उत्तर प्रदेश

मायावती के बंगले में शिवपाल यादव की एंट्री, अखिलेश को कही ये बड़ी बात

मायावती के बंगले में शिवपाल यादव की एंट्री, अखिलेश को कही ये बड़ी बात

मायावती के बंगले में शिवपाल यादव की एंट्री, अखिलेश को कही ये बड़ी बात

Photo

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती जिस बंगले में रहती थी, अब वह शिवपाल यादव को मिल गया है.सपा से बगावत करके अलग हुए शिवपाल यादव ने अपने नए सरकारी बंगले में गृह प्रवेश कर लिया है। इससे पहले यह बंगला मायावती के पास था। शिवपाल यादव ने सपा से अलग होकर समाजवादी सेकुलर मोर्चा बनाया है। अपने नए घर में प्रवेश करते वक्त शिवपाल ने अपने भतीजे अखिलेश यादव पर जमकर हमला बोला है।  

 शिवपाल यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी को बनाने में और यहां तक लाने में अखिलेश यादव से कहीं ज्यादा योगदान मेरा है। हम हम ही समाजवादी पार्टी हैं और हम सेकुलर भी हैं। इसके अलावा उन्होंने अखिलेश पर गुस्सा दिखाते हुए कहा कि अखिलेश यादव को मुझे बीजेपी की बी टीम कहने का कोई अधिकार नहीं है. अभी जहां-जहां चुनाव हो रहे हैं वहां समाजवादी पार्टी की हैसियत क्या है पता चल जाएगा। 

आपको बता दें कि अखिलेश ने शिवपाल के इस गठन को बीजेपी की B टीम बताया था। शिवपाल ने कहा,' मैंने मुलायम सिंह यादव के आशीर्वाद से ही समाजवादी सेकुलर मोर्चा बना बनाया है. नेता जी का आशीर्वाद हमारे साथ हमेशा रहा है और आगे भी रहेगा। 
 
 इसके अलावा उन्होंने कहा  कि आगामी 2019 लोकसभा चुनाव में हमारी पार्टी की सहायता के बिना कोई भी पार्टी सत्ता में नहीं आ पाएगी। इसके अलावा 2022 में यूपी के विधानसभा चुनाव में हमारा असर साफ दिखेगा।

शिवपाल ने कहा कि बीजेपी  की सरकार ने मुझे यह सरकारी बंगला देकर कोई एहसान नहीं कर दिया है। एलआईयू की रिपोर्ट थी कि मेरे ऊपर खतरा था। मैं 5 बार विधायक बन चुका हूं औऱ सबसे सीनियर हूं। इससे पहले मुझे एक छोटा सा फ्लैट दे दिया गया था। यही वजह है कि मुझे यह बंगाला आवंटित किया गया है। उन्होंने कहा कि शासन ने तो हम से नीचे और कम अनुभव वाले लोगों को बड़े-बड़े बंगले दे रखे हैं इसलिए यह आरोप गलत है। 

शिवपाल ने कहा कि नवरात्र अच्छा वक्त होता है इसीलिए हम लोगों ने गृह प्रवेश के लिए यह दिन चुना है। ये घर होगा और यहीं पर पार्टी के लोगों से मिलूंगा। उन्होंने कहा, 'मैं सभी दूसरे दलों के ऐसे लोगों को जोड़ रहा हूं जो अपने दलों में उपेक्षित हैं। समाजवादी और गांधीवादी लोगों का एक गठजोड़ बनेगा।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top