राज्यउत्तर प्रदेश

अन्तर्राष्ट्रीय साँस्कृतिक ओलम्पियाड ‘सेलेस्टा इण्टरनेशनल-2020’ का दूसरा दिन

अन्तर्राष्ट्रीय साँस्कृतिक ओलम्पियाड ‘सेलेस्टा इण्टरनेशनल-2020’ का दूसरा दिन

अन्तर्राष्ट्रीय साँस्कृतिक ओलम्पियाड ‘सेलेस्टा इण्टरनेशनल-2020’ का दूसरा दिन

Photo

लखनऊ, 15 अक्टूबर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस) द्वारा आॅनलाइन आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय साँस्कृतिक ओलम्पियाड ‘सेलेस्टा इण्टरनेशनल-2020’ के दूसरे दिन अमेरिका, रूस, बांग्लादेश, दुबई, ओमान, सउदी अरब, नेपाल एवं देश के विभिन्न प्रान्तों की प्रतिभागी छात्र टीमों ने अपनी कलात्मक प्रतिभा का ऐसा जलवा बिखरा कि दर्शक छात्रों की अद्भुद प्रतिभा के कायल हो गये। इन प्रतिभागी छात्रों ने लोकनृत्य, फ्री-स्टाइल/हिप हाॅप डांसिग, कविता पाठ एवं वाद्ययंत्र वादन प्रतियोगिताओं में अपने हुनर का परचम लहराकर गागर में सागर उड़ेल कर रख दिया। ज्ञातव्य हो कि सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) के तत्वावधान में ‘सेलेस्टा इण्टरनेशनल-2020’ का आॅनलाइन आयोजन 14 से 17 अक्टूबर तक किया जा रहा है, जिसमें देश-विदेश की लगभग 55 छात्र टीमें विभिन्न रोचक प्रतियोगिताओं के माध्यम से अपने हुनर का प्रदर्शन कर रही हैं।

            ‘सेलेस्टा इण्टरनेशनल’ के अन्तर्गत आज प्रतियोगिता का सिलसिला ‘कविता पाठ’ प्रतियोगिताओं से हुआ, जिसमें देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने अपनी रचनात्मक सोच, अभिव्यक्ति क्षमता एवं अपनी कला का भरपूर प्रदर्शन किया। इस प्रतियोगिता में दर्शकों के वोट के आधार पर 10 फाइनलिस्ट प्रतिभागियों को आॅनलाइन प्रस्तुति का अवसर मिला तथापि निर्णायक मंडल द्वारा छात्रों की प्रस्तुति, अभिव्यक्ति, उच्चारण, स्पष्टता आदि विभिन्न मानकों पर विजयी छात्र का चयन किया गया। इसी प्रकार, फ्री-स्टाइल/हिप हाॅप डांसिग प्रतियोगिता भी आकर्षण का केन्द्र रही, जिसमें प्रतिभागी छात्रों ने बड़े ही जोरदार ढंग से अपनी कला का प्रदर्शन किया। प्रतियोगिता में सुनयना पाल, मोहम्मद मुस्तकफी अब्बासी, रितेश पौडल, कालिका राजपूत, हर्षित राय, कृष्ण मेहरोत्रा एवं सक्षम पर्वकार की प्रस्तुति विशेष सराहनीय रही, जिसे निर्णायक मंडल ने खूब सराहा।

            प्रतियोगिता के सायंकालीन सत्र में परम्परागत लोकनृत्य प्रतियोगिता विशेष आकर्षण का केन्द्र रही, जिसमें कुल 45 प्रतिभागियों में से 10 फाइनलिस्ट छात्रों की लोकनृत्य प्रस्तुतियों को आॅनलाइन प्रदर्शित किया। प्रतिभागी छात्रों ने पूरे भाव से अपनी कलात्मक क्षमता का प्रदर्शन किया जिसे दर्शकों ने खूब सराहा और निर्णायकों ने भी उनकी जमकर प्रशंसा की। इसी प्रकार, वाद्ययंत्र वादन प्रतियोगिता में भी प्रतिभागी छात्रों ने अपने हुनर व संगीत ज्ञान का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। इन छात्रों ने शान्ति, भाईचारे एवं देशभक्ति पर आधारित संगीत एवं विभिन्न वाद्यों के सुन्दर तालमेल से दर्शकोें का भरपूर मनोरंजन किया और दिखाया कि संगीत की शक्ति मानवता में नई ऊर्जा का संचार करने में सक्षम हैं।

            सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि ‘सेलेस्टा इण्टरनेशनल-2020’ में देश-विदेश से पधारे अत्यन्त प्रतिभाशाली छात्रों ने आज अपनी कला से यह सिद्ध कर दिया कि गीत संगीत और नृत्य केवल मनोरंजन की वस्तु नहीं, अपितु यह हमें ईश्वर से जोड़ता है और आध्यात्मिक शिक्षा में संगीत का विशेष महत्व है। श्री शर्मा ने बताया कि प्रतियोगिताओं का दौर कल भी जारी रहेगा। कल का खास आकर्षण जिंगल, स्टैण्ड-अप काॅमेडी, एकल गायन एवं सेलेस्टा गाॅट टैलेन्ट प्रतियोगिताएं है जिसमें प्रतिभागी छात्र अपने हुनर का प्रदर्शन करेंगे।

 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top