युवाशिक्षा

अन्तर्राष्ट्रीय भूगोल ओलम्पियाड ‘जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019’ का तीसरा दिन

अन्तर्राष्ट्रीय भूगोल ओलम्पियाड ‘जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019’ का तीसरा दिन

अन्तर्राष्ट्रीय भूगोल ओलम्पियाड ‘जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019’ का तीसरा दिन

Photo

लखनऊ, 17 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, जाॅपलिंग रोड कैम्पस एवं राजाजीपुरम (द्वितीय कैम्पस) द्वारा सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में चल रहे पाँच दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय भूगोल ओलम्पियाड ‘जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019’ का तीसरा दिन बहुत ही दिलचस्प रहा। नेपाल, श्रीलंका, रूस, बांग्लादेश एवं भारत के कोने-कोने से पधारे लगभग 500 छात्रों ने आज जियोफेस्ट की विभिन्न प्रतियोगिताओं में जोरदार भागीदारी कर अपने ज्ञान-विज्ञान व हुनर का प्रदर्शन तो किया ही, साथ ही इन दिलचस्प प्रतियोगिताओं के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी दिया। देश-विदेश से पधारे बालभूगोलविदों ने जियोटेक (मूवी मेकिंग), जियोक्विज (क्विज), जियो फ्रेण्डली हैण्ड्स (साॅफ्टबोर्ड मेकिंग, माॅडल मेकिंग एवं पोस्टर मेकिंग) एवं जेल-ओ-माइम (माइम एक्ट एण्ड पोएम रेसीटेशन) प्रतियोगिताओं में अपने ज्ञान-विज्ञान का शानदार प्रदर्शन किया और दिखा दिया कि हमारी सोच केवल अपने देश तक ही सीमित नहीं रहनी चाहिए बल्कि विश्वव्यापी होनी चाहिए।

            जियोफेस्ट इण्टरनेशनल-2019 में आज प्रतियोगिताओं की शुरूआत जियोटेक (मूवी मेकिंग प्रतियोगिता) से हुई, जिसमें सीनियर वर्ग की 60 छात्र टीमों ने अपनी रचनात्मक सोच व तकनीकी ज्ञान का शानदार प्रदर्शन किया। इस प्रतियोगिता के अन्तर्गत छात्रों ने पर्यावरण से सम्बन्धित विषयों पर 5 मिनट की फिल्म तैयार कर उसका प्रदर्शन किया। प्रत्येक टीम में दो प्रतिभागी छात्र थे, जिन्होंने अपनी बनाई फिल्म में स्वयं अभिनय भी किया। इसके अलावा, आज जूनियर वर्ग की जियोक्विज प्रतियोगिता का फाइनल राउण्ड आज सम्पन्न हुआ, जिसे दर्शकों ने खूब सराहा। इस प्रतियोगिता में 10 छात्र टीमों ने फाइनल राउण्ड में प्रतिभाग किया और बिजली की गति से प्रश्नों के जवाब देकर दर्शकों का खूब मनोरंजन व ज्ञानवर्धन किया। प्रतियोगिता के आॅडियो-विजुअल राउण्ड हेतु दर्शकों में भरपूर उत्साह व रोमांच देखने को मिला।

            प्रातःकालीन सत्र में ही बेहद आकर्षक जियो फ्रेण्डली हैण्ड्स (साॅफ्टबोर्ड मेकिंग, माॅडल मेकिंग एवं पोस्टर मेकिंग) का आयोजन हुआ, जिसमें प्राइमरी वर्ग के छात्रों ने साॅफ्टबोर्ड मेकिंग, जूनियर वर्ग के छात्रों ने माॅडल मेकिंग एवं सीनियर वर्ग के छात्रों ने पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में अपने ज्ञान-विज्ञान, रचनात्मक सोच व कलात्मक प्रतिभा का जोरदार प्रदर्शन किया। जहाँ एक ओर, साॅफ्टबोर्ड मेकिंग प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्रों ने ‘द अर्थ वी लव इज ए गिफ्ट फ्राॅम एबव’ विषय पर अपने हाथ आजमाये तो वहीं दूसरी ओर माॅडल मेकिंग प्रतियोगिता में ‘ईको वारियर्स डिसएबलिंग बैरियर्स’ विषय पर जबकि पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में सीनियर वर्ग के छात्रों ने ‘गाॅड्स ओन लैबोरेटरी - नेचर’ विषय पर अपने ज्ञान का प्रदर्शन किया। ओ.पी. जिन्दल स्कूल रायगढ़, छत्तीसगढ़ के अनिमेष राठौर एवं आयुष बसाक ने ओजोन परत बचाने हेतु अद्भुद माॅडल बनाया और भूत, वर्तमान एवं भविष्य में पर्यावरण के हालात का चित्रण किया। नवभारत पब्लिक स्कूल, तेलंगाना की संस्कृति व सुहानी ने यूटोपियन वल्र्ड के माध्यम से दिखलाया कि कैसे बच्चे सुरक्षित वातावरण चाहते हैं व इसे कैसे बचायेंगे। रूस्तमजी इण्टरनेशनल स्कूल, महाराष्ट्र के सुजल पाटिल एवं चिन्मय महाजन ने नारियल के सूखे छिलके के बुरादे में गेहूं की फसल को दिखलाया। इसी प्रकार कई अन्य टीमों ने अपने माडलों व पोस्टरों से अपने ज्ञान का जोरदार प्रदर्शन किया। इसी प्रकार, जेल-ओ-माइम (माइम एक्ट एण्ड पोएम रेसीटेशन) में भी देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने अपने हुनर का लोहा मनवाया। इस प्रतियोगिता में छात्रों ने कविता पाठ करने के साथ ही उसे अभिनय द्वारा दर्शाया।

            सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि प्रतियोगिताओं का दौर कल 18 नवम्बर, सोमवार को भी जारी रहेगा। कल आयोजित होने वाली प्रतियोगिताओं में जियोक्विज (क्विज - सीनियर) एवं जियोटून (कार्टून) प्रतियोगिताएं प्रमुख हैं। प्रतियोगिताएं  प्रातः 9.00 बजे से प्रारम्भ होंगी।

 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top