उत्तर प्रदेश

मायावती और अखिलेश यादव के बीच हुआ सीटों का बंटवारा, 37-37 सीटों पर लड़ सकते हैं चुनाव

 मायावती और अखिलेश यादव के बीच हुआ सीटों का बंटवारा, 37-37 सीटों पर लड़ सकते हैं चुनाव

मायावती और अखिलेश यादव के बीच हुआ सीटों का बंटवारा, 37-37 सीटों पर लड़ सकते हैं चुनाव

Photo

कल शुक्रवार को दिल्ली में BSP सुप्रीमो मायावती और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुलाकात की। खबरों के अनुसार दोनों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर बातचीत हुई जिस पर दोनों पार्टियों ने सहमति जताई है। बता दें कि यूपी में लोकसभा की 80 सीटे हैं। ऐसा दावा किया जा रहा है कि दोनों 37-37 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। मायावती और अखिलेश यादव की मुलाकात करीब डेढ़ घंटे तक चली है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक SP-BSP, 37-37 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे, वहीं बची हुई सीटें राष्ट्रीय लोकदल और अन्य छोटी पार्टियों के लिए छोड़ा जाएगा। दोनों पार्टियों ने यह फैसला कर लिया है कि किस-किस लोक सभा सीट पर किस पार्टी का प्रत्याशी होगा। बराबर-बराबर सीटों पर प्रत्याशी उतारने के पीछे बताया जा रहा है कि दोनों पार्टियां चाहती हैं कि किसी तरह का कोई विवाद न हो। वहीं ऐसी खबरें भी हैं कि अमेठी और रायबरेली में महागठबंधन अपना कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगा। अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सांसद हैं और रायबरेली से सोनिया गांधी सांसद हैं। 

सुनने में यह भी आ रहा है कि सपा-बसपा के साथ RLD का जुड़ना लगभग तय है।  हालांकि कांग्रेस पर अभी असमंजस है। 

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस सीटें बढ़ाने की मांग कर रही है, लेकिन दोनों पार्टियां इस पर राजी नहीं है। मायावती कांग्रेस को ज्‍यादा भाव नहीं दे रही हैं। मध्‍य प्रदेश में भी चुनाव से ठीक पहले BSP ने अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। हालांकि नतीजे आने के बाद मायावती ने कांग्रेस को समर्थन दिया। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top