उत्तर प्रदेश

महिला दिवस पर महिलाओ के लिए रेलवे का बड़ा फैसला

महिला दिवस पर महिलाओ के लिए रेलवे का बड़ा फैसला

महिला दिवस पर महिलाओ के लिए रेलवे का बड़ा फैसला

Photo

उत्तर मध्य रेलवे ने महिला दिवस पर बड़ा फैसला करते हुए महिला सशक्तिकरण की दिशा में प्रशंसनीय कदम बढ़ाया है। बेटियों के हौसले को उड़ान देने के लिए उत्तर मध्य रेलवे ने इलाहाबाद के बमरौली रेलवे स्टेशन की कमान बेटियों को सौपे जाने की घोषणा की है, साथ ही कानपुर के गोविंदपुरी रेलवे स्टेशन की भी पूरी जिम्मेदारी महिलाओं को ही सौंपी जा रही है।

गुलाबी रंग में होगें रेलवे स्टेशन
इलाहाबाद के बमरौली रेलवे स्टेशन पर सिर्फ महिलाएं ही तैनात रहेंगी और स्टेशन को गुलाबी रंग में रंगा जाएगा। इस घोषणा से आधी आबादी के प्रतिनिधित्व को जहां हौसला मिलेगा, वहीं आने वाले समय में बेटियों के लिये आदर्श माहौल भी बनेगा। अब बमरौली रेलवे स्टेशन पर जब आप जायेंगे तो वहां आपको सिर्फ महिला रेलकर्मी ही तैनात नजर आयेंगी। हालांकि महिलाओं की तैनाती में अभी एक महीने का वक्त और लग सकता है। इलाहाबाद मंडल के कानपुर स्टेशन के गोविंदपुरी रेलवे स्टेशन को भी इसी कड़ी से जोड़ा गया है और यहां भी केवल महिला रेलकर्मी ही तैनात होंगी। वही डीआरएम एसके पंकज ने बताया कि आज महिला दिवस पर यह सकारात्मक कदम हम सबके लिए गर्व का विषय है। 

क्या है बड़ा बदलाव
आपको बता दें कि पिछले वर्ष जुलाई महीने के दौरान मध्य रेलवे के मुंबई स्थित माटुंगा रेलवे स्टेशन पर सबसे पहले यह बदलाव देखने को मिला था। रेलवे ने जबरदस्त पहल करते हुए माटुंगा को देश का पहला ऐसा स्टेशन बना दिया है जहां पर काम करने वाली सभी कर्मचारी महिलाएं हैं। इस वजह से यह रेलवे स्टेशन लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जगह पाने में सफल रहा है। पिछले महीने पश्चिमी रेलवे ने जयपुर के गांधीनगर स्टेशन की कमान भी बेटियों को दी थी और अब उसी कड़ी को उत्तर मध्य रेलवे में बढ़ाया जा रहा है। इलाहाबाद मंडल के दो स्टेशन बमरौली और गोविंदपुरी की कमान बेटियों के हाथ में सौंपी जा रही है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

Facebook

To Top