शिक्षा

अन्तर्राष्ट्रीय कम्प्यूटर ओलम्पियाड ‘कोफास-2018’ सी.एम.एस. में 31 अक्टूबर से

अन्तर्राष्ट्रीय कम्प्यूटर ओलम्पियाड ‘कोफास-2018’ सी.एम.एस. में 31 अक्टूबर से

अन्तर्राष्ट्रीय कम्प्यूटर ओलम्पियाड ‘कोफास-2018’ सी.एम.एस. में 31 अक्टूबर से

Photo

लखनऊ, 21 अक्टूबर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजेन्द्र नगर (तृतीय कैम्पस) द्वारा चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय कम्प्यूटर ओलम्पियाड ‘कोफास-2018’ का आयोजन 31 अक्टूबर से 3 नवम्बर 2018 तक सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में किया जा रहा है। इस अन्तर्राष्ट्रीय कम्प्यूटर ओलम्पियाड में प्रतिभाग हेतु जार्डन, बांग्लादेश, नेपाल एवं भारत के विभिन्न प्रान्तों से लगभग 700 से अधिक छात्र लखनऊ पधार रहे हैं। उक्त जानकारी आज यहाँ आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में ‘कोफास-2018’ की संयोजिका एवं सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (तृतीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती जयश्री कृष्णन ने दी। श्रीमती कृष्णन ने कहा कि इस कम्प्यूटर ओलम्पियाड का उद्देश्य छात्रों व युवा पीढ़ी को उन्नत प्रौद्योगिकी से रूबरू कराना व कम्प्यूटर ज्ञान के प्रति प्रोत्साहित करना है।

प्रेस कान्फ्रेन्स में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए श्रीमती कृष्णन ने कहा कि कम्प्यूटर के ज्ञान की आवश्यकता तो आज प्रमाणित ही है, ऐसे में कम्प्यूटर का ज्ञान व उसका सही उपयोग भावी पीढ़ी के लिए अत्यन्त उपयोगी है। इस अन्तर्राष्ट्रीय ओलम्पियाड द्वारा भावी पीढ़ी में कम्प्यूटर, टेक्नोलॉजी, इण्टरनेट एवं साइवर स्पेस के प्रति सूक्ष्म विश्लेषण की प्रवृत्ति को विकसित करने का प्रयास किया जायेगा, साथ ही विभिन्न देशों के छात्रों के बीच आपसी मेलजोल और भाई-चारे की भावना का भी विकास होगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि यह ओलम्पियाड छात्रों में वैज्ञानिक सोच और विश्वव्यापी दृष्टिकोण विकसित करने के साथ ही उनमें एकता, शान्ति व सद्भाव की भावना का विकास करने में सफल साबित होगा।

अन्तर्राष्ट्रीय कम्प्यूटर ओलम्पियाड ‘कोफास-2016’ की प्रतियोगिताओं पर प्रकाश डालते हुए श्रीमती कृष्णन ने बताया कि देश-विदेश के भावी बाल वैज्ञानिकों के लिए कॉन्फैबुलर (डिबेट), कैपेसिडेड (एप्टीट्यूट टेस्ट), एड टेक (एडवरटीजमेन्ट), कोफास डूडल, रेन्डीशन (पेपर प्रजेन्टेशन), मैथलेट्स (गणित प्रतियोगिता), जिव-कान्कर्स (कम्प्यूटर क्विज), साफ्टेक, कम्प्यूटर विजार्ड, ई-कोलाज, टीनोवेशन्स (साइंस माडल), कॉस्टेक (कोरियोग्राफी) आदि रोचक प्रतियोगिताएं आयोजित की जायेंगी।

सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने इस अवसर पर कहा कि देश-विदेश से आने वाले यह छात्र अति मेधावी छात्र होते हैं। यहाँ आकर ये मेधावी छात्र विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर अपनी बौद्धिक क्षमता का परिचय तो देते ही हैं साथ ही अपने-अपने देश की संस्कृति, सभ्यता, रहन-सहन एवं शिक्षा का आपस में आदान-प्रदान भी करते हैं। इन अन्तर्राष्ट्रीय आयोजन का हमारा उद्देश्य शिक्षा के साथ-साथ विश्व एकता की भावना भी इन छात्रों में जागृत करने का है, जिससे ये पूरा विश्व एक कुटुम्ब बन सके और हम सब इसके नागरिक बन सकें, तभी भावी पीढ़ी के भविष्य को संवारा जा सकता है।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि ‘कोफास-2018’ का उद्घाटन 31 अक्टूबर, बुधवार को सायं 5.00 बजे सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में होगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि कोफास की प्रतियोगिताएं छात्रों की प्रतिभा को तो उभारेंगी ही अपितु उनके मनोबल व आत्मविश्वास को बढ़ाने में सहायक होंगी एवं चुनौतियों को सहर्ष स्वीकार करने का हौसला देंगी। श्री शर्मा ने बताया कि कोफास-2018 में विदेशों की 20 छात्र टीमों समेत लगभग 50 राष्ट्रीय व स्थानीय छात्र टीमें प्रतिभाग कर रही हैं।
 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top