राज्यउत्तर प्रदेश

प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान को अमल में लाने की अपील की सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने

प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान को अमल में लाने की अपील की सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने

प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान को अमल में लाने की अपील की सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने

Photo

लखनऊ, 4 अप्रैल। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने 5 अप्रैल, रविवार को रात्रि 9 बजे 9 मिनट तक घर की लाइटें आॅफ कर दीपक जलाने के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान को अमल में लाने की पुरजोर अपील समस्त देशवासियों से की है, जिससे कोरोना जैसी महामारी से निपटने हेतु हम सभी में आत्मबल का संचार हो और इस महामारी का उन्मूलन हो सके। इस संदर्भ में एक अनौपचारिक आॅनलाइन बातचीत में डा. गाँधी ने प्रधानमंत्री के आह्वान का अनुमोदन करते हुए कहा कि माननीय प्रधानमंत्री जी ने समस्त देशवासियों को यही संदेश दिया है कि अंधेरे से निपटने हेतु प्रकाश की एक किरण ही काफी है। कोरोना की महामारी विकराल रूप धारण कर समस्त मानवता को निगल जाने को तत्पर है, ऐसे में सामूहिक सहयोग की भावना से ही इस महामारी का उन्मूलन किया जा सकता है। डा. गाँधी देशवासियों से मार्मिक अपील की कि प्रधानमंत्री जी के संदेश को आत्मसात करें एवं 5 अप्रैल, रविवार को रात्रि 9 बजे 9 मिनट तक लाइटें आॅफ कर घर की चैखट अथवा बाॅलकनी में दीपक, मोमबत्ती आदि की रोशनी के मध्यम एकता की भावना का प्रदर्शन करें। डा. गाँधी ने जोर देते हुए कहा कि सामूहिक उत्तरदायित्व के पालन करते हुए ही हम कोरोना से जंग जीत सकते हैं।

                डा. गांधी ने कहा कि कोरोना वायरस के कहर से आज दुनियाँ का कोई भी देश अछूता नहीं रह गया है। यह तबाही अगर यही नहीं रूकी तो शायद इसकी त्रासदी द्वितीय विश्व युद्ध से भी भयानक होगी। वास्तव में, इस बार दुनियाँ का मुकाबला किसी सामने दिखने वाले दुश्मन से नहीं है बल्कि उस अदृश्य वायरस से है, जिसको अभी तक देखा-परखा नहीं गया है, परन्तु वह अंधेरा बनकर दुनिया का विनाश करने को तत्पर है। ऐसे खतरनाक अंधेरे से सर्वशक्तिमान परमात्मा की कृपा से ज्ञान, आध्यात्म, एकता व सामूहिकता की रोशनी से ही निपटा जा सकता है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top