राज्यउत्तर प्रदेश

साहित्यिक ज्ञान व कलात्मक प्रतिभा का आलोक बिखेरा प्रतिभागी छात्रों ने

साहित्यिक ज्ञान व कलात्मक प्रतिभा का आलोक बिखेरा प्रतिभागी छात्रों ने

साहित्यिक ज्ञान व कलात्मक प्रतिभा का आलोक बिखेरा प्रतिभागी छात्रों ने

Photo

लखनऊ, 6 फरवरी: सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) द्वारा आॅनलाइन आयोजित किये जा रहे पाँच दिवसीय साहित्यिक एवं साँस्कृतिक महोत्सव ‘यूफोरिया-2021’ के दूसरे दिन आज रूस, बांग्लादेश, नेपाल, शारजाह, कुवैत एवं भारत के विभिन्न राज्यों के मेधावी छात्रों ने वाद-विवाद, पेन्टिंग, क्विज, कविता पाठ एवं भाषण प्रतियोगिताओं में जोरदार प्रदर्शन कर अपने साहित्यिक ज्ञान व कलात्मक प्रतिभा का आलोख बिखेरा और दिखा दिया कि भावी पीढ़ी विश्व समाज का एक आदर्श स्वरूप गढ़ने को उत्सुक है। 21वीं सदी बदलाव की सदी है और वर्तमान दौर में विश्व भर के बच्चे नई-नई चीजें जानना व सीखना चाहते हैं, ऐसे में, इस प्रकार की प्रतियोगिताओं द्वारा ही छात्रों में विश्व बन्धुत्व एवं मानवीय गुणों का विकास संभव है।

            ‘यूफोरिया-2021’ के अन्तर्गत आज प्रतियोगिताओं का सिलसिला गीतांजलि (कविता पाठ) प्रतियोगिता से  हुआ। इस प्रतियोगिता में सीनियर वर्ग के छात्रों ने स्वचरित कविताओं से अपनी रचनात्मक सोच एवं वैश्विक दृष्टिकोण का प्रदर्शन किया, साथ ही साहित्यिक प्रतिभा व ज्ञान की अभूतपूर्व छाप छोड़ी। इसी प्रकार, सीनियर वर्ग के छात्रों के लिए आयोजित एक अन्य प्रतियोगिता मधुबनी म्यूसिंग्स (मधुबनी पेन्टिंग) में भी छात्रों की अभूतपूर्व प्रतिभा देखते ही बनती थी। इस प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्रों ने अपनी रचनाओं को बड़े की कलाकौशल से उभारा। प्रतिभागी छात्रों द्वारा बनाये गये कलाचित्रों को उनकी विविधता, रंग संयोजन, उपयोगिता एवं वास्तविक चित्रण के

आधार पर आंका गया।

            प्राइमरी एवं जूनियर वर्ग के छात्रों के लिए आयोजित वर्ड्स्मिथ (क्विज) प्रतियोगिता बेहद रोचक रही। आॅनलाइन आयोजित इस प्रतियोगिता में छात्रों का ज्ञान व अभिव्यक्ति क्षमता देखते ही बनती थी। प्रारम्भिक राउण्ड के उपरान्त छः छात्रों को फाइनल राउण्ड में प्रतिभा प्रदर्शन का अवसर मिला, जिन्होंने फेयरी टेल्स पर आधारित  कहानियों के जवाब दिये, जिसमें फेयरी टेल्स की कहानियों के पात्रों के नाम, मशहूर डायलाॅग, आडियो विजुअल राउण्ड, जम्बल वर्ड आदि प्रमुख रहे। प्रतिभागी छात्रों ने बिजली की गति से प्रश्नों के जवाब देकर अपनी अभूतपूर्व प्रतिभा का परचम लहराया।

            सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने कहा कि यह अन्तर्राष्ट्रीय महोत्सव बड़ी ही रचनात्मकता के साथ छात्रों में एकता का जज्बा जगा रहा है व वसुधैव कुटुम्बकम के आदर्श को साकार कर रहा है। श्री शर्मा ने बताया कि प्रतियोगिताओं का दौर कल भी जारी रहेगा। कल 7 फरवरी को सम्पन्न होने वाली प्रतियोगिताओं में अलंकरण (बुक कवर डिजाइनिंग), समुद्र मंथन (बिजनेस प्रजेन्टेशन), मीलेन्ज एवं तेनाली प्रश्नावली (क्विज) का प्रारम्भिक राउण्ड प्रमुख हैं, जिसमें देश-विदेश के प्रतिभाग छात्र अपनी-अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर स्वस्थ प्रतिस्पर्धा में भाग लेंगे।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top