मुद्दा

धारा- 377 पर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई से पहले बोले सुब्रमण्यम स्वामी

धारा- 377 पर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई से पहले बोले सुब्रमण्यम स्वामी

धारा- 377 पर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई से पहले बोले सुब्रमण्यम स्वामी

Photo

बीजेपी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने मंगलवार को एक विवादित बायान में कहा कि संमलैंगिक होना साधारण नहीं है, ये हिंदुत्व के विरुद्ध है और इस पर मेडिकल रिसर्च की मदद से इससे छुटकारा पाया जा सकता है I

 उन्होंने न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा कि ‘समलैंगिक होना कोई साधारण चीज नहीं है. हम इसका स्वागत नहीं कर सकते. ये हिंदुत्व के खिलाफ है. मेडिकल रिसर्च की मदद से इसे खत्म किए जाने पर विचार हो I

स्वामी ने ये तब कहा जब सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच IPS की धारा- 377 के खिलाफ पिटीशन पर सुनवाई शुरू करने जा रही थी. सेक्शन- 377 के तहत समलैंगिक यौन संबंधों को अपराध बताया गया है I

लेस्बियन, गे या ट्रांस्जेंडर के अधिकारों के लिए सेक्शन- 377 के खिलाफ याचिका दायर की गई है. इस साल मई में कोर्ट ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के एलजीबीटी एलूमनाई एसोशिएशन द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करने का फैसला किया था I

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top