स्वास्थ्य

ये जानकर आप भी हाथों में लगाएंगे बार-बार मेंहदी

ये जानकर आप भी हाथों में लगाएंगे बार-बार मेंहदी

ये जानकर आप भी हाथों में लगाएंगे बार-बार मेंहदी

Photo

भारत जैसे देश में कोई भी त्योहार मेहंदी के बिना अधूरा माना जाता है। मेहंदी सुहागिनों के श्रृंगार की महत्वूर्ण चीज है। महिलाओं के श्रृंगार में मेहंदी चार चांद लगा देती है। इसे शगुन के तौर पर लगाया जाता है। हर त्योहार पर महिलाएं अपने हाथों में मेहंदी लगाती है। जब सावन के महीने में मेहंदी की बात आए तो यह महीना त्योहारों का महीना होता है। तीज, राखी और सावन के सोमवार जैसे त्योहार खास है। जहां बारिश के मौसम में बूंदों के बीच मन हरा हो जाता है वहीं प्रकृति भी हरियाली से खिल उठती है।

इसी तरह सावन के महीने में मेहंदी भी महिलाओं के हाथों में निखार ला देती है। मेहंदी लगाने के फायदें भी बहुत है जिन्हें जानकर आप हैरान हो जाएंगे। मेंहदी न सिर्फ आपके हाथों की खूबसूरती को बढ़ाती है बल्कि तनाव और सिरदर्द को भी दूर करती है। धार्मिक महत्व रखने के साथ-साथ मेंहदी लगाने का वैज्ञानिक कारण भी है।

कई महिलाओं को गर्मी में बिना त्योहार मेहंदी लगाते हुए देखा होगा। मेहंदी की सबसे खास बात तो यह है कि जैसे गर्मी के बाद सावन आकर जमीन की गर्मी दूर करता है उसी तरह मेंहदी की तासीर ठंडी होती है और इसे लगाने से शरीर की गर्मी दूर होती है। हाथों और पैर के तलवों में मेहंदी लगाने से शरीर की गर्मी कम होती है।

मेहंदी में कई औषधीय गुण भी शामिल हैं। आयुर्वेद में हरा रंग कई रोगों की रोक-थाम में कारगर माना गया है। मेंहदी लगाने से त्वचा संबंधी कई रोग दूर होते हैं। साथ ही त्वचा की खुश्की भी दूर होती है।

मेंहदी की खुशबू में इतनी ताकत होती है कि वह तनाव को कम करती है। मेहंदी की शीतलता तनाव, सिर दर्द और बुखार में फायदेमंद होती है। इसके अलावा मेंहदी कई प्रकार की बीमारियों की रोकथाम भी करती है। इन्हीं सारे कारणों के चलते मेहंदी लगाना बेहद महत्वपूर्ण माना गया है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top