राज्यउत्तर प्रदेश

शिक्षा के नुकसान को रोकने के लिए ऑनलाइन टेक्नोलाॅजी का उपयोग कर रहा है सी.एम.एस.

शिक्षा के नुकसान को रोकने के लिए ऑनलाइन  टेक्नोलाॅजी का उपयोग कर रहा है सी.एम.एस.

शिक्षा के नुकसान को रोकने के लिए ऑनलाइन टेक्नोलाॅजी का उपयोग कर रहा है सी.एम.एस.

Photo

  लखनऊ, 18 अप्रैल। कोरोना महामारी के कारण लाॅकडाउन की स्थिति में लम्बे समय से शिक्षण संस्थान बंद हैं। ऐसे में सिटी मोन्टेसरी स्कूल ने छात्रों की पढ़ाई में हो रहे नुकसान को रोकने के लिए आॅनलाइन तकनीक का रास्ता अपनाया है। गूगल क्लासरूम, गूगल हैंगआउट आदि का प्रयोग करके सी.एम.एस. शिक्षक स्कूली पाठ्यक्रम एवं असाइनमेन्ट को इन एप्स पर पोस्ट करके प्रतिदिन       प्रत्येक विषय की आॅनलाइन क्लास ले रहे हैं एवं इसके लिए सी.एम.एस. शिक्षक निर्धारित समय एवं टाइमटेबल का पालन कर रहे हैं। सी.एम.एस. ने इसके लिए गूगल एप्स फाॅर एजूकेशन, खान एकेडमी, टाटा क्लासेज तथा अन्य के साथ पार्टनरशिप किया है, जिससे छात्रों को पाठ और बेहतर ढंग से समझ में आये। इसके साथ ही, वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिये पाठ को छात्रों के साथ लाइव शेयर करके उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया जाता है।

                सी.एम.एस. की प्रधानाचार्याओं एवं शिक्षकों ने भी आॅनलाइन तकनीक को अपना लिया है, जिससे उन्हें शिक्षण कार्य में आसानी हो। सी.एम.एस. की सभी प्रधानाचार्याएं अपने सभी शिक्षकों से तकनीक के माध्यम जुड़ी हुई हैं तथापि शिक्षण कार्य पर लगातार निगाह रख रही हैं। वे आॅनलाइन असेम्बली में भी छात्रों को लगातार प्रोत्साहित करती रहती हैं।इन्हीं प्रयासों का परिणाम है कि सी.एम.एस. के प्री-प्राइमरी से लेकर कक्षा-12 तक के लगभग सभी छात्र आॅनलाइन कक्षाओं से जुड़कर सुरक्षित तरीके से अपने घर पर रहते हुए शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।

                सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गनाँधी किंगडन एवं सी.एम.एस. के डायरेक्टर आॅफ स्ट्रेटजी, श्री रोशन गाँधी के मार्गदर्शन में विद्यालय के 56,000 से अधिक छात्रों और 3,000 शिक्षकों को आनलाइन शिक्षण प्रक्रिया के अन्तर्गत लाने का विशाल कार्य सी.एम.एस. के ई-लर्निंग विभाग के माध्यम से किया गया है, जिसमें अनेकों आईटी विशेषज्ञ कार्यरत हैं। ये आईटी विशेषज्ञ सी.एम.एस. के सभी 18 कैम्पस के सभी शिक्षकों को आधुनिक आॅनलाइन तकनीकों के उपयोग हेतु लगातार प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। यही कारण है कि सी.एम.एस. शिक्षक सुगमतापूर्वक आॅनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म का उपयोग करके आॅनलाइन संसाधनों द्वारा शैक्षिक सामग्री का प्रयोग कर रहे हैं और अब सी.एम.एस. शिक्षक आॅनलाइन तकनीकों के उपयोग में पारंगत हो चुके हैं तथा आॅनलाइन टीचिंग एप्लीकेशन्स का प्रयोग कर रहे हैं। निश्चित रूप से सी.एम.एस. के शिक्षक तकनीकी ज्ञान की मदद से अब आॅनलाइन शिक्षण को बेहतर तरीके से पूरा कर रहे हैं।

                विदित हो कि स्कूलों को बंद हुए लगभग एक महीने का समय हो रहा है परन्तु सी.एम.एस. की सभी आनलाइन कक्षाएं सुगमतापूर्वक चल रही हैं। इन आॅनलाइन कक्षाओं में सी.एम.एस. शिक्षक न सिर्फ छात्रों को उनका पाठ पूरा करा रहे हैं अपितु उनकी जिज्ञासाओं का भी समाधान कर रहे हैं। यहां तक कि शारीरिक शिक्षा, संगीत और नृत्य की कक्षाएं भी नियमित रूप से संचालित की जा रही हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि छात्रों का मन और शरीर में फिट हैं। इसके साथ ही, छात्रों की रूचि और खुशी को प्राथमिकता से सुनिश्चित किया जा रहा है। इस पुनीत कार्य हेतु सी.एम.एस. की आईटी टीम शिक्षकों के सहयोग हेतु लगातार तत्पर है।

 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top