राष्ट्रीय

कल रात Mr. 56 ने CBI डायरेक्टर को हटा दिया क्योंकि CBI राफेल सौदे पर सवाल उठा रही थी : राहुल गांधी

कल रात Mr. 56 ने CBI डायरेक्टर को हटा दिया क्योंकि CBI राफेल सौदे पर सवाल उठा रही थी : राहुल गांधी

कल रात Mr. 56 ने CBI डायरेक्टर को हटा दिया क्योंकि CBI राफेल सौदे पर सवाल उठा रही थी : राहुल गांधी

Photo

राफेल मुद्दे को लेकर CBI में मचे घमासान के बीच मोदी सरकार ने CBI मुखिया आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना दोनों को छुट्टी पर भेज दिया है. जिसे लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला बोला है. राहुल गांधी ने कहा कि कल रात चौकीदार ने CBI डायरेक्टर को हटा दिया क्योंकि CBIराफेल सौदे पर सवाल उठा रही थी।

बता दें कि विधानसभा चुनाव की बढ़ती सरगर्मी के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को राजस्थान के दो दिवसीय दौर पर पहुंचे। उन्होंने राज्य के झालवाड़ में जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। कांग्रेस अध्यक्ष ने CBI कांड को राफेल मुद्दे से जोड़ते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कई सवाल उठाए।

राहुल ने तंज कसते हुए कहा कि कल रात देश के चौकीदार ने CBI डायरेक्टर को हटा दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि CBI चीफ राफेल सौदे के पेपर इकट्ठा कर रहे थे, इसी जांच के डर से उनकी छुट्टी कर दी गई। 

बता दें कि CBI मुखिया आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना दोनों को छुट्टी पर भेजने पर समूचा विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर हो गया है. इस पर सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने भी मोदी सरकार पर हमला बोला है. उनका दावा है कि शायद राफेल की आंच से बचने के लिए सरकार ने आलोक वर्मा को हटाया है। 

प्रशांत भूषण का कहना है कि CBI डायरेक्टर को गलत तरीके से हटाया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने तय किया था कि CBI डायरेक्टर का टर्म दो साल का फिक्स होगा और सिर्फ सेलेक्शन कमेटी ही CBI डायरेक्टर को हटा सकता है. मैं शुक्रवार को एक याचिका दायर करूंगा।

वहीं इस घमासान पर केंद्र सरकार ने अपना बचाव किया है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि केन्द्र सरकार का दायित्व सिर्फ सुपरवीजन का है. अरुण जेटली ने कहा कि CBI में जो भी हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण है. आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेजे जाने के फैसले की आलोचना के जवाब में जेटली ने कहा कि सीवीसी की सिफारिश के आधार पर ही उन्हें छुट्टी पर भेजा गया है. सीवीसी के पास मामले की जांच करने का अधिकार है और उसके पास सारे कागजात हैं। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top