शिक्षा

सी.एम.एस. में एक-दिवसीय कॅरियर डे का भव्य आयोजन हजारों छात्रों ने सीखा कॅरियर चयन का मूलमंत्र

सी.एम.एस. में एक-दिवसीय कॅरियर डे का भव्य आयोजन हजारों छात्रों ने सीखा कॅरियर चयन का मूलमंत्र

सी.एम.एस. में एक-दिवसीय कॅरियर डे का भव्य आयोजन हजारों छात्रों ने सीखा कॅरियर चयन का मूलमंत्र

Photo

लखनऊ, 21 अप्रैल। सिटी मोन्टेसरी स्कूल द्वारा एक-दिवसीय ‘कॅरियर डे’ का आयोजन आज सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में किया गया। इस अवसर पर कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों ने कॅरियर विशेषज्ञों की सलाह व मार्गदर्शन प्राप्त किया, साथ ही अपनी रुचि के अनुसार कोर्स का चुनाव करना एवं स्वयं को उसके लिए तैयार करना व लक्ष्य प्राप्ति के लिए पूरी योजना बनाने का पाठ भी पढ़ा। इससे पहले, ‘कॅरियर डे’ का उद्घाटन मुख्य अतिथि डा. विक्रम सिंह, प्रो-चांसलर, नोएडा इण्टरनेशनल यूनिवर्सिटी ने दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर अपने उद्बोधन में मुख्य अतिथि डा. विक्रम सिंह ने छात्रों को शिक्षा एवं कैरियर में सफलता के सूत्र समझाते हुए कहा कि पहले की अपेक्षा अब छात्रों के पास सौ से अधिक कॅरियर विकल्प हैं। आर्टिफिशियल इन्टेलिजेन्स के इस युग में छात्रों को अपने प्रयासों में और अधिक गति लाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि छात्रों को योद्धा बनना है न कि तकलीफों का ढेर। श्री सिंह ने छात्रों को सफलता प्राप्त करने के चार सूत्र दिये जिनमें एक्शन फ्ैलैक्सिबिलिटी, सोशल सेन्सिबिलिटी, अनवायस्ड कन्डक्ट एवं अनइम्पीचेबल इन्टिग्रिटी प्रमुख हैं, जिनके द्वारा छात्र सफलता के सोपान पर पहुँच सकते हैं।

            कैरियर डे में पधारे मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथि, विशेषज्ञों, व अभिभावकों व जिज्ञासु छात्रों का हार्दिक स्वागत करते हुए सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि कक्षा-12 एक ऐसा मुकाम है जिसके बाद छात्रों को अपना कैरियर चुनना पड़ता है और यही चुनाव उनके आगे के जीवन की आधारशिला बनता है। इस कैरियर डे का उद्देश्य यही है कि छात्र अभी से अपने कैरियर की दिशा निर्धारित करके इधर-उधर भटकने के बजाए सही राह पर चल सकते हैं।

            सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने अपने संबोधन में कहा कि छात्रों को अपने कैरियर के चुनाव में बड़ी मुश्किलें आती हैं क्योंकि उनके पास सूचना का अभाव रहता है। इसीलिए यह कैरियर डे छात्रों की द्विविधा को दूर करने का स्वर्णिम अवसर है। उन्होंने छात्रों से कहा कि विश्लेषणात्मक क्षमता का विकास करें। इससे आप अन्तर्राष्ट्रीय विकास में अपना कैरियर बना सकते हैं और देश-दुनिया के आर्थिक व सामाजिक विकास में सहायक हो सकते हैं। श्री रोशन गाँधी, डायरेक्टर ऑफ स्ट्रेटजी, सी.एम.एस. ने छात्रों को सलाह देते हुए कहा कि देश-दुनिया में हो रहे बदलावों पर निरन्तर सजग रहना चाहिए। इस कैरियर डे में छात्र जिस कैरियर की जानकारी के लिए सोचकर आये हैं, उसके अलावा अन्य कैरियर विकल्पों को भी देखना चाहिए।

            ‘कैरियर डे’ के अन्तर्गत विभिन्न विषय विशेषज्ञों, शिक्षाविदों, सलाहकारों एवं मनोवैज्ञानिकों आदि ने छात्रों का खूब मार्गदर्शन किया। इसके अलावा, समूह चर्चा, टॉक शो, विशेषज्ञ वार्ता एवं व्यक्तिगत परामर्श आदि के माध्यम से छात्रों को विभिन्न कैरियर विकल्पों पर गहराई से जानने का एक अवसर प्राप्त हुआ। भविष्य की संभावनाओं को तलाश रहे छात्रों ने आज लॉ इन्ट्रेन्स, आई.टी. हार्डवेयर/साटवेयर, मेडिकल कोर्सेज, एनीमेशन, आर्किटेक्चर, बीएमएस, बीएमएम, फैशन डिजाइनिंग, एअर होस्टेस/लाइट-पर्सर्स, आई.आई.टी-जे.ई.ई./इंजीनियरिंग, सिविल सर्विसेज, कम्पनी सेक्रेटरी, इवेन्ट मैनेजमेन्ट, फाइनेंस एवं बैंकिंग, मैनेजमेन्ट कोर्सेज, सैट/एपी, रेडियो जॉकिंग, फिल्म मेकिंग, चार्टड एकाउन्टेन्सी, मर्चेन्ट नेवी, ट्रेवेल्स एण्ड टूरिज्म, मल्टीमीडिया, पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम्स, स्कॉलरशिप, स्टडी लोन, स्टडी एब्राड, अण्डरग्रेजुएट प्रोग्राम्स आदि अनेक क्षेत्रों में कोर्स तथा एडमीशन पद्धति की विस्तृत जानकारियाँ प्राप्त की। अभिभावकों व शिक्षकों ने भी इस कैरियर डे में गहन रुचि दिखाई एवं व मार्गदर्शन प्राप्त किया।

            सिविल सर्विसेज के सफलता के गुर बताते हुए सुश्री अलकनन्दा दयाल, आई.ए.एस., सचिव, वित्त विभाग, उ.प्र., ने कहा कि कड़ी मेहनत को कोई विकल्प नहीं है, क्लास में कोई एक ही छात्र प्रथम स्थान प्राप्त करता है परन्तु श्रेष्ठ तो सभी बन सकते हैं। उन्होंने छात्रों से कहा कि जो भी करो, पूरे समर्पित भाव से एवं लगन से करो। सदैव प्रसन्न रहना एवं अपने आस-पास प्रसन्नता का वातावरण बनाये रखना भी जरूरी है।

            इसी प्रकार प्रो. श्रुति साडोलिकर काटकर, वाइस चांसलर, भातखण्डे संगीत महाविद्यालय, डा. सैयद नदीम अख्तर, डायरेक्टर, प्लानिंग एण्ड रिसर्च, इंटीग्रल यूनिवर्सिटी, सुश्री कुलसुम तलहा, वरिष्ठ पत्रकार, डा. मीता घोष, एडीशनल डायरेक्टर, सेंटर फॉर स्किल डेवलपमेन्ट, ईरा यूनिवर्सिटी, प्रो. आर. रविशंकर, सीनियर प्रिन्सिपल साइन्टिस्ट, सी.डी.आर.आई., श्री देवेश अग्रवाल, चार्टड एकाउन्टेन्ट, आई.सी.ए.आई. लखनऊ, कमान्डर वकील अहमद, कमान्डिंग ऑफीसर, यूपी नेवेल यूनिट, श्रीमती रूपाली बख्शी, जूनियर मैनेजर, एंग्लो ईस्ट शिप मैनेजमेन्ट, श्रीमती शिप्रा आनन्द, फाउण्डर डायरेक्टर, एकेडमी फार फैशन कैरियर, श्री विपुल गौड़, रेडियो जॉकी, रेडियो मिर्ची, सुश्री नीलांजना शिंह, कन्ट्री एडवाइजर, ट्रिनिटी कालेज डबलिन, श्री समन्यवय धर द्विवेदी, एडवोकेट, श्री राजेन्द्र कालरा, टाटा कन्सल्टेन्सी सर्विस, श्री गौरव चिकर, निदेशक, मान्या एब्रॉड, लखनऊ, श्री नदीम अहमद खान, निदेशक, यूरोपीय भाषा संस्थान, लखनऊ श्री ट्रूमैन लैसराम, कंट्री एडवाइजर, क्वीन्स यूनिवर्सिटी, बेलफास्ट, श्री देवेश आनंद, कन्ट्री एडवाईजर (भारत), यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल, सुश्री पिंकी देसाई, स्टूडेन्ट रिक्रूटमेन्ट एण्ड एडमीशन, मोनाश यूनिवर्सिटी, सुश्री हिना जेठनंदानी, वरिष्ठ प्रबंधक, आउटरीच, अशोका विश्वविद्यालय, श्री अनीश धीमान, सहायक निदेशक, ओ.पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी, श्री रमन शर्मा, निदेशक, एम.ए.ए.सी., लखनऊ/कानपुर, डॉ निखिल कुलश्रेष्ठ, वरिष्ठ एसोसिएट प्रोफेसर - एचआर, यूपीईएस और ऊर्जा, आर्किटेक्ट अंकित कुमार, सीनियर प्रोजेक्ट आर्किटेक्ट, ए.आर.सी.एच.-ई.एन., डिजायन, श्री शमीम शेखमोवाहेद, पश्चिमी संगीत शिक्षक, सीएमएस, श्रीमती माला मुखर्जी, वरिष्ठ कैरियर काउंसलर एवं एच.आर. ट्रेनर, इन्स्टीट्यूट फॉर कैरियर इन्स्टीट्यूट, कर्नल अजय रामकृष्णन, सेना पदक (वीरता), डॉ राजीव लोचन, निदेशक और मुख्य अधीक्षक, बलरामपुर अस्पताल आदि ने भी छात्रों को अलग-अलग कैरियर विकलपों पर विस्तृत जानकारी दी।

            सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि यह कैरियर  डे उन छात्रों को विशेष रूप से ध्यान में रखते हुए आयोजित किया गया जो बारहवीं के बाद जीवन के एक नये पड़ाव की ओर कदम बढ़ा रहे हैं।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top