शिक्षा

सी.आई.एस.वी. यूथ मीटिंग में प्रतिभाग कर नार्वे से लौटे सी.एम.एस. छात्र दल का भव्य स्वागत

सी.आई.एस.वी. यूथ मीटिंग में प्रतिभाग कर नार्वे से लौटे सी.एम.एस. छात्र दल का भव्य स्वागत

सी.आई.एस.वी. यूथ मीटिंग में प्रतिभाग कर नार्वे से लौटे सी.एम.एस. छात्र दल का भव्य स्वागत

Photo

लखनऊ, 26 अप्रैल। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, महानगर कैम्पस का सात सदस्यीय छात्र दल नार्वे में आयोजित सी.आई.एस.वी. यूथ मीटिंग में प्रतिभाग कर स्वदेश लौट आया। स्वदेश वापसी पर विद्यालय के शिक्षकों एवं अभिभावकों ने चारबाग रेलवे स्टेशन पर इस छात्र दल का भव्य स्वागत किया। इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने भी नार्वे से लौटे छात्र दल को अपना आशीर्वाद दिया। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि सी.आई.एस.वी. यूथ मीटिंग में प्रतिभाग कर स्वदेश लौटे छात्रों में शुभांगी सिन्हा, समृद्धि शर्मा, भाविनी श्रीवास्तव, संदेश यादव, ईशांत पॉल एवं अर्णव सिंह शामिल हैं जबकि छात्र दल का नेतृत्व विद्यालय की शिक्षिका श्रीमती मोनिका ऐरन ने किया। इंग्लैण्ड की चिल्ड्रेन्स इण्टरनेशनल समर विलेज संस्था (सी.आई.एस.वी.) द्वारा विश्व के अलग-अलग देशों में एक माह का अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर आयोजित किया जाता है, जिसमें विभिन्न देशों के बच्चे एक साथ एक छत के नीचे एक माह तक साथ-साथ रहकर मित्रता, सौहार्द, आपसी भाईचारे का पाठ सीखते हैं। इसी संदर्भ में सी.आई.एस.वी. यूथ मीटिंग का आयोजन नार्वे के स्टावेंगर शहर में किया गया, जिसका उद्देश्य सम-सामयिक विषयों पर विभिन्न देशों के नन्हें-मुन्हें बच्चों के विचारों को प्रमुखता देना एवं शान्ति-शिक्षा की विचारधारा को बढ़ावा देना था।

            श्री शर्मा ने बताया कि इस आठ-दिवसीय मीटिंग को ‘माइन्ड द गैप’ नाम दिया गया था, जिसमें लक्जमबर्ग, स्वीडन, ब्राजील, नार्वे एवं भारत के छात्रों ने प्रतिभाग किया और विभिन्न देशों के बीच सांस्कृतिक विविधता, भाषा की समस्या, राजनीतिक विचारधारा आदि के संदर्भ में समन्वय बनाने के तौर-तरीकों पर विचारों का आदान-प्रदान किया।  नार्वे से लौटे छात्रों ने अपने अनुभवां के बारे में बड़े ही उत्साह से बताते हुए कहा कि हमने ”वसुधैव कुटुम्बकम्“ का संदेश विभिन्न देशों से आये बच्चों के द्वारा विश्व भर में पहुँचाने का प्रयास किया।

            श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. विगत 26 वर्षों से लगातार एक माह लम्बे अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर की मेजबानी करता आ रहा है, जिसके अन्तर्गत विभिन्न देशों के बच्चे एक माह तक साथ-साथ रहकर एकता, शान्ति व सौहार्द का पाठ सीखते हैं, साथ ही व्यक्तित्व विकास एवं ज्ञान का विकास कर सक्रिय विश्व नागरिक के रूप में तैयार होते हैं।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top