युवाशिक्षा

अनुशासन, निष्ठा, राष्ट्रप्रेम तथा खेल भावना ही अनुशासित खिलाड़ी की पहचान : वीरेन्द्र कुमार

अनुशासन, निष्ठा, राष्ट्रप्रेम तथा खेल भावना ही अनुशासित खिलाड़ी की पहचान : वीरेन्द्र कुमार

अनुशासन, निष्ठा, राष्ट्रप्रेम तथा खेल भावना ही अनुशासित खिलाड़ी की पहचान : वीरेन्द्र कुमार

Photo

लखनऊ, 19 अक्टूबर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, आर.डी.एस.ओ. कैम्पस द्वारा आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय खेल ओलम्पियाड ‘एक्सपो 2019’ का भव्य उद्घाटन आज सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में धूमधाम से सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि श्री वीरेन्द्र कुमार, डायरेक्टर-जनरल, आर.डी.एस.ओ. ने एकता व शान्ति का दीप प्रज्जवलित कर अन्तर्राष्ट्रीय खेल ओलम्पियाड ‘एक्सपो-2019’ का विधिवत उद्घाटन किया तथापि खेल जगत की अनेक प्रख्यात हस्तियों सर्वश्री वी. एस. चैहान, अर्जुन पुरस्कार विजेता (एथलेटिक्स), श्री गुलाब चंद, अर्जुन पुरस्कार विजेता (एथलेटिक्स), श्री मनोज तमांग, अन्तर्राष्ट्रीय फुटबाल खिलाड़ी, श्री अशोक बांबी, पूर्व रणजी खिलाड़ी, श्री कमल कान्त कनौजिया, रणजी खिलाड़ी, श्री अक्शदीप नाथ, कैप्टन, रणजी टीम एवं आई.पी.एल. खिलाड़ी, श्री देवेन्द्र भंडारी, इण्टरनेशल हाॅकी खिलाड़ी एवं अम्पायर, श्री क्यू. एम. सिद्दीकी, इण्टरनेशनल एथलीट आदि ने अपनी गरिमामयी उपस्थिति से आयोजन की भव्यता में चार चाँद लगा दिये। विदित हो कि सी.एम.एस. आर.डी.एस.ओ. कैम्पस के तत्वावधान में चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय खेल ओलम्पियाड ‘एक्स्पो-2019’ का आयोजन 19 से 22 अक्टूबर तक आयोजित किया जा रहा है जिसमें नेपाल, दक्षिण अफ्रीका एवं भारत के विभिन्न प्रदेशों से लगभग 500 से बाल खिलाड़ी प्रतिभाग कर रहे हैं।

            इस अवसर पर देश-विदेश के खिलाड़ियों को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्री वीरेन्द्र कुमार, डायरेक्टर-जनरल, आर.डी.एस.ओ. ने कहा कि अनुशासन, निष्ठा, राष्ट्रप्रेम तथा खेल भावना ही एक अच्छे और अनुशासित खिलाड़ी की पहचान है, जो उसे समाज व राष्ट्र का आदर्श नागरिक बनाती है। आज के यही खिलाड़ी कल के ओलम्पिक चैम्पियन बनकर देश का नाम सारे विश्व में रोशन करेंगे। उन्होंने सिटी मोन्टेसरी स्कूल को बधाई दी कि खेलों के क्षेत्र में आगे आकर इतना शानदार ओलम्पियाड आयोजित किया गया है।

       ‘एक्सपो-2019’ के उद्घाटन समारोह में रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच विश्व एकता व विश्व शान्ति के गीत गाते देश-विदेश के बाल खिलाड़ियों की उपस्थिति से लघु विश्व का दृश्य साकार हो उठा। अन्तर्राष्ट्रीय खेल ओलम्पियाड ‘एक्सपो 2015’ का शुभारम्भ सर्व-धर्म एवं विश्व शान्ति प्रार्थना से हुआ। इस भव्य कार्यक्रम में सी.एम.एस. छात्रों ने बच्चों ने विश्व के विभिन्न देशों के राष्ट्रीय ध्वजों को हाथों में लहराते हुए सारे विश्व में शान्ति रहे का सन्देश दिया। इसके उपरान्त सी.एम.एस. छात्रों ने भारतीय संस्कृति का आलोक बिखरते एक से बढ़कर एक शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसके अलावा देश-विदेश से पधारी टीमों के मार्च पास्ट को सभी ने खूब सराहा।

                        ‘एक्सपो-2019’ की संयोजिका एवं सी.एम.एस. आर.डी.एस.ओ. कैम्पस की प्रधानाचार्या श्रीमती अरुणा नायडू ने देश-विदेश से पधारे बाल खिलाड़ियों, खेल जगत की महान विभूतियों व गणमान्य आतिथियों का हार्दिक स्वागत करते हुए कहा कि इस खेल महोत्सव में खिलाड़ी छात्रों को न केवल स्वस्थ प्रतिस्पर्धा में भाग लेने का अवसर मिलेगा बल्कि उनमें शान्ति और वसुधैव कुटुम्बकम् की भावना उत्पन्न होगी। उन्होंने आशा व्यक्त की इस खेल महोत्सव से देश-विदेश की उभरती हुई खेल प्रतिभाओं को अपने दमखम का सर्वोच्च प्रदर्शन करने का अच्छा अवसर प्राप्त होगा, साथ ही प्रतिभागी खिलाड़ी पूरी दुनियाँ को अपनी खेल भावना से विश्व एकता व विश्व शान्ति का सन्देश देंगे।

            इससे पहले, आज अपरान्हः सत्र में आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में विभिन्न देशों से पधारे बाल खिलाड़ी पत्रकारों से रूबरू हुए और दिल खोलकर अपने विचार रखे। पत्रकारों से बातचीत करते हुए पुष्पासदन बोर्डिंग हाई स्कूल, नेपाल से पधारे बाल खिलाड़ियों ने कहा कि उनका इरादा इस ओलम्पियाड में अधिक से अधिक पदक जीतने का है। ये खिलाड़ी विभिन्न खेल स्पर्धाओं में भाग लेने को आतुर दिखे। इसी प्रकार चिल्ड्रेन्स एकेडमी, नेपाल से पधारे छात्रों का कहना था कि भारत में उन्हें अपने घर जैसा ही माहौल मिला है और सी.एम.एस. की मेहमान नवाजी ने तो उनका दिल जीत लिया है। फेमिसा, डरबन, दक्षिण अफ्रीका से पधारे बाल खिलाड़ी भी उत्साह से भरपूर दिखे। ये बाल खिलाड़ी खेलों में अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित करने को तो उत्सुक थे ही, साथ ही साथ यहाँ के खान-पान, विचार, रहन-सहन, बातचीत और सामाजिक परम्पराओं को जानने के लिए भी उत्सुक थे। इसी प्रकार देश-विदेश से पधारे छात्र खिलाड़ी भी खेल के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित लगे। इन सबमें ऐसा आत्मविश्वास और आत्मबल झलक रहा था कि जैसे कुछ नया कर दिखाने के लिए यह तैयार बैठे हैं, साथ ही भाईचारे और स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना भी इनकी टीम में विशेषकर प्रकट हो रही थी।

            सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने इस अवसर पर कहा कि ‘एक्सपो-2019’ विश्व शान्ति और विश्व एकता की भावना को आगे बढ़ाने की एक और कड़ी है। इस अन्तर्राष्ट्रीय खेल ओलम्पियाड में भाग लेने वाले देश-विदेश के छात्रों को न केवल प्रतिस्पर्धा में भाग लेने का अवसर मिलेगा बल्कि उनमें शान्ति और वसुधैव कुटुम्बकम की भावना भी उत्पन्न होगी। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि सभी प्रतिभागी छात्र इस अन्तर्राष्ट्रीय खेल ओलम्पियाड के पश्चात् अपने-अपने देशों में सी.एम.एस. के ‘विश्व एकता और विश्व शान्ति’ के विचार का प्रसार करेंगे।

            सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि ‘एक्स्पो-2019’ में देश-विदेश से पधारे 500 से अधिक बाल खिलाड़ी अपने दमखम का प्रदर्शन कर रहे हैं। खेल प्रतियोगिताएं कल 20 अक्टूबर से प्रारम्भ होंगी जिसके अन्तर्गत ट्रैक एण्ड फील्ड प्रतियोगिताओं में 100मी, 200 मी, 400मी, 800मी, 1500मी एवं 4 गुणा 100 मी रिले दौड़ प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। इसके अलावा लम्बी कूद, भाला फेंक, चक्का फेंक, गोला फेंक आदि प्रतिस्पर्धाओं में देश-विदेश के खिलाड़ी अपने दम-खम का प्रदर्शन करेंगे। ट्रैक एण्ड फील्ड प्रतियोगिताएं आर.डी.एस.ओ. स्टेडियम, मानक नगर में एवं बैडमिन्ट की प्रतियोगिताएं आर.डी.एस.ओ. बैडमिन्टल हाॅल में आयोजित होंगी। कराटे प्रतियोगिताएं सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में जबकि साॅकर प्रतियोगिता सी.एम.एस. कानपुर रोड स्थित ‘जय जगत पार्क’ में सम्पन्न होंगी। इसके अलावा, विश्व एकता व शान्ति की लौ जन-जन के हृदय में जलाने हेतु 22 अक्टूबर को प्रातः 5.00 बजे से ‘मैराथन दौड़’ का आयोजन किया जायेगा।

 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top