राष्ट्रीय

पटेल बनते प्रधानमंत्री तो किसानों की ये हालत न होती : PM मोदी

पटेल बनते प्रधानमंत्री तो किसानों की ये हालत न होती : PM मोदी

पटेल बनते प्रधानमंत्री तो किसानों की ये हालत न होती : PM मोदी

Photo

हनुमानगढ़, राजस्थान। PM नरेंद्र मोदी ने राजस्थान विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान एक बार फिर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है। राजस्थान के हनुमानगढ़ में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए PM मोदी ने कहा कि अगर कांग्रेस नेताओं का विभाजन के वक्त विजन होता तो करतारपुर पाकिस्तान के हिस्से में नहीं जा पाता।

मोदी जी ने कहा कि विभाजन के वक्त अगर कांग्रेस के नेताओं ने जरा सी भी समझदारी, संवेदशीलता और गंभीरता दिखाई होती तो करतारपुर कभी भारत से अलग होकर पाकिस्तान में शामिल नहीं हो पाता।

PM मोदी ने पूछा कि क्यों कांग्रेस को 1947 में याद नहीं आया की करतारपुर हिन्दुस्तान में होना चाहिए? आज अगर करतारपुर कॉरिडोर बन रहा है तो इसका क्रेडिट मोदी को नहीं बल्कि देश की जनता के वोट को जाता है।

ज्ञात हो कि BJP से कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू की पाकिस्तान यात्राओं से गरमाए करतारपुर कॉरिडोर के मुद्दे पर दोनों पार्टियों के बीच खूब रस्साकशी मची है। पाकिस्तान से नरम रवैया अपनाने के लिए BJP ने सिद्धू पर सवाल खड़े किए हैं, वहीं सिद्धू ने भी सीधे-सीधे PM पर हमला बोला है। आखिर अब PM ने इस पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए अपनी बात राखी है।

पीएम ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि सत्ता के मोह को समझा जा सकता है लेकिन सत्ता और राजगद्दी के मोह में कांग्रेस ने जो गलतियां की उन्हें आज तक भुगतना पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कांग्रेस की हर बड़ी गलती को ठीक करने का काम मेरे नसीब में आया है और मेरा नसीब मेरी हाथ की लकीरों ने नहीं बल्कि सवा सौ करोड़ देशवासियों के हाथ में है।

PM मोदी ने किसानों की खराब हालत का क्रेडिट कांग्रेस को सौप दिया है। उन्होंने कहा कि "कांग्रेस की गलत नीतियों और पापों का ही परिणाम है कि देश के किसानों को मुसीबत झेलनी पड़ रही है। अगर एक किसान का बेटा, सरदार पटेल देश के पहले प्रधानमंत्री बने होते तो किसानों की ऐसी हालत आज नहीं होती।"

बता दें कि राजस्थान में 200 विधानसभा सीटों के लिए 7 दिसंबर को मतदान होगा। इसी दिन तेलंगाना में भी वोटिंग होगी। इनकी मतगणना मध्य प्रदेश, मिजोरम और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के साथ 11दिसंबर को होगी। तो हर राजनीतिक पार्टी अपना अपना वोट बैंक मजबूत करने की कोशिशों में जुटी हुईं हैं। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top