होम प्रद्युम्न हत्याकांड - आरोपी अशोक ने कहा मैं निर्दोष हूँ, जुर्म कबूलने के ऑफर हुए थे 25 लाख

देश

प्रद्युम्न हत्याकांड - आरोपी अशोक ने कहा मैं निर्दोष हूँ, जुर्म कबूलने के ऑफर हुए थे 25 लाख

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को हुए प्रद्युम्न हत्याकांड ने नया मोड़ ले लिया है। हत्‍या के आरोप में गिरफ्तार किए गए कंडक्‍टर अशोक कुमार को पुलिस ने सोमवार को अदालत में पेश किया। इस दौरान उसने जज के सामने जो बयान दिया

प्रद्युम्न हत्याकांड - आरोपी अशोक ने कहा मैं निर्दोष हूँ, जुर्म कबूलने के ऑफर हुए थे 25 लाख

नई दिल्ली. गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को हुए प्रद्युम्न हत्याकांड ने नया मोड़ ले लिया है। हत्‍या के आरोप में गिरफ्तार किए गए कंडक्‍टर अशोक कुमार को पुलिस ने सोमवार को अदालत में पेश किया। इस दौरान उसने जज के सामने जो बयान दिया, उसे सुनकर हरियाणा पुलिस भी चकरा गई। हत्‍या के मामले में गिरफ्तारी के वक्‍त पूरे देश के मीडिया के सामने मासूम प्रद्युम्न की हत्‍या का गुनाह कबूल करने वाला अशोक कुमार सोमवार को कोर्ट में मुकर गया। आरोपी अशोक ने गुरुग्राम की स्थानीय अदालत में पेशी के दौरान कहा कि वह निर्दोष है, आरोपी अशोक के वकील ने कहा कि अदालत में दिया गया बयान ही मायने रखता है। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने अशोक कुमार को 29 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

अशोक के वकील ने बताया -

अदालत में पेशी के बाद आरोपी अशोक के वकील मीडिया से कहा कि पुलिस उसे फंसा रही है। वकील ने बताया कि अशोक ने उनको बताया था कि पुलिस ने उसे दो दिन के लिए चुप रहने को कहा था और फिर छोड़ देने का वादा किया था। कंडक्टर के कपड़ों पर खून के निशान बच्चे को गोद में उठाने के बाद लगे थे और उसके पास कोई चाकू नहीं था। वकील ने तो यहां तक दावा किया था कि अशोक को जुर्म कबूलने के लिए 25 लाख का ऑफर भी दिया गया।

रेयान स्‍कूल के अधिकारियों की जमानत खारिज करते हुए न्‍यायिक हिरासत में भेजा गया -

सोमवार को सुनवाई के दौरान अदालत ने अशोक को न्‍यायिक हिरासत में भेजने के साथ ही स्कूल के नॉर्थ जोन के प्रमुख फ्रांसिस थॉमस तथा HR प्रमुख जियूस थॉमस की जमानत याचिका भी खारिज कर दी। इन्हें भी अशोक के साथ 29 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। SIT ने इन पर स्कूल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम न करने के आरोप लगाए हैं।

वकील और आरोपी अशोक के बयानों में बड़ा अंतर कैसे -

सोमवार को आरोपी अशोक के वकील ने दावा किया कि उसके पास कोई चाकू नहीं था, जबकि अशोक ने पहले खुद चाकू होने की बात स्‍वीकार की थी। सबसे पहले उसने अपने बयान में कहा गया था कि उसने चाकू बस के टूल बॉक्‍स से निकाला था, लेकिन बाद में बस के ड्राइवर ने खुलासा किया कि टूल बॉक्‍स में कोई चाकू था ही नहीं। इसके बाद अशोक ने नया दावा करते हुए कहा कि चाकू उसने आगरा में एक दुकान से खरीदा था।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top