अर्थव्यवस्था

अंबानी और पूर्व IAS ने निभाई jio इंस्टिट्यूट को प्रतिष्ठित संस्थान का दर्जा दिलाने में भूमिका

अंबानी और पूर्व IAS ने निभाई jio इंस्टिट्यूट को प्रतिष्ठित संस्थान का दर्जा दिलाने में भूमिका

अंबानी और पूर्व IAS ने निभाई jio इंस्टिट्यूट को प्रतिष्ठित संस्थान का दर्जा दिलाने में भूमिका

Photo

प्रस्तावित जियो इंस्टीट्यूट को सरकार द्वारा इंस्टीट्यूट ऑफ एमिनेंस का दर्जा दिए जाने को लेकर हंगामा मचा हुआ है. इकनोमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट की माने तो जियो इंस्टिट्यूट को प्रतिष्ठित संस्थान का दर्जा दिलाये जाने के लिए खुद रिलायंस इंडस्ट्रीज के सीएमडी मुकेश अंबानी ने चयन कमेटी के सामने प्रजेंटेशन दिया था I 

रिपोर्ट के अनुसार उनके साथ विनय शील ओबरॉय मौजूद थे. जो मानव संसाधन विकास मंत्रालय में उच्च शिक्षा सचिव के पद पर रह चुके हैं और रिटायर होने के बाद ओबेरॉय ने रिलायंस ज्वाइन किया था I

रिपोर्ट के अनुसार ओबरॉय के नेतृत्व में 8 सदस्यों की एक टीम पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एन गोपालस्वामी की अध्यक्षता वाली एंपावर्ड एक्सपर्ट कमिटी के सामने प्रजेंटेशन आयी. हालांकि कमेटी के हर सवाल जा जवाब खुद मुकेश अंबानी ने दिया. जब वर्ल्ड क्लास इंस्टीट्यूट्स या इंस्टीट्यूट्स ऑफ एमिनेंस की स्कीम की घोषणा केंद्रीय बजट में की गई थी तब ओबेरॉय खुद एचआरडी मिनिस्ट्री में कार्यरत थे I

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top