित की पढ़ाई को किताबों से निकालकर खेल और जीवन की अन्य गतिविधियों से जोड़ा जाए जिससे यह विद्यार्थियों को और दिलचस्प लगे।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top