जम्मू कश्मीर

जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी नेता यासीन मलिक गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी नेता यासीन मलिक गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी नेता यासीन मलिक गिरफ्तार

Photo

जम्मू- कश्मीर में सुरक्षा और कानून व्यवस्था के मध्यनजर रखते हुए  आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की बरसी के 2 दिन पहले ही पुलिस ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक को गिरफ्तार कर  लिया है। 

 

यह माना जा रहा है कि अलगांववादी नेता आतंकवादी बुरहान वानी की बरसी पर लोगों की भावनाओं को गलत तरीके से भडक़ाकर कश्मीर में दंगे करवा सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार, आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की बरसी से 2 दिन पहले शुक्रवार को कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अलगाववादी नेता यासीन मलिक को गिरफ्तार कर लिया गया।

अधिकारियों ने हालांकि बताया कि मलिक को एहतियातन हिरासत में लिया गया है। अलगावादियों के एक प्रवक्ता ने यह बताया कि पुलिस ने यासिन मलिक को मैसूमा स्थित उनके आवास से फज्र की नमाज के तुरंत बाद गिरफ्तार कर लिया। 

 

मलिक को मैसूमा पुलिस स्टेशन में रखा गया है। आपको  बताते जाए कि सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज मौलवी, उमर फारूक और यासीन मलिक ने संयुक्त रूप से बुरहान वानी की बरसी पर आठ जुलाई को हड़ताल का आह्वान किया है। 

इस को ध्यान में रखते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारियों ने सुरक्षा-शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अलगाववादी नेता यासिन मलिक को गिरफ्त में लिया है। 

उल्लेख है कि 8 जुलाई, 2016 को भारतीय सेना ने हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी बुरहान वानी को अनंतनाग जिले में कोकेरनागम इलाके के बुमदूरा गांव में मार गिराया था। इसके बाद घाटी में करीब छह महीने तक हिंसक-प्रदर्शन हुए थे।

इसमें लगभग 120 लोग मारे गए थे। अलगाववादी इस घटना का विरोध करके पूरे कश्मीर में आग की तरह फैला कर अपनी राजनीतिक रोटियां ही सेंकी हैं।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top