युवाशिक्षा

दक्षिण कोरिया की शिक्षा पद्धति का अध्ययन कर स्वदेश लौटे सी.एम.एस. प्रतिनिधियों का भव्य स्वागत

दक्षिण कोरिया की शिक्षा पद्धति का अध्ययन कर स्वदेश लौटे सी.एम.एस. प्रतिनिधियों का भव्य स्वागत

दक्षिण कोरिया की शिक्षा पद्धति का अध्ययन कर स्वदेश लौटे सी.एम.एस. प्रतिनिधियों का भव्य स्वागत

Photo

लखनऊ, 26 अगस्त। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का दक्षिण कोरिया की शैक्षिक यात्रा से स्वदेश लौटने पर अमौसी एअरपोर्ट पर भव्य स्वागत हुआ। इस शैक्षिक यात्रा के दौरान सी.एम.एस. प्रतिनिधियों ने दक्षिण कोरिया की शिक्षा पद्धति की जानकारी प्राप्त की, साथ ही साथ दक्षिण कोरिया के शिक्षाविद्ों को सी.एम.एस. की ‘ब्राडर एण्ड बोल्डर शिक्षा पद्धति’ एवं विश्व एकता व विश्व शान्ति हेतु सी.एम.एस. के प्रयासों से भी अवगत कराया। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि विद्यालय के इस प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस की प्रधानाचार्या श्रीमती रोली त्रिपाठी ने किया, जिसमें सी.एम.एस. के इण्टरनेशनल रिलेशन्स विभाग के हेड श्री शिशिर श्रीवास्तव एवं सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस के शिक्षक मोहम्मद आरिफ शामिल थे।

            श्री शर्मा ने बताया कि दक्षिण कोरिया की विश्व स्तरीय संस्था ‘एच.डब्ल्यू.पी.एल.’ (हीवेनली कल्चर, वर्ल्ड पीस, रेस्टोरेशन ऑफ लाईट) ने सी.एम.एस. प्रतिनिधिमंडल को इस शैक्षिक यात्रा हेतु विशेष रूप से आमन्त्रित किया था। इस शैक्षिक यात्रा के दौरान सी.एम.एस. प्रतिनिधियों ने एच.डब्ल्यू.पी.एल. के शान्ति प्रतिनिधियों के साथ मिलकर विश्व एकता व विश्व शान्ति की प्रार्थना की, साथ ही उत्तर एवं दक्षिण कोरिया की एकता के लिए भी प्रार्थना की।

            श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. की अनूठी शिक्षा पद्धति की गूँज देश में ही नहीं अपितु विदेशों में भी है और इन्हीं कारणों से शिक्षा में गुणात्मकता को बढ़ाने के लिए सी.एम.एस. की प्रधानाचार्याओं को समय-समय पर अनेक देशों के स्कूलों एवं विश्वविद्यालय द्वारा आमंत्रित किया जाता रहा है। इसके अलावा, विभिन्न देशों के विद्यालयों के प्रधानाचार्य, शिक्षक व बच्चे समय-समय पर सिटी मोन्टेसरी स्कूल में पधारकर सी.एम.एस. की शिक्षा पद्धति की जानकारी प्राप्त करते हैं।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

Facebook

To Top