सियासत

2019 लोकसभा चुनाव प्‍लान, WhatsApp को ऐसे चुनावी हथियार बनाएगी BJP

2019 लोकसभा चुनाव प्‍लान, WhatsApp को ऐसे चुनावी हथियार बनाएगी BJP

2019 लोकसभा चुनाव प्‍लान, WhatsApp को ऐसे चुनावी हथियार बनाएगी BJP

Photo

PM नरेंद्र मोदी ने करीब हफ्ते पहले बीजेपी के तीन बड़े नेताओं के साथ एक अहम बैठक ले रहे थे। यह मीटिंग प्रधानमंत्री कार्यालय में हुई, जिसमें 2019 लोकसभा चुनाव के प्रचार से जुड़ा प्रेजेंटेशन PM नरेंद्र मोदी के सामने दिखाया गया। सूत्रों का हवाले से प्राप्त जानकारी के अनुसार, बैठक में PM मोदी को बताया गया कि कैसे पार्टी 'सेलफोन प्रमुख' के जरिए वॉट्सऐप को चुनावी हथियार के तौर पर इस्‍तेमाल करेगी। बीजेपी रणनीतिकारों ने हर बूथ/पोलिंग स्‍टेशन को लेकर पूरा चुनावी गणित तैयार किया है। 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी के चुनावी कैंपेन का पूरा दारोमदार होगा सेलफोन प्रमुखों पर।

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की रिपोर्ट के अनुसार, अगले लोकसभा चुनाव में बीजेपी 9 लाख 27 हजार 533 सेलप्रमुखों की पूरी फौज तैनात करने जा रही है। इनमें हर शख्‍स के पास एक स्‍मार्टफोन होगा।

मास्टरमाइंड अमित शाह ने तैयार किया है यह बूथ एक्‍शन प्‍लान, राज्‍य से मांगी खास सूची -

खबर के मुताबिक, 9 लाख 27 हजार 533 सेलप्रमुखों किस प्रकार से प्रचार की कमान संभालेंगे, इसका भी खाका तैयार है। कैंपेन के मैटीरियल में वीडियो, ऑडियो, टेक्‍स्‍ट, ग्राफिक्‍स और कार्टून। पार्टी के इस बूथ एक्‍शन प्‍लान को खुद BJP अध्‍यक्ष अमित शाह ने तैयार किया है। इस प्‍लान को जमीन पर उतारने के लिए अमित शाह ने पार्टी की राज्‍य ईकाइयों से हर पोलिंग स्‍टेशन के स्‍तर पर स्‍मार्टफोन यूज करने वाले मतदाताओं की लिस्‍ट मांगी है। यह लिस्‍ट जैसे ही तैयार होकर आ जाएगी, तभी दिल्‍ली के अशोक रोड स्थित हेडक्‍वार्टर में पार्टी का वॉररूम एक्टिव मोड में आ जाएगा।

हर पोलिंग स्‍टेशन पर तैयार होंगे तीन वॉट्सऐप ग्रुप -

रणनीति के मुताबिक, पार्टी सबसे पहले सेलफोन प्रमुखों की पहचान का काम कराएगी। इनकी पहचान पार्टी नेता- सांसद, विधायक, चुने हुए प्रतिनिधि और पार्टी के अधिकारियों के जरिए कराई जाएगी। फर्स्‍ट राउंड में यही काम प्रमुखता से होगा, क्‍योंकि यह बेहद जरूरी है कि सेलफोन प्रमुख बेहद भरोसेमंद हों। एक बार पहचान का कार्य पूरा हो जाएगा, उसके बाद प्रत्‍येक सेलफोन प्रमुख हर पोलिंग स्‍टेशन पर तीन वॉट्सऐप ग्रुप तैयार करेगा। प्‍लान के मुताबिक, प्रत्‍येक ग्रुप में 256 लोगों को जोड़ना होगा। किसी भी वॉट्सऐप ग्रुप में 256 अधिकतम संख्‍या होगी। हालांकि, कुछ पोलिंग स्‍टेशन ऐसे हैं, जहां संख्‍या कम है, ऐसी जगहों पर कम से कम एक वॉट्सऐप ग्रुप जरूर बनाया जाएगा।

वॉट्सऐप पर कुछ ऐसा मैटीरियल सर्कुलेट करेगी BJP -

कुल मिलाकर BJP अगला लोकसभा चुनाव वॉट्सऐप का हथियार बनाकर लड़ेगी। इसके लिए तैयारी चल रही हैं और कैंपेन जनवरी में शुरू हो जाएगा। भारत में करीब 1.14 अरब मोबाइल कनेक्‍शन हैं। 20 करोड़ लोग वॉट्सऐप हैं। BJP के सेंट्रल वॉररूम और आईटी सेल मिलकर प्रोफेशनल कंपनीज के साथ कैंपेन का मैटीरियल तैयार करने में जुटे हैं। इस कैंपेन में PM मोदी की वैलफेयर स्‍कीम, मोदी की शख्सियत, ट्रिपल तलाक, राम मंदिर जैसे ज्‍वलंत मुद्दे शामिल होंगे। अमित शाह पहले ही कार्यकर्ताओं से दोटूक कह चुके हैं कि आप बिना सोशल मीडिया पर एक्टिव हुए चुनाव नहीं जीत सकते।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top