तकनीकी

इसरो का यह ख़ास सैटेलाइट बढ़ाएगा आपके इंटरनेट की स्पीड, जानें कुछ खासियतें

इसरो का यह ख़ास सैटेलाइट बढ़ाएगा आपके इंटरनेट की स्पीड, जानें कुछ खासियतें

इसरो का यह ख़ास सैटेलाइट बढ़ाएगा आपके इंटरनेट की स्पीड, जानें कुछ खासियतें

Photo

अब जल्द ही आपको इंटरनेट की स्लो स्पीड से राहत मिलने वाली है, क्योंकि इसरो का सबसे वजनी सैटेलाइट GSAT-11 आपके इंटरनेट की स्पीड तेज करने में आपकी मदद करेगा। इसके लिए भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने अपना सबसे वजनी सैटेलाइट लॉन्च कर दिया है। 

इस सैटेलाइट को भारतीय समय के अनुसार मंगलवार-बुधवार की रात को लॉन्च किया गया है। जिसे दक्षिणी अमेरिका के फ्रेंच गुयाना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से लॉन्च किया गया। 

इसरो के यह सैटेलाइट लगभग 5854 किलो वजन है। जो देशभर में ब्रॉडबैंड सेवाएं उपलब्ध कराने के अहम भूमिका निभाएगा। बता दें कि ये इसरो का अबतक का सबसे वजनी उपग्रह रहा है। 

GSAT-11 की विशेषताएं  -

ये उपग्रह इंटरनेट की स्पीड को पहले से बेहतर करने में मदद करेगा।   इसलिए इस सैटेलाइट को इंटरनेट कनेक्टिविटी के लिए गेम चेंजर माना जा रहा है। इस सैटेलाइट के काम शुरू करने के बाद देश में इंटरनेट स्पीड में क्रांति आ जाएगी। GSAT-11 से हर सेकंड 100 गीगाबाइट से ऊपर की ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी मिलेगी।

भारतीय सैटेलाइन GSAT-11 में 40 ट्रांसपोर्डर कू-बैंड और का-बैंड फ्रीक्वेंसी में है। इसकी सहायता से हाई बैंडविथ कनेक्टिविटी 14 गिगबाइट/सेकेंड डेटा ट्रांसफर स्पीड संभव है। इसी के साथ ये बीम्स को कई बार करने में प्रयोग करने में सक्षम है। इसी के साथ ये पूरे देश के भौगोलिक क्षेत्र को कवर करेगा।

ज्ञात हो इसरो ने अबतक जितने भी सैटेलाइट लॉन्च किए है उनमें ब्रॉड सिंगल बीम का प्रयोग किया जाता था। साथ ही ये इतने ताकतवर भी नहीं होते थे जिससे ये बहुत बड़े क्षेत्र को कवर नहीं कर पाते थे। इसी के साथ GSAT-11 सैटेलाइट में चार उच्च क्षमता वाले थ्रोपुट सैटलाइट हैं, जो अगले साल से देश में हर सेकंड 100 गीगाबाइट से ऊपर की ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी देगें। ये सैटेलाइट ग्रामीण इलाकों में अच्छी इंटरनेट स्पीड देगा। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top