राज्यउत्तर प्रदेश

लखनऊ का नाम रोशन करने वाली पौलोमी पावनी शुक्ला का सी.एम.एस. ने किया सम्मान

लखनऊ का नाम रोशन करने वाली पौलोमी पावनी शुक्ला का सी.एम.एस. ने किया सम्मान

लखनऊ का नाम रोशन करने वाली पौलोमी पावनी शुक्ला का सी.एम.एस. ने किया सम्मान

Photo

लखनऊ, 9 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल ने आज एक भव्य समारोह में अपने विद्यालय की छात्रा पौलोमी पावनी शुक्ला को सार्वजनिक तौर पर सम्मानित किया, जिन्होंने अनाथ बच्चों की शिक्षा-दीक्षा एवं उनके जीवन की बेहतरी के लिए सर्वोत्कृष्ट योगदान कर लखनऊ का नाम अन्तर्राष्ट्रीय फलक पर गौरवान्वित किया है। इस पुनीत कार्य हेतु पौलोनी को अभी हाल ही में ‘फोब्र्स इंडिया 30 अण्डर 30’ की विशिष्ट सूची में शामिल किया गया है। आज सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) आॅडिटोरियम में आयोजित एक सम्मान समारोह में पौलोमी को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी, सी.एम.एस. गोमती नगर कैम्पस की वरिष्ठ प्रधानाचार्या सुश्री मंजीत बत्रा, सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती संगीता बनर्जी समेत कई गणमान्य नागरिक व बड़ी संख्या में छात्र उपस्थित थे। विदित हो कि विश्व प्रतिष्ठित मैगजीन ‘फोब्र्स’ प्रतिवर्ष ऐसी 30 विशष्टि हस्तियों की सूची जारी करती है, जिनकी उम्र 30 वर्ष से कम है और जिन्होंने अपने क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

            पौलोमी पावनी शुक्ला सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की अत्यन्त प्रतिभाशाली छात्रा रही हैं जिन्होंने वर्ष 2008-09 में 94.25 प्रतिशत अंकों के साथ आई.एस.सी. (कक्षा-12) की परीक्षा उत्तीर्ण की। पौलोमी पढ़ाई के साथ ही विद्यालय के सामाजिक जागरूकता के कार्यक्रमों में सदैव अग्रणी रही है। वह अपने विद्यालय की हेड गर्ल भी रही। स्कूली शिक्षा के उपरान्त गरीब व अनाथ बच्चों के हित में अतुलनीय कार्य कर पौलमी ने देश की एक प्रख्यात स्वयंसेवी के रूप में अपनी पहचान स्थापित की है। वे उच्चतम न्यायालय में अधिवक्ता है और अनाथ बच्चों को शिक्षा और अधिकार दिलवाने के लिए लगातार प्रयास कर रही हैं। उनके प्रयासों से कई राज्यों में अनाथ बच्चों की बेहतरी के लिए कदम उठाये गये। उन्होंने अनाथ बच्चों की दुर्दशा पर वर्ष 2015 में ‘वीकेस्ट आॅन अर्थ - आरफन्स आॅफ इण्डिया’ पुस्तक लिखी। पौलोमी पावनी शुक्ला वरिष्ठ आई.ए.एस. अधिकारी श्री प्रदीप शुक्ला व श्रीमती आराधना शुक्ला की पुत्री हैं।

            सम्मान समारोह में पौलोमी को सम्मानित करते हुए सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि ‘फोब्र्स इंडिया 30 अण्डर 30’ की सूची में सी.एम.एस. छात्रा का चयनित होना पूरे सी.एम.एस. परिवार के लिए गर्व का विषय है। पौलोमी ने सामाजिक दायित्व के अपने कार्यों से लखनऊ का नाम रोशन किया है। पौलोमी को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए डा. गाँधी ने कहा कि सी.एम.एस. छात्र आज सिर्फ देश में ही नहीं अपितु विश्व के कई देशों में उच्चपदों पर आसीन होकर विभिन्न क्षेत्रों में भारत का नाम रोशन कर रहे हैं, साथ ही ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ व ‘जय जगत’ की भावना का विस्तार भी कर रहे हैं।

            इस अवसर पर पौलोमी पावनी शुक्ला ने अपने संबोधन में कहा कि मेरी सफलता में सी.एम.एस. का महत्वपूर्ण योगदान है। पढ़ाई के साथ ही सी.एम.एस. में मुझे अपने देश के लिए, समाज के लिए कुछ करने की प्रेरणा मिली, उसी ने मुझे गरीब व अनाथ बच्चों की मदद करने को प्रेरित किया। विद्यालय के विभिन्न कार्यक्रमों में डा. जगदीश गाँधी जी के प्रेरक संबोधनों ने मुझे नई राह दिखाई और हौसला दिया। उन्होंने छात्रों से अपील की कि वे  सामाजिक जागरूकता के कार्यक्रमों में अग्रणी भूमिका निभायें और लोगों की भलाई व समाजिक उत्थान में अपनी रचनात्मक ऊर्जा लगायें।

 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

Facebook

To Top