होम बेहतर सोच तो सफलता हर कदम

करियर

बेहतर सोच तो सफलता हर कदम

बेहतर सोच तो सफलता हर कदम

बेहतर सोच तो सफलता हर कदम

Photo

जिस तरह से रोज नएनए प्रोडक्ट मार्केट में लॉन्च हो रहे हैं, उन्हें स्थापित करने की जिम्मेदारी प्रोफेशनल एडवरटाइजर्स पर होती है। एडवरटाइजर्स प्रोडक्ट को स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 
      आज का दौर क्रिएटिविटी का है। मार्केटिंग और एडवरटाइजिंग में भी क्रिएटिविटी के जरिये ही आप किसी भी प्रोडक्ट को हिट करा सकते हैं। अगर आप में क्रिएटिविटी है तो आप एडवरटाइजिंग के फील्ड में अपना करियर बना सकते हैं। आज न्यूज पेपर्स, चैनल, मैगजीन्स, रेडियो, फिल्म- हर जगह एडवरटाइजमेंट छाया रहता है। पूरा मीडिया ही एडवरटाइजमेंट के सहारे चलता है और प्रोडक्ट भी मीडिया के भरोसे ही मार्केट में अपनी पकड़ बनाता है। जिस तरह से रोज नए-नए प्रोडक्ट मार्केट में आ रहे हैं, उन्हें स्थापित करने की जिम्मेदारी भी प्रोफेशनल एडवरटाइजर्स पर होती है। किसी प्रोडक्ट में लॉन्च करने में एक एडवरटाइजर्स महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एडवरटाइजिंग दो तरह से होती है, विजुअल या मौखिक। प्रोडक्ट की जरूरत के हिसाब से उसका एडवरटाइजमेंट किया जाता है। चुनौतीएडवरटाइजिंग के फील्ड में काफी चुनौतियां हैं। इसका पूरा भार कॉपी राइटर्स और आर्ट डायरेक्टर्स के कंधों पर होता है। कॉपी राइटर्स प्रोडक्ट की पंच लाइन लिखता है और आर्ट डायरेक्टर विजुअल पर काम करता है। कॉपी राइटर्स जो पंच लाइन लिखता है उससे प्रोडक्ट लोगों के दिलो-दिमाग पर छा जाता है। जैसे डियू (सॉफ्ट ड्रिंक) के विज्ञापन में -डर के आगे जीत है, अमूल का- द टेस्ट ऑफ इंडिया, सर्फ का- दाग अच्छे हैं, फ्रूटी का- फ्रेश एन जूसी, बजाज का हमारा बजाज आदि। इन पंच लाइंस के जरिये प्रोडक्ट हमेशा लोगों के दिलो-दिमाग में छाया रहता है। स्किलक्ष्स क्षेत्र में कार्य करने के लिए क्रिएटिव राइटिंग में माहिर होने के साथ-साथ किसी भी विचार को विजुअल रूप में सामने लाने की काबिलियत होनी चाहिए। इन लोगों को समाज के हर स्तर से आने वाले लोगों को ध्यान में रखना होता है। कुल मिलाकर एक प्रोफेशनल एडवरटाइजर द्वारा तैयार किए जाने वाला विज्ञापन इस तरह उभरकर सामने आना चाहिए कि यह ज्यादा से ज्यादा लोग प्रोडक्ट के प्रति आकर्षित हो सकें।कोर्सविज्ञापनध्मास कम्युनिकेशन में विशेष कोर्स के अलावा डिप्लोमा व ग्रेजुएशन स्तर तक के कोर्स मौजूद हैं। इस सभी के लिए न्यूनतम योग्यता ग्रेजुएशन है। इस फील्ड में इंट्री के लिए मिनिमम क्वालिफिकेशन इंटरमीडिएट है। रोजगार के अवसरविज्ञापन उद्योग में हर साल तकरीबन 15 से 20 प्रतिशत की दर से वृद्धि हो रही है। आने वाले समय में इस फील्ड में और ज्यादा ग्रोथ होने की उम्मीद है। अच्छे संस्थान से कोर्स करने वाले स्टूडेंट्स को प्राथमिकता अधिक दी जाती है। फ्रेशर्स के लिएअच्छे संस्थान कई बार मददगार साबित होते हैं। रोजगार के अवसर ज्यादातर निजी एडवरटाइजिंग एजेंसियों, सार्वजनिक या निजी क्षेत्र के विज्ञापन विभाग, समाचार पत्रों के विज्ञापन विभाग में, जर्नल्स, पत्रिकाओं, रेडियो या टीवी के वाणिज्य विभाग, मार्केटिंग रिसर्च संस्थाओं में या फिर फीलांसर के तौर पर मिल सकते हैं।कार्य का स्वरूपविज्ञापन उद्योग को दो भागों में विभाजित किया जा सकता है, एक एग्जिक्यूटिव और दूसरा क्रिएटिव। एग्जिक्यूटिव विभाग में क्लाइंट सर्विस, मार्केट रिसर्च और मीडिया रिसर्च शामिल हैं। जबकि क्रिएटिव श्रेणी में कॉपी राइटर, स्क्रिप्ट राइटर, विज्युलाइजर, फोटोग्राफर इत्यादि आते हैं। एग्जिक्यूटिव विभाग ग्राहक की जरूरत, बाजार का हालिया रुख, मीडिया के सही माध्यम का चुनाव, आर्थिक पहलू और विज्ञापन को बाजार में लाने के सही समय पर नजर रखता है। क्रिएटिव विभाग विज्ञापन तैयार करता है और विजुअल तौर पर ग्राहक की अपेक्षा को मद्देनजर रखता है। विज्ञापन की डिजाइन और संकल्पना इन्हीं के जिम्मे होती है।सैलरी जहां तक सैलरी की बात है, तो यह आपके कार्य और अनुभव के अनुसार निर्धारित होगा। फिर भी आप विज्ञापन उद्योग में बिल्कुल नए हैं,

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top