राज्यउत्तर प्रदेश

मा. मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद श्रावस्ती व बहराइच के विकास कार्यक्रमों की प्रगति की गहन समीक्षा

मा. मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद श्रावस्ती व बहराइच के विकास कार्यक्रमों की प्रगति की गहन समीक्षा

मा. मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद श्रावस्ती व बहराइच के विकास कार्यक्रमों की प्रगति की गहन समीक्षा

Photo

श्रावस्ती 19 नवम्बर (सू.वि.)। प्रदेश के मा. मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद श्रावस्ती के कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद श्रावस्ती एवं बहराइच के विकास कार्यक्रमों की प्रगति, कानून व्यवस्था एवं महत्वाकांक्षी जनपद के विकास सम्बन्धी महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के प्रगति की गहन समीक्षा की। इस अवसर पर मा. मुख्यमंत्री जी के समक्ष नीति आयोग द्वारा निर्धारित सेक्टरों में मापदण्डों की प्रगति का प्रस्तुतिकरण भी प्रस्तुत किया गया।

बैठक में मा. मुख्यमंत्री जी ने इस बात के निर्देश दिये कि निर्धारित अवधि 30 नवम्बर 2019 तक जनपदों में सड़कें गडढामुक्त न हों तो जनपद स्तर पर एक अलग टीम गठित कर जाॅच करवायी जाये तथा उसमें जवाबदेही तय करते हुए सम्बन्धित के विरूद्ध निलम्बन की कार्रवाई सुनिश्चित हो। उन्होंने जनपद बहराइच की चिलवरिया चीनी मिल में गन्ना किसानों का भुगतान मात्र 27 प्रतिशत ही होने पर नाराज़गी प्रकट करते हुए निर्देश दिये कि इस मामले में एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाये। उन्होंने थारू जनजाति के ग्रामवासियों को प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण से लाभान्वित कराने तथा राजस्व ग्राम के रूप में इन गाॅवों को चिन्हित किये जाने के सम्बन्ध में भी निर्देशित किया है।

मा. मुख्यमंत्री जी ने पाईप पेयजल परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान कहा है कि प्रदेश में किसी भी योजना के लिए धनाभाव नहीं है। परियोजना के लिए रिवाईज़ स्टीमेट भेजने, मानक के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण कार्य न होने तथा समय से उपयोगिता प्रमाण पत्र न भेजने के कारण परियोजनाएं लम्बित हो जाती हैं। उन्होंने ऐसे मामलो में नोडल अधिकारियों की तैनाती कर जाॅच कराये जाने के निर्देश दिये हैं कि परियोजनाओं के पूर्ण हो जाने के बाद भी आम जनता को उसका लाभ क्यों नहीं मिल पा रहा है। इसके साथ ही जो योजनाएं निर्माणाधीन हैं, समय से क्यों नहीं पूर्ण हो पा रही हैं इसके लिए जिम्मेदारी तय कर कार्रवाई की जाय।

उन्होंने अनियमित ढंग से विद्युत बिल भेजने के सन्दर्भ में निर्देशित किया है कि इसमें सम्बन्धित की जवाबदेही तय की जाय। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत दोनों जनपदों में फीडिंग का कार्य समय से हो और जो किसान अभी इस योजना से वंचित हैं उनसे सम्बन्धित कमियाॅ सुधार कर उन्हें भी लाभान्वित कराने की कार्यवाही की जाय।

मा. मुख्यमंत्री जी ने जिले स्तर पर बैंकर्स कमेटी तथा जिला उद्योग बन्धु की बैठक निर्धारित समय अन्तर्गत कराने के निर्देश देते हुए कहा कि इससे बैंकों के माध्यम से ऋण की उपलब्धता तथा उद्यमियों की समस्या का समय से निदान हो जाने से रोजगार सृजन को बढ़ावा मिलेगा तथा लोग स्वावलम्बन और आत्मनिर्भरता की तरफ बढेंगे। इससे युवाओं को मुद्रा योजना व स्टार्टअप योजना का लाभ उठाने में भी सहूलियत होगी। उन्होंने रोज़गार मेलों का व्यापक प्रचार-प्रसार करके रोज़गार मेले के आयोजन पर विशेष बल दिया है। उन्होंने कहा कि शासन ने 10 लाख से ऊपर की योजनाओं के लिए ई-टेण्डरिंग की व्यवस्था को कड़ाई से लागू किया है तथा इस सम्बन्ध में ऊर्जा, लोक निर्माण विभाग, नगर विकास, सिंचाई आदि विभागों की आडिट भी करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि खरीद फरोख्त की कार्यवाही ई- टेण्डरिंग या जेम पोर्टल से करायी जाय।

बैठक के दौरान मा. मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोई भी योजनाएं लम्बित न रहे तथा रिवाईज़ स्टीमेट भेजने वालो पर जिम्मेदारी तय कर एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाय। उन्होंने कहा है कि इसमें कार्यदायी संस्थाओं की भी जिम्मेदारी तय हो। उन्होंने महत्वाकांक्षी जनपद के रूपान्तरण कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान कहा कि क्षेत्र विशेष की आवश्यकतानुसार कोर्स व ट्रेड चिन्हित कर लोगों को कौशल विकास का प्रशिक्षण दिलाया जाये ताकि लोगों को स्थानीय स्तर पर ही रोजगार उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक पर प्रतिबन्ध के दृष्टिगत इसे पूरी तरह से प्रतिबन्धित किया जाये तथा माटी कला बोर्ड के माध्यम से लोगों को जागरूक कर सम्बन्धित लोगों को सोलर व इलेक्ट्रिक चाक उपलब्ध कराये जायें तथा इस प्रकार व्यवसथा हो कि इन लोगों को अप्रैल से जून माह के बीच तालाब से निःशुल्क मिट्टी निकालने की सुविधा दी जाये जिससे इन्हें निःशुल्क मिट्टी मिलने के साथ ही साथ जल संचयन व संरक्षण हेतु तालाब का निर्माण भी हो जाये। उन्होंने कहा कि गाॅव व क्षेत्र के लोगों हलवाई, बढ़ई, लोहार, कुम्हार व मोची आदि को विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजनान्तर्गत प्रशिक्षण देकर दक्ष बनाकर लाभान्वित किया जाय। ताकि लोगों में स्वावलम्बन बढ़े। उन्होंने डेंगू, टीबी तथा अन्य संचारी रोगों के नियंत्रण में की गयी कार्रवाई की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया कि इसके लिए मुख्य चिकित्साधिकारी निर्धारित कार्ययोजना के अनुरूप कार्य करें तथा जनता के प्रति अपनी जवाबदेही समझें।

मा. मुख्यमंत्री जी ने आयुष्मान भारत योजना की प्रगति की समीक्षा के दौरान कहा कि दोनो जनपदों में शत-प्रतिशत पात्र लोगों में गोल्डेन कार्ड का वितरण सुनिश्चित कराया जाये। इसके लिए शिविर आयोजित कर जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में प्रत्येक दशा में पात्रो को गोल्डेन कार्ड वितरण करायें। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजनान्तर्गत निर्मित हो रहे आवासों की जाॅच हेतु नोडल अधिकारी तैनात करने के निर्देश दिये ताकि लाभार्थी की पात्रता की जाॅच के साथ-साथ यह सुनिश्चित हो सके कि जिस कार्य हेतु पैसा मिला उसी पर व्यय हो रहा है। उन्होंने जनपद बहराइच में पूजीनिवेश के दृष्टिगत हुए एमओयू से सम्बन्धित उद्यमियों को शासन से अनुमन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

मा. मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों से कहा कि उनके कार्य की संतुष्टि का आधार एक नागरिक होना चाहिए जो उनके कार्य से संतुष्ट हो। उन्होंने कहा कि खाद्यान वितरण में कोई भी पात्र व्यक्ति वंचित न रहने पाये। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित हो कि आगामी 2022 तक हर परिवार के पास मकान हो। उन्होंने कहा कि खनन, वन एवं भू माफियाओं के विरूद्ध निःसंकोच कार्यवाही की जाये। गो तस्करी को सख्ती से रोका जाय। जनपद श्रावस्ती में पर्यटन की आपार संभावनाएं हैं त्रेता युग से इसकी महत्ता रही है। यहाॅ पर पर्यटकों को आकर्षित करने हेतु कार्ययोजना तैयार कर कार्यवाही की जाये। इस क्षेत्र में पर्यटन विकास से रोज़गार सृजन को बल मिलेगा। उन्होंने जनपद बहराइच महाराज सुहेलदेव का स्मारक बनाये जाने को भी कहा।

मा. मुख्यमंत्री जी ने आईजीआरएस पोर्टल व मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के अन्तर्गत प्राप्त होने वाली शिकायतों का निस्तारण जनपद स्तर पर निर्धारित समय सीमा के अन्दर करने के निर्देश देते हुए कहा कि थाना समाधान दिवस व सम्पूर्ण समाधान दिवस को प्रभावी बनाया जाये। उन्होंने हर थाना क्षेत्रों में टाप 5 व टाप 10 अपराधियों की सूची तैयार कर कार्रवाई करने को कहा है। नगर निकायों में रैन बसेरा के संचालन के साथ ही साथ सुरक्षा के भी पुख्ता प्रबन्ध किये जायें। विद्यालयों में शिक्षकों की कमी के दृष्टिगत उन्होंने इस बात पर बल दिया कि ग्राम समिति की बैठक के माध्यम से वालेन्टियर्स सेवा हेतु अवकाश प्राप्त लोगों व शिक्षित बेरोज़गारों की सेवा लेने का प्रयास किया जाय। उन्होंने अधिकारियों से अपेक्षा की कि शासन की मंशा के अनुरूप कार्य करके परिणाम दें।

बैठक में देवीपाटन मण्डल के आयुक्त श्री महेन्द्र कुमार ने जनपद आगमन पर मा. मुख्यमंत्री जी व अन्य मा. जनप्रतिनिधियों का स्वागत किया। इस अवसर पर मा. राज्य मंत्री खाद्य एवं रसद तथा नागरिक आपूर्ति/जनपद श्रावस्ती के प्रभारी मंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ ‘‘धुन्नी सिंह,’’ विधायक श्रावस्ती राम फेरन पाण्डेय, भिनगा के असलम राईनी, पयागपुर के सुभाष त्रिपाठी, महसी के सुरेश्वर सिंह, बहराइच सदर की श्रीमती अनुपमा जायसवाल, नानपारा की श्रीमती माधुरी वर्मा, आयुक्त देवीपाटन मण्डल महेन्द्र कुमार, डीआईजी डाॅ. राकेश कुमार सिंह, जिलाधिकारी श्रावस्ती सुश्री यशु रूस्तगी बहराइच के जिलाधिकारी शम्भु कुमार, पुलिस अधीक्षक श्रावस्ती अनूप सिंह व बहराइच के डाॅ. गौरव ग्रोवर, मुख्य विकास अधिकारी बहराइच अरविन्द चैहान व श्रावस्ती के प्रभारी सीडीओ विनय कुमार तिवारी सहित जनपद श्रावस्ती व बहराइच के अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहे।  

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top