राज्यउत्तर प्रदेश

भावी पीढी को भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करें- श्रीमती संयुक्ता भाटिया, मेयर, लखनऊ

भावी पीढी को भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करें- श्रीमती संयुक्ता भाटिया, मेयर, लखनऊ

भावी पीढी को भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करें- श्रीमती संयुक्ता भाटिया, मेयर, लखनऊ

Photo

लखनऊ, 24 जनवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) द्वारा आयोजित दो-दिवसीय ‘यू.एन. इण्टरनेशनल डे ऑफ़  एजूकेशन’ का वर्चुअल उद्घाटन आज सायं लखनऊ की मेयर श्रीमती संयुक्ता भाटिया ने किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्य अतिथि श्रीमती भाटिया ने शिक्षकों, अभिभावकों एवं समाज के प्रबुद्ध वर्ग का आह्वान करते हुए कहा कि भावी पीढ़ी को भविष्य की चुनौतियों के तैयार करें क्योंकि यही पीढ़ी उज्जवल भविष्य की आधारशिला है। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण विश्व समाज आज एक वैचारिक क्रान्ति के दौर से गुजर रहा है। ऐसे में हम सभी का यह दायित्व है कि नई पीढ़ी को इस प्रकार शिक्षित व मार्गदर्शन प्रदान किया जाए जिससे आदर्श विश्व समाज की स्थापना का मार्ग प्रशस्त हो सके। इससे पहले, श्रीमती भाटिया ने ‘इण्टरनेशनल डे ऑफ़  एजूकेशन’ के लोगो का अनावरण किया। विदित हो कि ‘इण्टरनेशनल डे आॅफ एजूकेशन’ का आयोजित 24 एवं 25 जनवरी को किया जा रहा है, जिसमें भारत, बांग्लादेश, नेपाल एवं क्रोएशिया के विभिन्न प्रतिष्ठित विद्यालयों के प्राइमरी एवं जूनियर वर्ग के छात्र प्रतिभाग कर रहे हैं।

            इससे पहले, जूम वर्चुअल प्लेटफार्म पर स्कूल प्रार्थना, सर्वधर्म प्रार्थना व विश्व शान्ति प्रार्थना से ‘इण्टरनेशनल डे ऑफ़  एजूकेशन’ का विधिवत शुभारम्भ हुआ। इस अवसर पर देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने एक अनूठे अंदाज में अपना परिचय प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। समारोह में एक से बढ़कर एक शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों जैसे कव्वाली, रिदमिक ड्रिल, यूनिटी इन डायवर्सिटी, हैप्पी स्कूल आदि की शानदार प्रस्तुतियों ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि यह शैक्षिक समारोह छात्रों के व्यक्तित्व विकास की दिशा में एक सार्थक पहल है। सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने कहा कि इस समारोह ने छात्रों के अन्दर छिपी प्रतिभा को नये आयाम दिये हैं और उसे अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्थापित किया है। सी.एम.एस. के चीफ एक्जीक्यूटिव आॅफीसर श्री रोशन गाँधी ने समारोह की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि यह छात्रों में कुछ नया करने का जज्बा जगायेगा। ‘इण्टरनेशनल डे आॅफ एजूकेशन’ की संयोजिका एवं सी.एम.एस. अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती संविदा अधिकारी ने सभी प्रतिभागी छात्रों व शिक्षकों का हार्दिक आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के दौरान ठप पड़ी शैक्षिक गतिविधियों में पारिवारिक सहयोग को बढ़ाने एवं छात्रों के मनोबल को बढ़ाने में यह समारोह अत्यन्त सफल साबित हुआ है।

            सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस अन्तर्राष्ट्रीय शैक्षिक समारोह की विभिन्न रोचक व ज्ञानवर्धक प्रतियोगिताओं हेतु देश-विदेश के 46 विद्यालयों के छात्रों ने बड़ी संख्या में अपनी प्रविष्टियाँ भेजी हैं, जिनमें ग्रूवी मूवी प्रतियोगिता हेतु एकल गायन की प्रस्तुतियाँ प्राप्त हुई हैं तो वहीं दूसरी ओर आर्टिस्ट्री प्रतियोगिता हेतु पारिवारिक गतिवधि जैसे बागवानी, चित्रकारी, कुकिंग, लघु नााटिका आदि की प्रस्तुतियां प्राप्त हुई हैं।  इसी प्रकार रिदमिक फ्यूजन प्रतियोगिता हेतु वाद्ययंत्र की प्रविष्टियाँ, इसेम्बल प्रतियोगिता हेतु समूह गायन की जबकि वीविंग योर सर्वाइवल प्रतियोगिता हेतु कोरोना से बचाव की प्रविष्टियाँ प्राप्त हुई हैं। श्री शर्मा ने बताया कि इन प्रतियोगिताओं के विजयी छात्रों की घोषणा कल 25 जनवरी को अपरान्हः 4.00 बजे आॅनलाइन समारोह में की जायेगी जबकि इससे पहले ‘द पाॅवर आॅफ वाॅइस (भाषण प्रतियोगिता)’ का आॅनलाइन आयोजन किया जायेगा।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top