शिक्षा

कलात्मक प्रतिभा व कम्प्यूटर ज्ञान से दिल जीता देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने

कलात्मक प्रतिभा व कम्प्यूटर ज्ञान से दिल जीता देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने

कलात्मक प्रतिभा व कम्प्यूटर ज्ञान से दिल जीता देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने

Photo

लखनऊ, 17 दिसम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, आनन्द नगर कैम्पस द्वारा सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय शैक्षिक-साँस्कृतिक महोत्सव ‘यूरेका इण्टरनेशनल-2018’ का दूसरा दिन बेहद दिलचस्प और रुचिपूर्ण रहा। जहाँ एक ओर श्रीलंका, बांग्लादेश, नेपाल एवं देश के विभिन्न राज्यों से पधारे छात्रों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा नजर आई, तो वहीं इन सभी छात्रों में कुछ नया कर दिखाने का जोश देखने लायक था। प्रतियोगिताएं भी कुछ प्रकार से रची गई थीं कि छात्रों को जितना मजा जीतने में आता उससे कहीं अधिक उसमें प्रतिभाग करने में। देश-विदेश से पधारे प्रतिभागी छात्रों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में अपनी कलात्मक प्रतिभा व कम्प्यूटर ज्ञान से सभी का दिल जीत लिया। पॉप आर्ट (कोलाज), फुटलूज (कोरियोग्राफी) एवं ड्रीम मर्चेन्ट (एडवरटीजमेन्ट) प्रतियोगिताओं में कलात्मकता प्रतिभा का जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला, तो वहीं दूसरी ओर टच माई शैडो (मल्टीमीडिया) प्रतियोगिता में छात्रों का कम्प्यूटर ज्ञान देखने लायक था। इससे पहले, यूरेका इण्टरनेशनल-2018’ के दूसरे दिन का शुभारम्भ सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी के सारगर्भित अभिभाषण से हुआ जिन्होंने छात्रों के उज्वल भविष्य की कामना करते हुए उन्हें वसुधैव कुटुम्बकम की भावना का प्रचार-प्रसार करने हेतु प्रेरित किया।

‘यूरेका इण्टरनेशनल-2018’ में आज प्रतियोगिताओं का दौर पॉप आर्ट (कोलाज) प्रतियोगिता से प्रारम्भ हुआ। इस प्रतियोगिता में प्राइमरी वर्ग की 50 छात्र टीमों ने ‘द शांगरी ला ऑफ माई इमैजिनेशन’ विषय पर एक से बढ़कर एक शानदार कोलाज बनाकर शान्ति, एकता व सौहार्द के रंग में रंगे विश्व समाज का खाका खींचा। श्रीलंका, बांग्लादेश, नेपाल एवं देश के विभिन्न भागों से पधारे प्रतिभागी छात्रों की कला व रचनात्मक सोच देखकर निर्णायक मंडल भी दंग रह गये। 

जूनियर वर्ग की ‘फुटलूज (कोरियोग्राफी) प्रतियोगिता सर्वाधिक आकर्षण रही जिसके माध्यम से देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने अपनी कलात्मक प्रतिभा की अमिट छाप छोड़ी। प्रतियोगिता का विषय था ‘व्हेअर द माइन्ड इस विदआउट फियर’, जिसके अन्तर्गत प्रतिभागी छात्रों ने आकर्षक परिधानों में सजधजकर शानदार अभिनय का प्रदर्शन किया। प्रतिभागी छात्रों ने अपने शानदार नृत्य अभिनय द्वारा लड़कियों की शिक्षा एवं उनपर अत्याचार पर विशेष ध्यान खींचा। प्रतियोगिता में 50 टीमों ने प्रतिभाग किया तथापि प्रत्येक टीम में 6 छात्र थे जिन्होंने 5 मिनट के समय में अपना प्रस्तुतिकरण दिया।

‘ड्रीम मर्चेन्ट (एडवरटीजमेन्ट) प्रतियोगिता’ के अन्तर्गत देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों ने अपने अंदर छिपी अभिव्यक्ति क्षमता का प्रदर्शन किया। इस प्रतियोगिता में प्राइमरी वर्ग की छात्र टीमों ने प्रतिभाग किया तथापि ‘द इवोल्यूशन ऑफ साइन्स’ थीम के अन्तर्गत प्रतिभागी छात्रों ने अपनी पसन्द के किसी एक पदार्थ या विचार का विज्ञापन प्रस्तुत किया। छात्रों ने बड़े रोचक और दिलचस्प अंदाज में विज्ञापन अथवा जिंगल्स के माध्यम से अपनी रचनात्मकता को प्रस्तुत किया। इसी प्रकार ‘टच माई शैडो (मल्टीमीडिया) प्रतियोगिता में जूनियर वर्ग की छात्र टीमों ने कम्प्यूटर पर एक घंटे में मल्टीमीडिया बनाकर अपनी तकनीकी कला का बेहतरीन नमूना पेश किया एवं सामाजिक सरोकार के लिए अपनी भावनाओं को व्यक्त किया। प्रतियोगिता का विषय था - ‘नेचर एट इट्स बेस्ट’। कम्प्यूटर पर अपना कौशल दिखाकर इन छात्रों ने सिद्ध कर दिया कि वे किसी से कम नहीं है और कला व तकनीक का सुन्दर संगम उनके मस्तिष्क में है जिसके मधुर संतुलन में ही मानवजाति की प्रगति छिपी है। इस प्रतियोगिता में छात्रों को उनकी तकनीकी निपुणता, विषय की प्रभावशाली प्रस्तुति व ऐनीमेशन पर अंक दिये गये।

इसके अलावा, समूह प्रतियोगिता ‘इम्ब्लेशिंग’ एवं वाद-विवाद प्रतियोगिता ‘टूसे’ में भी प्रतिभागी छात्रों की प्रतिभा देखते ही बनती थी। जहाँ एक ओर समूह प्रतियोगिता ‘इम्ब्लेशिंग’ के अन्तर्गत छात्रों ने ‘इफ आई कुड चेन्ज द वर्ल्ड’ विषय पर आकर्षक तरीके से सॉफ्टबोर्ड बनाकर ऑडिटोरिय में लगाया तो वहीं दूसरी ओर वाद-विवाद प्रतियोगिता ‘टूसे’ के प्रारम्भिक राउण्ड में 46 छात्रों ने प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता का विषय था ‘इज ह्यूमन क्लोनिंग अनएथिकल एण्ड इन्वार्यनमेन्टल थ्रेट’। प्रारम्भि राउण्ड में चयनित छात्र कल प्रतियोगिता के फाइनल राउण्ड में प्रतिभाग करेंगे।

प्रतियोगिताओं के अलावा आज सायंकालीन सत्र में ‘साँस्कृतिक संध्या’ का विशेष आयोजन आज सायं सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि के रूप में पधारे प्रदेश की महिला एवं परिवार कल्याण मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी ने दीप प्रज्वलित कर ‘साँस्कृतिक संध्या’ का विधिवत शुभारम्भ किया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में श्रीमती जोशी ने कहा कि साहित्य एवं संस्कृति के प्रति छात्रों में इतनी जिज्ञासा और रुचि देखने को मिल रही है कि निश्चित ही यह बच्चे एक दिन अवश्य ही नया इतिहास रचेंगे। इस शानदार समारोह में देश-विदेश से पधारी प्रतिभागी छात्र टीमों ने एक से बढ़कर एक रंगारंग शिक्षात्मक साँस्कृतिक कार्यक्रमों की इन्द्रधनुषी छटा बिखेरकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि यूरेका इण्टरनेशनल-2018 के अन्तर्गत प्रतियोगिताओं का दौर कल भी जारी रहेगा। कल, 18 दिसम्बर को प्रतियोगिताओं का दौर प्रातः 10 बजे से सी.एम.एस. कानपरु रोड ऑडिटोरियम में होगा, जिनमें टूसे (वाद-विवाद प्रतियोगिता) का फाइनल राउण्ड, मैरी क्वेरीज (क्विज प्रतियोगिता का लिखित राउण्ड), वाइस ओवर (अवेयरनेस कैम्पेन) एवं टच माई शैडो (मूवी मेकिंग) आदि प्रमुख है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top