शिक्षा

सी.एम.एस. का ‘डायमण्ड जुबली वर्ष’ में प्रवेश, हर्षोल्लास से हुआ शुभारम्भ

सी.एम.एस. का ‘डायमण्ड जुबली वर्ष’ में प्रवेश, हर्षोल्लास से हुआ शुभारम्भ

सी.एम.एस. का ‘डायमण्ड जुबली वर्ष’ में प्रवेश, हर्षोल्लास से हुआ शुभारम्भ

Photo

लखनऊ, 15 जनवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल की स्थापना के 60वें वर्ष में प्रवेश पर आज सी.एम.एस. के 55,000 छात्रों एवं 4000 से अधिक कार्यकर्ताओं, शिक्षकों व प्रधानाचार्याओं ने बड़े उल्लास व धूमधाम से ‘डायमण्ड जुबली वर्ष’ मनाया और इसी के साथ सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी एवं डा. (श्रीमती) भारती गाँधी के 60वर्षीय सफल दाम्पत्य जीवन का जश्न भी मनाया। जहाँ एक ओर सी.एम.एस. प्रधान कार्यालय पर भारी संख्या में कार्यकर्ताओं ने डा. जगदीश गाँधी एवं डा. (श्रीमती) भारती गाँधी को शुभकामनाएं दीं तो वहीं दूसरी ओर सी.एम.एस. के सभी 18 कैम्पस में छात्रों व शिक्षकों ने ‘डायमण्ड जुबली वर्ष’ मनाया। इसके अलावा, आज सायं सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में एक विशेष समारोह का आयोजन किया गया, जहाँ गाँधी दम्पत्ति के जीवन पर आधारित पुस्तिका का लोकार्पण हुआ।

      सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि वर्ष 1959 में डा. जगदीश गाँधी एवं डा. (श्रीमती) भारती गाँधी ने दाम्पत्य जीवन में प्रवेश कर मात्र 5 बच्चों एवं 300 रूपये की उधार धनराशि से सी.एम.एस. की नींव रखी थी, जो आज आज 55 हजार से अधिक छात्रों को सर्वश्रेष्ठ शिक्षा प्रदान करने के साथ ही उन्हें विश्व एकता का अग्रदूत बना रहा है एवं 4000 से अधिक शिक्षक छात्रों के भविष्य निर्माण में लगे हैं। श्री शर्मा ने कहा कि 60 वर्ष में 60,000 छात्रों व शिक्षकों का एक विशाल सी.एम.एस. परिवार अब विश्व परिवार बनाने की ओर अग्रसर है।

      सी.एम.एस. के ‘डायमण्ड जुबली वर्ष’ के शुभारम्भ के अवसर पर आज सी.एम.एस. प्रधान कार्यालय में आयोजित समारोह में डा. जगदीश गाँधी एवं डा. (श्रीमती) भारती गाँधी के साथ ही विभिन्न वक्ताओं ने सी.एम.एस. से जुड़ी अपनी यादों को तरोताजा किया और विद्यालय के 60 वर्षीय सफलतम् सफर पर अपने विचार रखे। इस अवसर पर सभी कार्यकर्ताओं ने संकल्प व्यक्त किया कि छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु सतत् प्रयासरत रहेंगे, साथ ही सी.एम.एस. को सम्पूर्ण विश्व में नई बुलन्दियों पर स्थापित करेंगे। इस अवसर पर श्री हरि ओम शर्मा, श्री वी. कुरियन, सुश्री वंदना गौड़, श्री आर. घोष, श्री के.एल. वर्मा, श्री अनिरुद्ध सिंह, श्रीमती सरला गोविल व अनेक कार्यकर्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किये।

      इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि सी.एम.एस. के छात्रों, शिक्षकों व कार्यकर्ताओं की मेहनत व लगन का ही परिणाम है कि अन्तर्राष्ट्रीय पटल पर लखनऊ व सी.एम.एस. का नाम आलोकित हो रहा है। विद्यालय के सभी छात्रों, शिक्षकों व कार्यकर्ताओं ने सदैव महात्मा गाँधी व विनोबा भावे के आदर्शों पर चलकर सफलता के नये आयाम तय किये हैं और हमारा यही लक्ष्य है कि भावी पीढ़ी को सम्पूर्ण मानव जाति की सेवा के लिए तैयार किया जा सके ताकि आने पीढ़ियों एक सुखद व सुरक्षित वातावरण में सांस ले सकें और मानवता का उत्थान कर सकें।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top