युवाशिक्षा

पर्यावरण संरक्षण हेतु विश्व समुदाय को मिलकर प्रयास करना होगा - डा. (श्रीमती) भारती गाँधी

पर्यावरण संरक्षण हेतु विश्व समुदाय को मिलकर प्रयास करना होगा - डा. (श्रीमती) भारती गाँधी

पर्यावरण संरक्षण हेतु विश्व समुदाय को मिलकर प्रयास करना होगा - डा. (श्रीमती) भारती गाँधी

Photo

लखनऊ, 29 सितम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर आॅडिटोरियम में आयोजित विश्व एकता सत्संग में बोलते हुए बहाई धर्मानुयायी, प्रख्यात शिक्षाविद् व सी.एम.एस. संस्थापिका-निदेशिका डा. (श्रीमती) भारती गाँधी ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण हेतु विश्व समुदाय को मिलकर प्रयास करना होगा। पर्यावरण बहुत ही खतरनाक स्थिति में पहुँच गया है। अपने संबोधन में डा. भारती गाँधी ने कुछ ही दिन पहले संयुक्त राष्ट्र संघ की बैठक में स्वीडन की पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग द्वारा पर्यावरण पर अपने विचार को अत्यन्त पीड़ा के साथ प्रस्तुत करने की घटना का जिक्र किया। उन्होंने बताया कि ग्रेटा ने संयुक्त राष्ट्र संघ में उपस्थित देशों के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा था कि उनके पर्यावरण पर ध्यान न देने से बच्चों का बचपन छिन रहा है और बच्चे अपने को बड़ों द्वारा छला हुआ महसूस कर रहे हैं। अब समय आ गया है जब सभी देशों को मिलकर एकता व शान्ति से इस विश्वव्यापी समस्या का समाधान खोजना ही होगा। इससे पहले, सी.एम.एस. शिक्षकों द्वारा प्रस्तुत सुमधुर भजनों से विश्व एकता सत्संग का शुभारम्भ हुआ, जिन्होंने बहुत ही सुमधुर भजन सुनाकर सम्पूर्ण वातावरण को आध्यात्मिक उल्लास से सराबोर कर दिया।
    विश्व एकता सत्संग में उपस्थित सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने कहा कि सभी मानवजातियों में वैसे ही एकता होनी चाहिए जिस प्रकार हमारे शरीर के सभी अंग एक साथ सम्बद्ध होकर कार्य करते हैं। हमें वैश्विक स्तर पर सभी मानवजातियों के विकास के लिए सोचना होगा।
    विश्व एकता सत्संग में आज सी.एम.एस. अशर्फाबाद के छात्रों ने शक्षात्मक-आध्यात्मिक कार्यक्रमों की सुन्दर प्रस्तुति द्वारा सभी का मन मोह लिया। स्कूल प्रार्थना से कार्यक्रम की शुरूआत करके बच्चों ने भक्तिगीत ‘प्रभु तुम मेरे घर में आओ’ प्रस्तुत किया। इसके उपरान्त ‘शरीर के अंगो की एकता’ एवं ‘भारत की धार्मिक एकता’ पर लघु नाटिका प्रस्तुत किया। टाॅक शो के माध्यम से छात्रों ने शान्ति व एकता का संदेश दिया तो वहीं दूसरी ओर गीत ‘वी आर बिग, वी आर स्माल’ की सभी ने खूब सराहा। इस अवसर पर अनेक विद्वजनों ने सारगर्भित विचार व्यक्त किये। सत्संग का समापन संयोजिका श्रीमती वंदना गौड़ द्वारा धन्यवाद ज्ञापन से हुआ।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top