राष्ट्रीय

झूठ बोल रही है सरकार, भ्रष्टाचार पर मोदी चौकीदार नहीं,बल्कि भागीदार हैं : राहुल

झूठ बोल रही है सरकार, भ्रष्टाचार पर मोदी चौकीदार नहीं,बल्कि भागीदार हैं : राहुल

झूठ बोल रही है सरकार, भ्रष्टाचार पर मोदी चौकीदार नहीं,बल्कि भागीदार हैं : राहुल

Photo

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को सरकार पर राफेल सौदे के ब्यौरे साझा करने के मुद्दे पर देश से ‘‘झूठ’’ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कथित भ्रष्टाचार के मामलों में ‘‘भागीदार’’ हैं, ‘‘चौकीदार’’ नहीं।  लोकसभा में राजग सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान राहुल ने अपने भाषण में कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने एक बैठक के दौरान उनसे साफ साफ कहा था कि 58,000 करोड़ रुपए के राफेल लड़ाकू विमान से संबंधित ब्यौरे साझा करने में कोई दिक्कत नहीं है।

राहुल गांधी की टिप्पणी के कुछ ही घंटे बाद फ्रांस के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि भारत के साथ 2008 में किया गया सुरक्षा समझौता गोपनीय है और दोनों देशों के बीच रक्षा उपकरणों की संचालन क्षमताओं के संबंध में इस गोपनीयता की रक्षा करना कानूनी रूप से बाध्यकारी है। हालांकि उन्होंने यह साफ नहीं किया कि क्या समझौते के प्रावधान भारत सरकार को राफेल सौदे से जुड़े कीमत के ब्यौरे का खुलासा करने से रोकते हैं।

कांग्रेस राफेल सौदे में भ्रष्टाचार का आरोप लगाती रही है और उपकरण एवं हथियारों की कीमत सहित उससे जुड़े ब्यौरे मांगती रही है लेकिन सरकार फ्रांस के साथ गोपनीय समझौते का हवाला देते हुए ब्यौरे साझा करने से इनकार करती रही है। राहुल ने कथित भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सरकार पर करारा हमला करते हुए मोदी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘‘मैं उन्हें मुस्कुराते देख सकता हूं। घबराहट की झलक है। वह दूर देख रहे हैं, मेरी आंखों में नहीं देख रहे।

राहुल की इस टिप्पणी पर सत्ता पक्ष से विरोध तेज हो गया जिसके बाद विपक्षी सदस्यों ने अपनी सीट से खड़े होकर उनका सामना किया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि स‘चाई यह है कि मोदी कारगुजारियों में‘‘चौकीदार’’ नहीं बल्कि ‘‘भागीदार’’ हैं। राहुल ने कहा, ‘‘मैं फ्रांस के राष्ट्रपति से व्यक्तिगत रूप से मिला और पूछा कि क्या फ्रांस और भारत सरकार बीच इस तरह का कोई समझौता है क्या।

उन्होंने मुझसे कहा कि दोनों सरकारों के बीच ऐसा कोई समझौता नहीं है। उन्होंने कहा कि  यही सच्चाई है और उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे (राफेल सौदे के) ब्यौरे सार्वजनिक करने पर कोई आपत्ति नहीं है, आप यह पूरे भारत को बता सकते हैं। राहुल ने कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण प्रधानमंत्री के दबाव में देश से झूठ बोल रही हैं।

उन्होंने कहा कि किसकी मदद की जा रही है, क्यों की जा रही है, निर्मलाजी, प्रधानमंत्री देश को बताएं। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस आरोप को पूरी तरह गलत करार दिया कि राफेल विमान सौदे के संदर्भ में फ्रांस और भारत के बीच गोपनीयता का कोई समझौता नहीं हुआ है। सीतारमण ने कहा कि लड़ाकू विमान खरीदने के लिए भारत और फ्रांस के बीच 2008 में समझौता हुआ था।

उन्होंने कहा, यह गोपनीयता का समझौता है। गोपनीय सूचना को सार्वजनिक नहीं करने के लिए समझौता था। मुझे जानकारी नहीं है कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने राहुल गांधी से क्या कहा था। परंतु फ्रांस के राष्ट्रपति ने दो भारतीय चैनलों को दिए साक्षात्कार में कहा था कि राफेल सौदे के वाणिज्यिक ब्यौरे को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने जो कहा है वह पूरी तरह गलत है और इसका कोई आधार नहीं है। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top