होम RSS का एजेंडा लागू कर रहे थे PM, इसलिए दे दिया इस्तीफा : उपेंद्र कुशवाहा

देश

RSS का एजेंडा लागू कर रहे थे PM, इसलिए दे दिया इस्तीफा : उपेंद्र कुशवाहा

संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने मोदी सरकार को बड़ा झटका दिया है। केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

RSS का एजेंडा लागू कर रहे थे PM, इसलिए दे दिया इस्तीफा : उपेंद्र कुशवाहा

संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने मोदी सरकार को बड़ा झटका दिया है। केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा पीएमओ को फैक्स कर दिया है। कुशवाहा के इस कदम से बिहार में राजनीतिक समीकरण बदल सकते हैं।

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने के एक दिन पहले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की बैठक में शामिल होने से भी मना किया है। 2019 लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर कुशवाहा नाराज चल रहे थे। 

कुशवाहा की नाराजगी की यह है वजह -

पिछले लोकसभा चुनाव में उपेंद्र कुशवाहा की रालोसपा तीन सीटों पर चुनाव लड़ी थी और सभी सीटों पर जीत दर्ज की थी। रालोसपा को 2019 के लोकसभा चुनाव में दो से ज्यादा सीटें नहीं मिलने के बीजेपी के संकेतों के बाद से कुशवाहा नाराज चल रहे हैं। दूसरी ओर बीजेपी और जदयू के बीच बराबर-बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने की सहमति बनी है। बता दें कि 2014 लोकसभा चुनाव में जेडीयू एनडीए गठबंधन का हिस्सा नहीं थी। अब उसने 2019 के चुनाव के लिए बीजेपी  से गठबंधन किया है। ऐसे में कुशवाहा को पिछली बार से कम सीटें मिलने की चर्चा जोरों पर थी। इससे कुशवाहा नाराज बताए जा रहे थे। आज इस्तीफे के बाद कुशवाहा बीजेपी पर जमकर बरसे और इस्तीफे का कारण भी बताया जाहिर किया। 

- मोदी जी बिहार के लोगों की उम्मीदों खरें नहीं उतर सके। 
- नीतीश जी ने सभी मोर्चों पर लोगों के साथ अन्याय किया।
- आरएलएसपी के साथ अन्याय किया गया। 
- नीतीश जी ने सार्वजनिक रूप से मुझे नीच कह कर संबोधित किया। 
- कुशवाहा ने कहा कि "राष्ट्रीय लोक समता पार्टी अब NDA का हिस्सा नहीं रहेगी"।

दरअसल, आज दिल्ली में आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर विपक्षी दलों की बैठक होने वाली है। इस दौरान रालोसपा विपक्ष से हाथ मिला सकती है, जिसमें लालू प्रसाद यादव की आरजेडी और कांग्रेस शामिल है। बिहार से लोकसभा में 40 सांसद आते हैं। इस लिहाज से उपेंद्र कुशवाहा का बीजेपी  विरोधी खेमे में जाना अहम माना जा रहा है। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी प्रमुख पिछले कुछ सप्ताहों से बीजेपी और उसके अहम सहयोगी दल के नेता, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top