उत्तर प्रदेश

कासगंज हिंसा मामले में आरोपियों को भेजा गया कब्रिस्तान

कासगंज हिंसा मामले में आरोपियों को भेजा गया कब्रिस्तान

कासगंज हिंसा मामले में आरोपियों को भेजा गया कब्रिस्तान

Photo


उत्तर प्रदेश के कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान चंदन गुप्ता की मौत के बाद हत्या के आरोप में जेल में बंद नसीरुद्दीन की पत्नी और अकरम की मां हसीन बानो की मौत हो गई है। आरोपी के परिवार के लोगों का दावा है कि हसीन बानो की मौत सदमे की वजह से हुई है। आपको बता दें कि हिंसा में शामिल अकरम के पिता नसीरुद्दीन व उनका बेटा जेल में बंद है। 

 आरोपियों को पैरोल पर भेजा गया कब्रिस्तान
 जानकारी के मुताबिक हसीन बानो दंगे के दिन अपने पति और बेटे के हिंसा में शामिल होने की खबर से काफी परेशान थीं और वह सदमे में थी। दोनों की गिरफ्तारी के बाद उनकी तबियत काफी बिगड़ गई। जिसके बादद हसीन बानो के रिश्तेदार और मोहल्ले के लोगों ने उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान हसीन बानों की मौत हो गई। जिसके बाद उनके शव को कासगंज के मोहल्ला नवाब में लाया गया। उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पति और बेटा पैरोल पर वहां पहुंचे। 

कासगंज हिंसा मामले में 118 लोग गिरफ्तार 
आपको बता दें कि इस घटना में अभी तक 118 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। साथ ही हिंसा के दौरान 5 एफआईआर में 37 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 88 लोगों को धारा 144 के उल्लंघन के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। 

कासगंज हिंसा का पूरा मामला  
तिरंगा यात्रा के दौरान हिंसा आपको बता दें कि विश्व हिंन्दू परिषद और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओ ने 26 जनवरी को बाइक से तिरंगा यात्रा निकाली थी, इस दौरान कुछ लोगों ने पथराव कर दिया, जिसके बाद हिंसा भड़क गई। हिंसा में चंदन गुप्ता नाम के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई, जबकि दो लोग घायल हो गए। घटना के बाद योगी सरकार ने इसकी जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था, जिसके बाद तमाम आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top