होम BJP नेता ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल, कहा- मंत्रियों की भी नहीं सुनती यूपी की नौकरशाही सरकार

राज्यउत्तर प्रदेश

BJP नेता ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल, कहा- मंत्रियों की भी नहीं सुनती यूपी की नौकरशाही सरकार

BJP के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य व पूर्व विधायक सिंह ने आरोप लगाया कि योगी सरकार को नौकरशाह चला रहे हैं, सरकार में नौकरशाही मंत्रियों तक को तवज्जो नहीं देती।

BJP नेता ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल, कहा- मंत्रियों की भी नहीं सुनती यूपी की नौकरशाही सरकार

BJP नेता ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल, कहा- मंत्रियों की भी नहीं सुनती यूपी की नौकरशाही सरकार 

उत्तर प्रदेश: यूपी मे सभी राजनीतिक पार्टियां विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियों मे जोर शोर से लगी हुई हैं सभी नेता अपनी अपनी पार्टीयों का प्रतिनिधित्व कर रही है। वही भारतीय जनता पार्टी (BJP) की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य एवं पूर्व विधायक राम इकबाल सिंह अपनी ही पार्टी की कड़े शब्दों में आलोचना कर रहे हैं। उन्होंने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए दावा किया है कि राज्य सरकार को नौकरशाह चला रहे हैं तथा जन प्रतिनिधियों से लेकर पार्टी नेताओं को नौकरशाही तवज्जो नहीं देती। इससे पहले इकबाल सिंह ने आठ अगस्त को तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के चल रहे आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा था कि राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए भाजपा नीत केन्द्र सरकार इन कानूनों को वापस ले सकती है। 

BJP के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य व पूर्व विधायक सिंह ने आरोप लगाया कि योगी सरकार को नौकरशाह चला रहे हैं, सरकार में नौकरशाही मंत्रियों तक को तवज्जो नहीं देती। उन्होंने कहा कि पहले मंत्रियों से मुलाकात करने जिला प्रशासन के आला अधिकारियों को आना पड़ता था, अब स्थिति यह है कि मंत्रियों की अधिकारियों से मुलाकात तक नहीं हो पाती। उन्होंने कहा कि जन प्रतिनिधि से लेकर पार्टी नेताओं की स्थिति अत्यंत बदतर हो गई है और इनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही। 

किसान आंदोलन काो कर रहे समर्थन 

पूर्व विधायक सिंह ने कहा कि किसानों की मांगे सही हैं। विधानसभा चुनाव और किसानों में रोष को देखते हुए केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार इन कानूनों को वापस ले सकती है।'' उन्होंने कहा था कि कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शनों के चलते भाजपा के नेता पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गांवों में नहीं जा पा रहे हैं और आने वाले समय में किसान भाजपा के जन प्रतिनिधियों का घेराव भी कर सकते हैं।

पेगासस मामले मे भी कसा तंज 

उन्होंने कहा कि यदि विपक्ष चाहता है कि जासूसी कांड की जांच हो तो सरकार को इसकी जांच करानी चाहिए. यह सरकार की जिम्मेदारी है कि संसद का सत्र सुचारू रूप से चले। सिंह ने कोविड की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा की गई तैयारियों पर भी सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि सरकार ने दूसरी लहर से सबक नहीं लिया और मामलों से आगे निपटने के लिए कोई प्रभावी प्रबंध नहीं किए हैं

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Facebook, Twitter, व Google News पर हमें फॉलो करें और लेटेस्ट वीडियोज के लिए हमारे YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

Most Popular

(Last 14 days)

Facebook

To Top