होम जनिये किन 4 बैंक खातों पर नहीं लगता एक भी रुपए न्यूनतम बैलेंस चार्ज

अर्थ व बाजार

जनिये किन 4 बैंक खातों पर नहीं लगता एक भी रुपए न्यूनतम बैलेंस चार्ज

आज के दौर में ज्यादातर बैंक किसी ग्राहक के खाते में न्यूनतम बैलेंस न रहने पर उससे चार्ज लेते हैं, लेकिन भारतीय स्टेट बैंक में चार ऐसे भी खाते खुलते हैं, जिनमें न्यूनतम बैलेंस न होने पर कोई चैंग नहीं लेते है।

जनिये किन 4 बैंक खातों पर नहीं लगता एक भी रुपए न्यूनतम बैलेंस चार्ज

नई दिल्ली : आज के दौर में ज्यादातर बैंक किसी ग्राहक के खाते में न्यूनतम बैलेंस न रहने पर उससे चार्ज लेते हैं, लेकिन भारतीय स्टेट बैंक में चार ऐसे भी खाते खुलते हैं, जिनमें न्यूनतम बैलेंस न होने पर कोई चैंग नहीं लेते है। आइए जानते हैं इन खातों के बारे में....

प्रधानमंत्री जन-धन खाता
अगर आप न्यूनतम बैलेंस के चक्कर से निजात पाना चाहते हैं तो प्रधानमंत्री जन-धन खाता खुलवा सकते हैं। इस खाते के तहत आप पर कोई न्यूनतम बैलेंस रखने की बाध्यता नहीं होती है। यह खाता प्रधानमंत्री की योजना के तहत खुलवाए जाते हैं, ताकि देश के हर नागरिक के पास अपना खाता हो सके। इसके खाता धारकों को 1 लाख रुपए का दुर्घटमा बीमा कवर भी मिलता है। वहीं 6 महीने पूरे होने के बाद ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी मिलती है।

बेसिक सेविंग्स बैंक खाता
अगर आपने भारतीय स्टेट बैंक में बेसिक सेविंग्स बैंक खाता (basic savings bank account) खाता खुलवाया है तो भी आप न्यूनतम बैलेंस की परेशानी से बच सकते हैं। इसमें न्यूनतम या फिर अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं होती है, लेकिन इस खाते के धारक किसी भी अन्य तरह का कोई भी खाता नहीं खोल सकते हैं। अगर इस तरह का कोई भी अन्य बचत खाता है तो उसे भी बेसिग सेविंग्स बैंक खाता खुलवाने के 30 दिन के अंदर बंद करवाना होगा।

छोटी बचत बैंक खाता
भारतीय स्टेट बैंक के छोटी बचत बैंक खाते (small savings bank account) में अधिकतम बैलेंस की सीमा 50 हजार रुपए है। बैंक की वेबसाइट के अनुसार इन खाताधारकों को एटीएम-कम-डेबिट कार्ड दिया जाता है, जिसके लिए उनसे कोई चार्ज भी नहीं लिया जाता है ना ही कोई वार्षिक मेंटेनेंस शुल्क देना होता है। इसके अलावा एक वित्त वर्ष में जमा कराई गई कुल राशि 1 लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए साथ ही कुल निकासी और ट्रांसफर की रकम भी 10 हजार रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए।

कॉरपोरेट सैलरी खाता
न्यूनतम बैलेंस से बचाने वाला एक खाता है कॉरपोरेट सैलरी खाता (corporate salary account), जिससे कर्मचारी और नियोक्ताओं को कई फायदे होते हैं। इस तरह के खाते से नियोक्ता को काफी कम कागजी कार्रवाई करनी होती है और वेतन प्रबंधन के खर्चे भी कम हो जाते हैं। बैंक की वेबसाइट के अनुसार ऐसे खाताधारकों को बैंक की अन्य सुविधाओं के साथ-साथ इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग की सुविधा मुफ्त मिलती है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

Facebook

To Top