राज्यउत्तर प्रदेश

भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना में सी.एम.एस. के सात छात्र चयनित

भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना में सी.एम.एस. के सात छात्र चयनित

भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना में सी.एम.एस. के सात छात्र चयनित

Photo

लखनऊ, 17 मार्च। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के सात छात्रों ने भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (के.वी.पी.वाई फेलोशिप) के प्रथम चरण में चयनित होकर विद्यालय का नाम रोशन किया है। इन छात्रों में सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के छात्र नमन मिश्रा ने कुल चयनित 2800 छात्रों में अखिल भारतीय स्तर पर 146वीं रैंक अर्जित की है जबकि अन्य छात्रों में सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के सहर्ष सक्सेना, आर्यन वर्मा एवं रजत श्रीवास्तव, सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस से देवांश बंसल, सी.एम.एस. महानगर कैम्पस से शैलेष अग्रवाल एवं सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) से कनिष्क शामिल हैं। सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने सी.एम.एस. छात्रों की सफलता पर हार्दिक प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि सी.एम.एस. अपने सभी छात्रों को स्कूली शिक्षा के अलावा निःशुल्क कोचिंग की सुविधा प्रदान कर प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता अर्जित करने का स्वर्णित अवसर उपलब्ध करा है, साथ ही, विदेशों के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में भी उच्चशिक्षा प्राप्त करने के अवसर उपलब्ध करा रहा है।

            सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि यह फेलोशिप विद्यालयों तथा स्नातक स्तर के छात्रों को रिसर्च कैरियर अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु भारत सरकार के विज्ञान एवं तकनीकी विभाग की एक अत्यन्त ही महत्वाकांक्षी योजना है जिसका संयोजन भारतीय विज्ञान संस्थान, बंगलोर द्वारा किया जाता है। इस फेलोशिप हेतु चयनित छात्रों को विज्ञान वर्ग में स्नातक तक की पढ़ाई के दौरान प्रति माह रू. 5,000/- स्काॅलरशिप तथा आकस्मिक खर्चे के रूप में रू. 20,000/- वार्षिक प्रदान किये जाते हैं। इसके उपरान्त, एम.एस.सी. स्तर की पढ़ाई के दौरान प्रति माह रू. 7,000/- स्काॅलरशिप तथा आकस्मिक खर्चे के रूप में रू. 28,000/- वार्षिक प्रदान किये जाते हैं। इस प्रकार, के.वी.पी.वाई फेलोशिप के अन्तर्गत चयनित छात्रों को भारत सरकार द्वारा पाँच वर्षों की उच्चशिक्षा अवधि के दौरान रु. 4,64,000/- रूपये की स्काॅलरशिप प्रदान की जाती है। इस फेलोशिप की चयन प्रक्रिया के अन्तर्गत अत्यन्त मेधावी छात्रों का एप्टीट्यूट टेस्ट एवं इण्टरव्यू लिया जाता है। इस योजना में चयनित छात्र अपना आई.डी. कार्ड दिखाकर देश की किसी भी प्रसिद्ध नेशनल लेब्रोटरी, विश्वविद्यालय, लाइब्रेरी की सुविधा निःशुल्क प्राप्त कर सकता है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top