होम Google ऑफिस के बाहर यौन उत्पीड़न के खिलाफ Google के हजारों कर्मचारियों ने उठाई आवाज

मुद्दा

Google ऑफिस के बाहर यौन उत्पीड़न के खिलाफ Google के हजारों कर्मचारियों ने उठाई आवाज

Google के हजारों कर्मचारियों ने Google के ऑफिस से बाहर निकल कर यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाई। इस विरोध की शुरुआत Google के सिलिकॉन वैली के ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारियों ने की। उसके बाद यह विरोध दूनिया भर में Google के कई ऑफिसों तक फैल गया. इस विरोध का मुख्य कारण था।

Google ऑफिस के बाहर यौन उत्पीड़न के खिलाफ Google के हजारों कर्मचारियों ने उठाई आवाज

Google के हजारों कर्मचारियों ने Google के ऑफिस से बाहर निकल कर यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाई।  इस विरोध की शुरुआत Google के सिलिकॉन वैली के ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारियों ने की।  उसके बाद यह विरोध दूनिया भर में Google के कई ऑफिसों तक फैल गया. इस विरोध का मुख्य कारण था।  कंपनी से यौन उत्पीड़न का मुद्दा नहीं संभाला जा रहा है. कंपनी के विरोध में कर्मचारियों ने अपने हाथों में बैनर ले रखे थे।  बैनरों पर कई संदेश लिखे थे।  कैलिफोर्निया में होने वाला वॉकआउट इस विरोध का आखिरी पड़ाव था।  जो विरोध एशिया में शुरू होने के बाद यूरोप के भी कई ऑफिसों तक पहुंचा। 

Google के सीईओ सुंदर पचई ने कहा कि कंपनी में इस समय गुस्सा और निराशा भरी हुई है. हम गूगल में हर चीज का स्तर बहुत ऊपर रखते हैं।  ये भी साफ है कि हम अपनी ही उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पा रहे. इस विरोध की शुरुआत तभी हो गई थी।  जब Google ने 48 कर्मचारियों को निकाले जाने की खबर दी. ऐसा एंडी रूबिन के निकाले जाने की खबर के बाद हुआ। 

उनके अनुसार, Google सभी कर्मचारियों से फीडबैक ले रहा है, ताकि विचारों को एक्शन में बदला जा सके। वे कहते हैं, "मैं समझता हूं कि आप सभी कैसा महसूस कर रहे होंगे। मैं भी इससे अलग नहीं सोचता और मैं समाज में लंबे वक्त से जड़ जमाए इस मुद्दे के खात्मे के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हूं और हां, गूगल में भी ये प्रतिबद्धता वही रहेगी।"

हालांकि, बुधवार को पूरे स्टाफ को किए गए इस ई-मेल से कर्मचारियों का गुस्सा कम होता नहीं दिखता। गुरुवार से शुरू वॉक आउट में तेजी से पूरी दुनिया के Google कर्मचारी जुड़ रहे हैं। लोगों के हाथों में अलग-अलग संदेश लिखे हुए हैं, जैसे Not OK google, don't be evil, Happy to quit for $90 million - no sexual harassment required.

#Metoo कैम्पेन के तहत यौन उत्पीड़न के दोषियों या आरोपियों को एग्जिट पैकेज देना महिलाओं के साथ असंवेदनशीलता से अलग नहीं। इस पर यकीन करने वाले लोगों ने ट्विटर पर मुहिम की शुरुआत की।

गुरुवार को दुनिया के बड़े हिस्से में वॉकआउट हुआ। जो कर्मचारी इसमें शामिल हुए, वे अपनी डेस्क पर साथियों के लिए नोट लिख छोड़ गए।

नोट में लिखा - "मैं अपनी डेस्क पर नहीं हूं, क्योंकि मैं यौन उत्पीड़न, दुर्व्यवहार, पारदर्शिता की कमी और कार्यस्थल की उस संस्कृति का विरोध में हूं जो हर किसी के लिए एक समान नहीं। इस असमानता के विरोध में मैं दूसरे गूगलर्स के साथ हूं।"

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top