उत्तर प्रदेश

BSP सुप्रीमो मायावती ने मोदी सरकार के सवर्ण आरक्षण के फ़ैसले का किया स्वागत, और कही ये बात..

BSP सुप्रीमो मायावती ने मोदी सरकार के सवर्ण आरक्षण के फ़ैसले का किया स्वागत, और कही ये बात..

BSP सुप्रीमो मायावती ने मोदी सरकार के सवर्ण आरक्षण के फ़ैसले का किया स्वागत, और कही ये बात..

Photo

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा नरेंद्र मोदी सरकार के गरीब सवर्णों को 10% आरक्षण दिए जाने के फ़ैसले का पार्टी समर्थन करेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले लिया गया ये फ़ैसला हमें सही नीयत से लिया गया फ़ैसला नहीं लगता है, चुनावी स्टंट लगता है, राजनीतिक छलावा लगता है। 

मायावती ने कहा कि - "अच्छा होता अगर BJP अपना कार्यकाल खत्म होने से ठीक पहले नहीं बल्कि और पहले ये फ़ैसला ले लेती।"

मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि देश में अब SC-ST और OBC वर्गों को मिलने वाले आरक्षण की लगभग 50% सीमा की सही नीयत के साथ भी समीक्षा किए जाने की आवश्यकता है। और इन्हें उनकी बढ़ी हुई आबादी के अनुपात में आरक्षण के अनुपात को भी पूरे तौर पर बढ़ा कर दिए जाने की कोई नई संवैधानिक व्यवस्था देश में लागू की जानी चाहिए। 

अगर ऐसा होता है तो इन वर्गों के लिए ये बेहतर होगा। और इतना ही नहीं, बल्कि इन वर्गों को मिलने वाले आरक्षण की व्यवस्था को केंद्र और राज्य की विभिन्न सरकारों द्वारा निष्क्रिय और निष्प्रभावी बनाने के लिए अभी तक अनेकों प्रकार के षड्यंत्र लगातार किये जाते रहे हैं, ये भी जगजाहिर है। 

लेकिन अब इन्हें इसकी वजाए इन वर्गों के लिए उन क्षेत्रों में भी आरक्षण की उचित व्यवस्था सुनिश्चित की जानी चाहिए, जहां अब तक आरक्षण की कोई व्यवस्था ही लागू ही नहीं की गई है। 

मायावती ने कहा कि - "इसके साथ ही सरकारी नौकरियों में आरक्षण का कोटा भरे जाने के संबंध में भी पहले की सरकारों की तरह वर्तमान में भाजपा सरकारों का संकीर्ण, जातिवादी और नकारात्मक रवैया भी निंदनीय है, जिसका परिणाम यह है कि अब इन वर्गों के लोगों को आरक्षण का लाभ शिक्षा और सरकारी नौकरियों में नाममात्र ही मिल पा रहा है।"

सूत्रों ने बताया कि कैबिनेट ने ईसाइयों व मुस्लिमों सहित ‘अनारक्षित श्रेणी’ के लोगों को नौकरियों व शिक्षा में 10% आरक्षण देने का फैसला लिया। इसका फायदा 8 लाख रुपए वार्षिक आय सीमा और करीब 5 एकड़ भूमि की जोत वाले गरीब सवर्णो को मिलेगा। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top