युवाशिक्षा

102 देशों की शिक्षात्मक बाल फिल्मों का होगा निःशुल्क प्रदर्शन

102 देशों की शिक्षात्मक बाल फिल्मों का होगा निःशुल्क प्रदर्शन

102 देशों की शिक्षात्मक बाल फिल्मों का होगा निःशुल्क प्रदर्शन

Photo

लखनऊ 4 जनवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के फिल्म्स डिवीजन के तत्वावधान में विश्व का सबसे बड़ा अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव (आई.सी.एफ.एफ.-2020) 15 से 23 अप्रैल तक सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में आयोजित किया जा रहा है। इस नौ-दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव में प्रदर्शन हेतु अभी तक 102 देशों की लगभग 1898 शैक्षिक बाल फिल्मों की प्रविष्टियाँ प्राप्त हुई हैं, जिनमें से चुनिन्दा बाल फिल्मों का निःशुल्क प्रदर्शन किया जायेगा। इसके अलावा,  विभिन्न देशों की सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्मों को चयनित कर 10 लाख रूपये के नकद पुरस्कारों से सम्मानित किया जायेगा। उक्त जानकारी सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने दी है।

            श्री शर्मा ने बताया कि बताया कि यह बाल महोत्सव भावी पीढ़ी के चरित्र निर्माण एवं वसुधैव कुटुम्बकम् को समर्पित है। बाल फिल्मोत्सव के 9 दिनों में रोजाना फिल्म जगत की दिग्गज हस्तियाँ, बाल कलाकार एवं विभिन्न क्षेत्रों की प्रख्यात हस्तियाँ किशोरों व छात्रों के उत्साहवर्धन हेतु पधारेंगे। श्री शर्मा ने बताया कि इस अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में रोजाना दो शो होंगे जिसमें प्रथम शो प्रातः 9.00 बजे से एवं दूसरा शो दोपहर 12.00 बजे से होगा। बच्चों की सुविधा के लिए विदेशी बाल शिक्षात्मक फिल्मों का हिन्दी व अंग्रेजी रूपान्तरण भी साथ-साथ दिखाया जायेगा। शैक्षिक बाल फिल्मों का प्रदर्शन सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस के मेन आॅडिटोरियम के अलावा 7 मिनी आॅडिटोरियम में एक साथ किया जायेगा।

            श्री शर्मा ने बताया कि यह अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव सभी के लिए पूर्णतया निःशुल्क है। इसके अलावा, लखनऊ एवं आसपास के क्षेत्रों के स्कूली बच्चों को आयोजन स्थल तक लाने एवं वापस उनके स्कूल तक छोड़ने हेतु बसों की निःशुल्क व्यवस्था की जा रही है। इन बाल फिल्मों को देखने के लिए लखनऊ के आसपास स्थित इच्छुक स्कूलों के प्रबंधक या प्रधानाचार्य आई.सी.एफ.एफ.-2020 के फेस्टिवल डायरेक्टर श्री वी. कुरियन से उनके मोबाइल नंबर 94150-15039 पर सम्पर्क कर अग्रिम बुकिंग कर सकते हैं।

            श्री शर्मा ने बताया कि इस नौ-दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव में 102 देशों की शैक्षिक बाल फिल्मों का प्रदर्शन किया जायेगा, जिनमें अफगानिस्तान, अल्जीरिया, अर्जेंटीना, अर्मेनिया, आस्ट्रेलिया, आस्ट्रिया, अजरबैजान, बांग्लादेश, बेलारूस, बेल्जियम, बेनिन, बोलीविया, ब्राजील, बुल्गारिया, कनाडा, चिली, चीन, कोलंबिया, कांगो, कोस्टा रिका, क्रोएशिया, क्रोटिया, साइप्रस, चेक गणराज्य, इक्वाडोर, मिस्र, एस्टोनिया, इथियोपिया, फ्रांस, जार्जिया, जर्मनी, घाना, ग्रीस, ग्वाटेमाला, हांगकांग, हंगरी, भारत, इंडोनेशिया, ईरान, इराक, आयरलैंड, इजरायल, इटली, आइवरी कोस्ट, जापान, कजाकिस्तान, केन्या, कोरिया, कोसोवो, किर्गिस्तान, लातविया, लेबनान, लिथुआनिया, लक्समबर्ग, मैसेडोनिया, मलावी, मलेशिया, माली, माल्टा, मैक्सिको, मोल्दोवा, मोरक्को, म्यांमार, नेपाल, न्यूजीलैंड, नाइजीरिया, नार्वे, ओमान, पाकिस्तान, फिलिस्तीन, पेरू, फिलीपींस, पोलैंड, पुर्तगाल, प्यूर्टो रिको, कतर, रोमानिया, रूस, रवांडा, सेनेगल, सर्बिया, सिंगापुर, स्पेन, श्रीलंका, स्वीडन, स्विट्जरलैंड, सीरिया, ताइवान, थाईलैंड, नीदरलैंड, टोगो, टयूनीशिया, तुर्की, युगांडा, यूक्रेन, संयुक्त अरब अमीरात, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका, उरूग्वे, उजबेकिस्तान, वेनेजुएला, वियतनाम तथा जाम्बिया आदि प्रमुख हैं।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top