होम फिनलैंड एवं नीदरलैंड के चार विश्वविद्यालयों में सी.एम.एस.छात्र उच्चशिक्षा हेतु चयनित

राज्यउत्तर प्रदेश

फिनलैंड एवं नीदरलैंड के चार विश्वविद्यालयों में सी.एम.एस.छात्र उच्चशिक्षा हेतु चयनित

फिनलैंड एवं नीदरलैंड के चार विश्वविद्यालयों में सी.एम.एस.छात्र उच्चशिक्षा हेतु चयनित

फिनलैंड एवं नीदरलैंड के चार विश्वविद्यालयों में सी.एम.एस.छात्र उच्चशिक्षा हेतु चयनित

लखनऊ, 15 मई। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस) के मेधावी छात्र उमर शाफी ने उच्चशिक्षा हेतु फिनलैंड एवं नीदरलैंड के चार विश्वविद्यालयों में चयनित होकर लखनऊ का गौरव बढ़ाया है। उमर को फिनलैंड के मेट्रोपोलिया यूनिवर्सिटी आॅफ एप्लाइड साइंसेज, औलू यूनिवर्सिटी आॅफ एप्लाइड साइंसेज, साउथ-ईस्टर्न फिनलैंड यूनिवर्सिटी आॅफ एप्लाइड साइंसेज एवं नीदरलैंड की रेडबड यूनिवर्सिटी द्वारा उच्चशिक्षा का आमन्त्रण प्राप्त हुआ है। इस प्रकार, सी.एम.एस. के एक और प्रतिभाशाली छात्र ने अपनी शैक्षणिक प्रतिभा की बदौलत विदेश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में चयनित होकर अपने मेधात्व का परचम लहराया है। इस प्रतिभाशाली छात्र ने अपनी सफलता का श्रेय सी.एम.एस. के अपने शिक्षकों को दिया है।

            सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि प्रतिवर्ष सी.एम.एस. के 100 से अधिक मेधावी छात्र विश्व के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में उच्चशिक्षा हेतु चयनित होते हैं। इस वर्ष अभी तक सी.एम.एस. के लगभग 60 से अधिक छात्र अमेरिका, इंग्लैण्ड, कैनडा, आस्ट्रेलिया, जापान, सिंगापुर, जर्मनी आदि विभिन्न देशों के ख्यातिप्राप्त विश्वविद्यालयों में चयनित हो चुके है, जिनमें से अधिकतर को स्काॅलरशिप प्राप्त हुई है। श्री शर्मा ने आगे कहा कि सी.एम.एस. छात्रों के दृष्टिकोण व्यापक बनाने व उनकी प्रतिभा को प्रोत्साहित करने हेतु सदैव प्रयासरत है और इसी कड़ी में छात्रों को भारत में एवं विदेशों में उच्चशिक्षा प्राप्त करने का अवसर प्रदान कर रहा है। सी.एम.एस. प्रदेश में एकमात्र एस.ए.टी. (सैट) एवं एडवान्स प्लेसमेन्ट (ए.पी.) टेस्ट सेन्टर है जो उत्तर प्रदेश एवं आसपास के अन्य राज्यों के छात्रों को विश्व के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में स्काॅलरशिप के साथ उच्च शिक्षा प्राप्त करने में मदद कर रहा है। इससे पहले, विदेश में उच्चशिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक प्रदेश के छात्रों को सैट परीक्षा के लिए दिल्ली जाना पड़ता था।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Facebook, Twitter, व Google News पर हमें फॉलो करें और लेटेस्ट वीडियोज के लिए हमारे YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

Most Popular

(Last 14 days)

Facebook

To Top