युवाशिक्षा

‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर’ में प्रतिभाग हेतु 13 देशों से पधारे छात्र दलों का लखनऊ में भव्य स्वागत

‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर’ में प्रतिभाग हेतु 13 देशों से पधारे छात्र दलों का लखनऊ में भव्य स्वागत

‘अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर’ में प्रतिभाग हेतु 13 देशों से पधारे छात्र दलों का लखनऊ में भव्य स्वागत

Photo

लखनऊ, 28 दिसम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल की मेजबानी में आयोजित एक माह के अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में प्रतिभाग हेतु 13 देशों से पधारे छात्रों का आज लखनऊ पधारने पर भव्य स्वागत हुआ। अमौसी एअरपोर्ट पर सी.एम.एस. शिक्षकों व कार्यकर्ताओं द्वारा भव्य स्वागत से नन्हें-मुन्हें बच्चे गद्गद् थे और सभी के चेहरों पर आकर्षक मुस्कान देखते ही बनती थी। विदित हो कि सी.एम.एस. की मेजबानी में 27वाँ अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर 28 दिसम्बर 2019 से 24 जनवरी 2020 तक आयोजित किया जा रहा है, जिसमें प्रतिभाग हेतु ब्राजील, कनाडा, कोस्टारिका, डेनमार्क, फ्रांस, जर्मनी, इटली, मैक्सिको, नार्वे, स्वीडन, थाईलैंड, अमेरिका और भारत के 11 से 12 वर्ष उम्र के चार-चार बच्चों के दल अपने ग्रुप लीडर के नेतृत्व में लखनऊ पधारे हैं। अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर का औपचारिक उद्घाटन 30 दिसम्बर 2019, सोमवार को अपरान्हः 1.00 बजे सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में होगा। लखनऊ के नगर आयुक्त डा. इन्द्रमणि त्रिपाठी इस अवसर पर मुख्य अतिथि होंगे।

          अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर के अन्तर्गत 13 देशों के ये बाल प्रतिनिधि एक माह तक सहयोग, मित्रता, विश्व एकता, विश्व शांति और वैश्विक समझ के गुणों को आत्मसात करने के लिए एक छत के नीचे हिल-मिलकर रहेंगे। इस अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर का नाम ‘‘पीस हैज ए 100 नेम्स विलेज’’ रखा गया है जो विभिन्न देशों के बच्चों के बीच आपसी समझ, सहयोग और विश्व बन्धुत्व के विचारों को बढ़ायेगा और उन्हें विश्व शांति, विश्व एकता और भाईचारे के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करेगा। बाल शिविर में विभिन्न देशों के बच्चों के प्रवास के दौरान, शिक्षकों द्वारा एक माहौल बनाकर अवसरों का सृजन किया जाएगा जो बच्चों को अपने विचारों को स्वतंत्र रूप से व्यक्त करने के लिए अनुकूल होगा और ये विभिन्न देशों के बच्चे एक दूसरे की संस्कृतियों में विविधताएं, रीति-रिवाजों और परंपराओं को जाने-समझेंगे।

          अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर वास्तव में सारी दुनिया के लिए एक उदाहरण है, जहाँ विभिन्न देशों के बच्चे साथ-साथ रहकर विश्व परिवार की भावना को साकार रूप दे रहे हैं। विभिन्न संस्कृति, भाषा, सभ्यता, रीति-रिवाज में पले-बढ़े बच्चों को इस प्रकार के एक माह लम्बे अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर में इकट्ठा रखे जाने का उद्देश्य छोटे बच्चों के कोमल हृदय में आपसी भाईचारा, विश्व शांति तथा विश्व बन्धुत्व की भावना का समावेश करना है। अन्तर्राष्ट्रीय बाल शिविर के प्रतिभागी बच्चों को ठहरने, खाने-पीने, खेल-कूद, ऐतिहासिक स्थलों के भ्रमण, चिकित्सा आदि की सारी  सुविधाऐं मेजबान सी.एम.एस. द्वारा उपलब्ध करायी जा रही है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top