होम नाकामी छुपाने के लिए जनता का ध्‍यान भटकाने की कोशिश कर रहीं BJP सरकार

उत्तर प्रदेश

नाकामी छुपाने के लिए जनता का ध्‍यान भटकाने की कोशिश कर रहीं BJP सरकार

बसपा प्रमुख मायावती लखनऊ के 9 माल एवेन्‍यू स्थित अपने बंगले में शिफ्ट होने के बाद पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करते हुए मायावती ने BJP पर जमकर वार किया। मायावती ने आरोप लगाया कि BJP की राज्‍य सरकारें और केंद्र सरकार नाकामियों को छुपाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर जनता का ध्‍यान भटकाने ..

नाकामी छुपाने के लिए जनता का ध्‍यान भटकाने की कोशिश कर रहीं BJP सरकार

लखनऊ। बसपा प्रमुख मायावती लखनऊ के 9 माल एवेन्‍यू स्थित अपने बंगले में शिफ्ट होने के बाद पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करते हुए मायावती ने BJP पर जमकर वार किया। मायावती ने आरोप लगाया कि BJP की राज्‍य सरकारें और केंद्र सरकार नाकामियों को छुपाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर जनता का ध्‍यान भटकाने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने कहा कि BJP अटलजी की मौत को चुनाव में भुनाने का प्रयास कर रही है।

मायावती ने कहा कि अटलजी के जीवित रहते तो BJP ने कभी उनके पदचिन्‍हों पर चलने का प्रयास नहीं किया और अब उनके निधन के बाद पार्टी उनका नाम पर राजनीतिक लाभ उठाना चाहती है। उन्‍होंने BJP पर OBC, SC और ST वर्ग के साथ भेदभाव के भी आरोप लगाए। मायाती ने कहा कि केंद्र सरकार रिक्‍त पड़े बड़े पदों पर भर्तियां नहीं कर रही है। वह केवल महापुरुषों के नाम पर युवाओं को बहकाने की कोशिश कर रही है। इस बात को लेकर लोगों में BJP के प्रति नाराजगी है।

मायावती ने कहा कि 2 अप्रैल को SC-ST एक्‍ट के मुद्दे पर प्रदर्शन करने वाले युवाओं को जेल में डाला गया। इससे BJP का पिछड़ा और दलित विरोधी चेहरा जनता के सामने आ गया है। BSP सुप्रीमो ने BJP पर दोहरे चरित्र का भी आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि इनकी कथनी और करनी में अंतर है, इसलिए इन पर भरोसा करने का मतलब है अपने ही पैरों पर कुल्‍हाड़ी मारना। मायावती ने कहा दलित शब्‍द पर आपत्ति के मुद्दे पर भी अपनी राय साझा की। उन्‍होंने कहा कि संविधान में हमारे देश का नाम भारत है, लेकिन RSS और BJP के लोग इसे हिंदुस्‍तान कहते हैं। जब उन्‍हें देश को हिंदुस्‍तान कहने पर आपत्ति नहीं है तो अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों को दलित कहने पर क्‍यों शिकायत है, जबकि आम बोलचाल में SC-ST वर्ग के लोगों के लिए दलित शब्‍द ही इस्‍तेमाल किया जाता है।
 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top