राज्यउत्तर प्रदेश

छात्रों में प्रारम्भ से ही वैज्ञानिक, मानवीय एवं विश्वव्यापी दृष्टिकोण विकसित करें- डा. दिनेश शर्मा

छात्रों में प्रारम्भ से ही वैज्ञानिक, मानवीय एवं विश्वव्यापी दृष्टिकोण विकसित करें- डा. दिनेश शर्मा

छात्रों में प्रारम्भ से ही वैज्ञानिक, मानवीय एवं विश्वव्यापी दृष्टिकोण विकसित करें- डा. दिनेश शर्मा

Photo

लखनऊ, 1 मार्च: सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस) द्वारा ‘नेशनल साइंस डे’ के उपलक्ष्य में आयोजित दो-दिवसीय आॅनलाइन विज्ञान एवं कम्प्यूटर महोत्सव ‘विस्टा-2021’ के समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह में बोलते हुए मुख्य अतिथि डा. दिनेश शर्मा, उप-मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश ने शिक्षकों व अभिभावकों का आह्वान किया कि छात्रों में प्रारम्भ से ही वैज्ञानिक, मानवीय एवं विश्वव्यापी दृष्टिकोण विकसित करें। विज्ञान के बिना विकास की राह में आगे नहीं बढ़ा जा सकता है। उन्होंने ‘नेशनल साइंस डे’ के उपलक्ष्य में आयोजित ‘विस्टा-2021’ की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि युवा पीढ़ी का विश्वव्यापी वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने में इस प्रकार के विज्ञान महोत्सव की महत्वपूर्ण भूमिका है।

            विज्ञान एवं कम्प्यूटर महोत्सव ‘विस्टा-2021’ के समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह में रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक प्रस्तुतियों के बीच विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजयी छात्रों को सम्मानित किया गया। नट्स एण्ड बोल्ट्स माडल मेकिंग प्रतियोगिता के नान-वर्किंग माडल की कैटेगरी में डब्ल्यू.एच. स्मिथ मेमोरियल स्कूल के कौस्तुभ गुप्ता ने प्रथम पुरस्कार अर्जित कर अपने ज्ञान-विज्ञान का परचम लहराया तो वहीं दूसरी ओर वर्किंग माडल कैटगरी में सी.एम.एस. महानगर कैम्पस के देवज्ञ श्रीवास्तव ने प्रथम पुरस्कार अर्जित कर बाजी मारी। इसी प्रकार, ‘द फास्ट एण्ड क्यूरियस क्विज’ प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) की छात्र टीम सत्यम जेना एवं अर्चित श्रीवास्तव ने जीता जबकि ‘टेक्नोविज प्रतियोगिता’ में सी.एम.एस. अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) के छात्र हिमांशु सिंह एवं सी.एम.एस. जाॅपलिंग रोड कैम्पस की नूरिया आबिदी ने संयुक्त रूप से प्रथम पुरस्कार अर्जित किया।

            इस अवसर पर प्रतिभागी छात्रों को आशीर्वाद देते हुए सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि प्रतिभागी छात्रों ने अपने ज्ञान-विज्ञान के प्रदर्शन व विश्वव्यापी दृष्टिकोण से सुखद अहसास कराया है कि निश्चित ही यह छात्र एक नये समाज की रचना करेंगे। अब समय आ गया है कि छात्र शक्ति मिलकर पूरे विश्व को एकता के सूत्र में पिरायें क्योंकि आदर्श समाज की स्थापना का सारा दारोमदार अब इन्हीं होनहार कंधो पर है। सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने कहा कि मानवतावादी वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ही विश्व समाज में रचनात्मक बदलाव लाया जा सकता है। इसी सोच से प्रेरित होकर सी.एम.एस. शुरू से ही अपने छात्रों को वैश्विक दृष्टिकोण प्रदान कर रहा है।

            सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) की वरिष्ठ प्रधानाचार्या श्रीमती ज्योति कश्यप ने कहा कि इस दो दिवसीय विज्ञान महोत्सव में छात्रों ने न सिर्फ अपने ज्ञान-विज्ञान का प्रदर्शन किया अपितु विश्व समाज की खुशहाली व बेहतरी के लिए अपनी जागरूकता को भी दर्शाया है। यही छात्र आगे चलकर रचनात्मक विचारों व लोक-कल्याण के कार्यों से देश का नाम रोशन करेंगे। समारोह के अन्त में सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती शिवानी सिंह ने सभी के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

Facebook

To Top