युवाशिक्षा

इण्टरनेशनल स्पोर्टस, आर्टस एण्ड म्यूजिक प्रतियोगिता द सैम का ऑनलाइन भव्य उद्घाटन

इण्टरनेशनल स्पोर्टस, आर्टस एण्ड म्यूजिक प्रतियोगिता द सैम का ऑनलाइन  भव्य उद्घाटन

इण्टरनेशनल स्पोर्टस, आर्टस एण्ड म्यूजिक प्रतियोगिता द सैम का ऑनलाइन भव्य उद्घाटन

Photo

लखनऊ, 13 दिसम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, जाॅपलिंग रोड कैम्पस द्वारा आयोजित चार दिवसीय इण्टरनेशनल स्पोर्टस, आर्टस एण्ड म्यूजिक प्रतियोगिता (द सैम-2020) का आज आॅनलाइन भव्य उद्घाटन समारोह सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि डा. मोनिका अग्निहोत्री, डिवीजनल मैनेजर, इण्डियन रेलवे, ने रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियों के बीच समारोह का वर्चुअल शुभारम्भ किया। इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने प्रतिभागी छात्रों को आशीर्वाद देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। विदित हो कि सी.एम.एस. जाॅपलिंग रोड कैम्पस द्वारा 13 से 16 दिसम्बर तक चार दिवसीय इण्टरनेशनल स्पोर्टस, आर्टस एण्ड म्यूजिक प्रतियोगिता (द सैम-2020) का आॅनलाइन आयोजन किया जा रहा है, जिसमें ईरान, रूस, ग्रीस व नेपाल समेत देश विभिन्न राज्यों के प्रतिष्ठित विद्यालयों की छात्र टीमें प्रतिभाग कर रही हैं। इस अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता का उद्देश्य छात्रों की बहुमुखी प्रतिभा को अन्तर्राष्ट्रीय मंच प्रदान करने के साथ ही छात्रों व युवा पीढ़ी में एकता व सामन्जस्य की भावना का विकास करना है।

            इस अवसर पर मुख्य अतिथि डा. मोनिका अग्निहोत्री, डिवीजनल मैनेजर, इण्डियन रेलवे, ने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना महामारी के कारण पूरे विश्व में नकारात्मक प्रभाव पड़ा और शिक्षा का क्षेत्र भी इससे अछूता नहीं है परन्तु इसी दौरान कुछ रचनात्मक चीजें भी हुई हैं जो विभिन्नता में एकता की हमारे ताकत को दर्शाती हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया खेलकूद, चित्रकारी और संगीत का यह अन्तर्राष्ट्रीय समारोह छात्रों में नवीन ऊर्जा का संचार करेगा एवं एकता व सामन्जस्य की भावना के साथ सम्पूर्ण को साथ मिलकर आगे बढ़ने की प्रेरणा देगा। इससे पहले, पहली बार आयोजित किये जा रहे इस अनूठे अन्तर्राष्ट्रीय समारोह में स्वागत गीत, सर्वधर्म एवं विश्व एकता प्रार्थना, कववाली आदि विभिन्न शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तुतियों ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

            द सैम-2020 के उद्घाटन अवसर पर बोलते हुए सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि खेलकूद, गीत-संगीत एवं कलात्मक प्रतिभा, ये तीनों ही चीजें बच्चों के व्यक्तित्व विकास के लिए अतिआवश्यक हैं। यह अन्तर्राष्ट्रीय समारोह न सिर्फ बच्चों की नैसर्गिक प्रतिभा को नया आयाम देगा अपितु उन्हें एक वैश्विक सोच भी प्रदान करेगा। सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट एवं एम.डी. प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने कहा कि इतने बड़े स्तर पर अन्तर्राष्ट्रीय समारोह का आॅनलाइन आयोजन अपने आप में एक चुनौती है, जिसे सी.एम.एस. जाॅपलिंग रोड कैम्पस के शिक्षक व कार्यकर्ता अपनी प्रधानाचार्या के मार्गदर्शन में सफलतापूर्वक अंजाम दे रहे हैं। उन्होंने विश्वास व्यकत किया कि यह आॅनलाइन समारोह छात्रों के आत्मबल को जगाकर उन्हें कुछ नया करने की प्रेरणा देगा।

            ‘द सैम-2020’ की संयोजिका एवं सी.एम.एस. जाॅपलिंग रोड कैम्पस की प्रधानाचार्या श्रीमती शिप्रा उपाध्याय ने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय समारोह के अन्तर्गत देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों के लिए साउण्ड सिम्फनी, ब्लेंडिग बाउडरीज, द एक्सपिडीशन, टंग टिंगलर्स (फायरलेस कुकिंग), मास्क डिजाइनिंग, कोविड रैप्सोडी, स्टोरी टेलिंग विद पपेट, उड़ान, पेपर माडलिंग, फाॅक ओ बिक्स (कोरियोग्राफी), सैम थियेटर एवं सैम क्विज आदि रोचक प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हैं। इन प्रतियोगिताओं में प्री-प्रइमरी से लेकर सीनियर वर्ग तक के छात्र प्रतिभाग कर रहे हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि ये प्रतियोगिताएं छात्रों की प्रतिभा को तो उभारेंगी ही अपितु उनके मनोबल व आत्मविश्वास को बढ़ाने में सहायक होंगी एवं चुनौतियों को सहर्ष स्वीकार करने का हौसला देंगी। प्रतियोगिताओं का दौर कल 14 दिसम्बर से प्रारम्भ होगा।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top