मुद्दा

#MeToo इस मशहूर एंकर पर महिला पत्रकार ने लगाया यौन शोषण का आरोप

#MeToo इस मशहूर एंकर पर महिला पत्रकार ने लगाया यौन शोषण का आरोप

#MeToo इस मशहूर एंकर पर महिला पत्रकार ने लगाया यौन शोषण का आरोप

Photo

वर्कप्लेस पर महिलाओं के साथ यौन शोषण की घटनाओं के खिलाफ शुरू हुए मीटू मूवमेंट में अब फिल्म और मीडिया जगत की दिग्गज हस्तियों के नाम सामने आ रहे हैं। नाना पाटेकर, विवेक अग्निहोत्री, साजिद खान और एम.जे. अकबर के बाद अब एक बड़े पत्रकार पर यौन शोषण का आरोप सामने आया है। महिला पत्रकार विद्या कृष्णन ने इंडिया टुडे के एग्जीक्यूटिव एडिटर और न्यूज एंकर गौरव सावंत के ऊपर यौन शोषण का आरोप लगाया है। विद्या कृष्णन पिछले महीने तक समाचार पत्र "द हिंदू" में हेल्थ एडिटर के पद पर कार्यरत रही है।

पत्रकार का आरोप, एंकर ने गलत तरक से उसके वक्षस्थल को छुआ और अपना निजी अंग दिखाया -

द कारवां में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, विद्या कृष्णन ने आरोप लगाया है कि यह घटना साल 2003 की है और उस समय वो पायनियर समाचार-पत्र में काम करती थीं। विद्या कृष्णन ने कहा है कि एंकर ने गलत तरक से उसके वक्षस्थल को छुआ, उसे अपने साथ नहाने के लिए कहा और उसे अपना निजी अंग दिखाया। आपको बता दें कि विद्या कृष्णन एक मशहूर पत्रकार हैं और एक इंटरनेशनल रिपोर्टिंग प्रोजेक्ट पर भी काम कर चुकी हैं। वहीं, गौरव सावंत रक्षा मामलों की रिपोर्टिंग में एक जाना-माना नाम हैं। 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान भी गौरव सावंत ने रिपोर्टिंग की थी।

रिपोर्ट के अनुसार, विद्या कृष्णन ने अपने आरोपों में कहा है कि 21 साल की उम्र में पायनियर समाचार-पत्र में उनकी पहली नौकरी लगी थी। उन्हें एक आउट-ऑफ टाउन असाइनमेंट मिला था, जिसके तहत उन्हें पंजाब में एक मिलिट्री स्टेशन में भारतीय सेना की एक पीसटाइम ड्रिल को कवर करना था। गौरव सावंत भी उसे कवर करने के लिए गए थे। विद्या कृष्णन के मुताबिक उसी दौरान गौरव सावंत ने उनका यौन शोषण किया। कृष्णन ने बताया कि उन्होंने उस वक्त इस बारे में किसी को बताने के लिए खुद को सुरक्षित महसूस नहीं किया। उन्होंने इस बारे में पायनियर के मैनेजमेंट को भी कुछ नहीं बताया।

एंकर गौरव सावंत ने किया सभी आरोपों को खारिज -

विद्या कृष्णन के आरोपों पर गौरव सावंत ने ट्वीट कर बताया, "कारवां में छपी खबर गैर-जिम्मेदार, आधारहीन, और पूरी तरह से झूठी है। मैं अपने वकीलों से बात कर रहा हूं और इस मामले में पूरी कानूनी कार्रवाई करूंगा। मेरे समर्थन के लिए मैं अपने परिवार, दोस्तों और दर्शकों का आभारी हूं।" वहीं, इस मामले में इंडिया टुडे ग्रुप का कहना है, "यह खबर पढ़कर वो दुखी हैं। दुर्भाग्यवश, हम इस पर टिप्पणी करने या इस मामले की जांच करने की स्थिति में नहीं हैं क्योंकि 2003 में गौरव सावंत हमारे साथ कार्यरत नहीं थे। फिर भी, गौरव सावंत को स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया है। आरोपों को पूरी तरह से खारिज करने के अलावा, उन्होंने हमें सूचित किया है कि वह कानूनी कार्रवाई के लिए वकीलों से सलाह ले रहे हैं।"

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top