शिक्षा

सी.एम.एस. में 15 दिवसीय शैक्षिक प्रवास के उपरान्त पेरू का छात्रदल स्वदेश रवाना

 सी.एम.एस. में 15 दिवसीय शैक्षिक प्रवास के उपरान्त पेरू का छात्रदल स्वदेश रवाना

सी.एम.एस. में 15 दिवसीय शैक्षिक प्रवास के उपरान्त पेरू का छात्रदल स्वदेश रवाना

Photo

लखनऊ, 13 अक्टूबर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के आमन्त्रण पर शैक्षिक यात्रा पर पधारा फ्लेमिंग स्कूल, ट्रूजिलो, पेरू का 12-सदस्यीय छात्र दल लखनऊ में अपने 15 दिवसीय शैक्षिक प्रवास के उपरान्त आज स्वदेश रवाना हो गया। पेरू रवानगी से पूर्व इस छात्र दल को सी.एम.एस. के छात्रों व शिक्षकों ने अमौसी एअरपोर्ट पर शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी एवं सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती संगीता बनर्जी भी उपस्थित थीं।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि फ्लेमिंग स्कूल, पेरू का यह छात्र दल  इण्टरनेशनल स्कूल-टू-स्कूल एक्सपीरियन्स एक्सचेन्ज प्रोग्राम (आई.एस.एस.ई.) के अन्तर्गत शैक्षिक यात्रा पर लखनऊ पधारा था। इस दल के छात्र सदस्यों में गैबरीला कैस्टनेडा अर्स, डियगो डेल पिनोकासानोवस, फ्रेन्सिस्को गैमरा लीवा, मिकाला गैनोजा फेन्डास, गोन्जालो मार्सलेस रामोस, वैलेन्टिनो मोस्टसेरो रैमियोज, सैन्टिगो जपाटा राजोस, नतालिया गिलार्डी, ग्रैसियेला सैन्चर एवं रिकार्डो प्राडो शामिल हैं। इस छात्र दल के साथ दो शिक्षक श्री डेन्टे हेरारा एवं सुश्री जुडिथ पोर्टेला भी लखनऊ पधारे थे।

श्री शर्मा ने बताया कि स्वदेश रवानगी से पूर्व फ्लेमिंग स्कूल, पेरू के छात्रों ने एक अनौपचारिक वार्ता में कहा कि लखनऊ की यह यात्रा हमारे लिए यादगार अनुभव है। हमें यहाँ जो प्यार व अपनापन मिला है, उसे कभी भूल नहीं पायेंगे और अपने देश पहुँचकर हम भी सी.एम.एस. की विश्व एकता व विश्व शान्ति की मुहिम को आगे बढ़ायेंगे। छात्रों का कहना था कि भारत आना हम सभी के लिए एक सपना सच होने के समान है। यहाँ की शिक्षिकाओं ने हमें बहुत प्यार दिया है। सी.एम.एस. का सम्पूर्ण वातावरण वाकई में अद्भुद है। 

श्री शर्मा ने बताया कि इस शैक्षिक यात्रा के दौरान पेरू के छात्रों ने सी.एम.एस. गोमती नगर कैम्पस में भारतीय छात्रों के साथ क्लास में बैठकर पढ़ाई की, साथ ही खेलकूल व सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ ही विद्यालय की अन्य गतिविधियों में भी शामिल हुए। भाषा व संस्कृति की भिन्नता के बावजूद इन छोटे-छोटे बच्चों ने ‘विश्व संस्कृति’ का अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया।

श्री शर्मा ने बताया कि ‘अन्तर्राष्ट्रीय स्कूल-टू-स्कूल एक्सपीरियन्स एक्सचेन्ज प्रोग्राम (आई.एस.एस.ई.)’ ऐसा अनूठा अन्तर्राष्ट्रीय प्रोग्राम है जो विभिन्न देशों के छात्रों को आमने-सामने विचारों के आदान-प्रदान का अवसर उपलब्ध कराता है। आईएसएसई प्रोग्राम का उद्देश्य छात्रों को आपसी मित्रता का प्रशिक्षण देकर विश्व बन्धुत्व, विश्व एकता एवं विश्व शान्ति की भावना को विकसित करना है। इस प्रोग्राम के तहत विभिन्न देशों के बच्चे मेजबान परिवारों में रहकर एक-दूसरे की संस्कृति, सभ्यता, भाषा, खेलकूद, रहन-सहन, खान-पान, रीति-रिवाज आदि का ज्ञान प्राप्त करते हैं। सिटी मोन्टेसरी स्कूल देश-विदेश के छात्रों को इस प्रकार की शैक्षिक यात्राओं में भाग लेने के अधिक से अधिक अवसर प्रदान कराता है, जिसका उद्देश्य भावी पीढ़ी का सामान्य ज्ञान बढ़ाना, स्वस्थ मनोरंजन तथा विश्वव्यापी दृष्टिकोण विकसित करना है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top