शिक्षा

सी.एम.एस. जॉपलिंग रोड कैम्पस द्वारा इण्टरनेशनल डे ऑफ टॉलरेन्स का आयोजन

सी.एम.एस. जॉपलिंग रोड कैम्पस द्वारा इण्टरनेशनल डे ऑफ टॉलरेन्स का आयोजन

सी.एम.एस. जॉपलिंग रोड कैम्पस द्वारा इण्टरनेशनल डे ऑफ टॉलरेन्स का आयोजन

Photo

लखनऊ, 23 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, जॉपलिंग रोड कैम्पस द्वारा ‘इण्टरनेशनल डे ऑफ टॉलरेन्स’ का आयोजन आज सायं सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में किया गया। इस अवसर पर विद्यालय के छात्रों ने ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ का रंग बिखेरते शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों द्वारा एकता, शान्ति, सौहार्द व सद्भाव की भावना को सारे विश्व में प्रवाहित किया, साथ ही ‘मॉडल यूनाईटेड नेशन्स (एम.यू.एम.)’ के शानदार प्रस्तुतिकरण द्वारा विश्व की ज्वलन्त समस्याओं पर अपने सारगर्भित विचार प्रस्तुत किये। विदित हो कि विश्व समाज में एकता, शान्ति, सौहार्द व सहिष्णुता की भावना को बढ़ावा देने के लिए यूनेस्को द्वारा प्रतिवर्ष 16 नवम्बर को ‘इण्टरनेशनल डे ऑफ टॉलरेन्स’ मनाया जाता है। इस कार्यक्रम के अन्तर्गत सी.एम.एस. जॉपलिंग रोड कैम्पस द्वारा छात्रों में सहिष्णुता की भावना को बढ़ावा देने हेतु कविता, भाषण, वाद-विवाद एवं स्लोगन राइटिंग जैसी रोचक प्रतियोगिताएं आयोजित की गई।

इससे पहले, मुख्य अतिथि के रूप में पधारी पद्मश्री सुश्री परवीन तलहा, आई.ए.एस. (रिटा.) ने दीप प्रज्वलित कर ‘इण्टरनेशनल डे ऑफ टॉलरेन्स’ समारोह का विधिवत उद्घाटन किया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में सुश्री तलहा ने कहा कि भावी पीढ़ी के कंधों पर ही भविष्य के समाज का दारोमदार है, ऐसे में जैसी शिक्षा व संस्कार बच्चों को बचपन में दिये जायेंगे, उसी के अनुरूप आगे चलकर वे समाज निर्माण में अपनी भागादारी निभायेंगे। सुश्री तलहा ने विश्वास व्यक्त किया कि यह समारोह सिर्फ बच्चों को ही नहीं अपितु बड़ों को भी सहिष्णुता की भावना और उसके महत्व से अवगत कराने में महत्वपूर्ण है।

समारोह का शुभारम्भ स्कूल प्रार्थना, स्वागत गान एवं वन्दे मातरम् से हुआ। इसके साथ ही सर्व-धर्म प्रार्थना एवं प्रार्थना नृत्य की प्रस्तुतियों ने सम्पूर्ण ऑडिटोरियम में आध्यात्मिक उल्लास से सराबोर कर दिया। इसके उपरान्त, समूह गान, नुक्कड़ नाटिका ‘हम ही औषधि, हम ही मूल’, माता-पिता को समर्पित कव्वाली, माताओं द्वारा प्रस्तुत समूह गान आदि विभिन्न कार्यक्रमों ने उपस्थित दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

इस अवसर पर अपने सम्बोधन में सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि  इस आयोजन के पीछे हमारा उद्देश्य विश्व के ढाई अरब से अधिक बच्चों के मस्तिष्क में उच्च आदर्शो से ओत-प्रोत नये विचारों को भरना है। इन्हीं रचनात्मक विचारों से मानवजाति की सारी समस्याओं के हल मिल जायेंगे और धरती को स्वर्ग बनाने का सपना साकार होगा। सी.एम.एस. जॉपलिंग रोड की प्रधानाचार्या सुश्री रोली त्रिपाठी ने सभी आगन्तुकों व अभिभावकों का स्वागत करते हुए कहा कि आदर्श समाज की अवधारणा तभी सम्भव होगी जब हम अपने छात्रों में वैज्ञानिक सोच व नवप्रवर्तन की भावना जागृत करें। यह समारोह छात्रों की सृजनशीलता को बढ़ावा देने के साथ ही उनमें एकता, शान्ति व सद्भाव की भावना को विकसित करने में सफल साबित हुआ है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top